Top

हाथापाई करते कांग्रेसी: कार्यालय में हुआ जमकर बवाल, झारखंड से आई ये बड़ी खबर

झारखंड में कांग्रेस पार्टी के अंदर जारी खींचतान और गुटबाजी खुलकर सामने आ गई है. हालत यहां तक पहुंच गई है कि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव की मौजूदगी में पार्टी नेता एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप करते नजर आये.

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 22 Feb 2021 11:52 AM GMT

हाथापाई करते कांग्रेसी: कार्यालय में हुआ जमकर बवाल, झारखंड से आई ये बड़ी खबर
X
झारखंड प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में भिड़े कांग्रेसी. प्रदेश अध्यक्ष के सामने हाथापाई की नौबत.
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रांची: झारखंड की सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस का कलह एक बार फिर सबके सामने आ गया है. पार्टी के अंदर जारी खींचतान और गुटबाजी खुलकर सामने आ गई है. हालत यहां तक पहुंच गई है कि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव की मौजूदगी में पार्टी नेता एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप करते नजर आये. पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर और दल के प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दुबे के बीच जमकर कहासुनी हुई। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष बेबस और लाचार नजर आए।

ये भी पढ़ें...लॉकडाउन की तैयारी: फिर कोरोना ने मचाया ऐसा हाहाकार, बंद किए गए स्कूल-कॉलेज

झारखंड कांग्रेस में गुटबाजी.

झारखंड कांग्रेस में गुटबाजी या कलह कोई नई बात नहीं है। कुछ वर्ष पहले भी पार्टी के प्रदेश कार्यालय में गोली तक चल चुकी है। वर्तमान में पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर, मानस सिन्हा, केशव महतो कमलेश और संजय पासवान एक तरफ नजर आते हैं तो दूसरी तरफ पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दुबे, किशोर शाहदेव और राजेश गुप्ता का अपना गुट नजर आता है।



आज जो हंगामा हुआ वो इन्हीं दो गुटों के बीच हुआ है। ऐसा नहीं है कि, पार्टी में और धड़ा नहीं है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव हालांकि इस बात से इत्तेफाक नहीं रखते हैं।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने मीडिया पर उठाए सवाल.

झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव से जब पार्टी के अंदर गुटबाजी और कलह को लेकर सवाल पूछे गए तो वे नाराज हो गए। प्रदेश कार्यालय में मीडिया कर्मियों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि, कार्यक्रम में मीडिया कर्मियों को आमंत्रित नहीं किया गया था। पार्टी बड़ी है।

Congress फोटो-सोशल मीडिया

लिहाजा कहासुनी हो सकती है लेकिन यह पूरी तरह से पार्टी का अंदरूनी मामला है। इसमें मीडिया को नहीं दखल देना चाहिए। उन्होंने कहा कि, पत्रकारों को अपनी आजादी का बेजा इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

ये भी पढ़ें...UP Budget किसान विरोधी: ऐसा क्यों कहा RLD ने, बजट को बताया विकासहीन

मंत्री आलमगीर आलम हुए नाराज.

कांग्रेस विधायक दल के नेता एवं कांग्रेस कोटे से हेमंत कैबिनेट में ग्रामीण विकास मंत्री बने आलमगीर आलम बेहद नाराज दिखे। पार्टी नेताओं के बीच कहासुनी को लेकर उन्होंने बीच बचाव के बजाय पीछे दरवाजे से निकलना ही बेहतर समझा।

हालांकि उन्होंने इस दौरान मीडिया कर्मियों से कोई भी बात नहीं की। आपको बता दें कि, पेट्रोलियम पदार्थों की बढ़ती कीमतों के को लेकर पार्टी ने बैठक बुलाई थी जिसमें आंदोलन की रूपरेखा तय की जानी थी। हालांकि उसमें पार्टी नेता ही आपस में भिड़ गए।

रांची से शाहनवाज की रिपोर्ट।

ये भी पढ़ें...यूपी बजट 2021: कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने की प्रेस कांफ्रेंस, देखें तस्वीरें

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story