Top

आज महिलाओं के जिम्मे रांची रेलवे स्टेशन, लोको पायलट से लेकर गार्ड का मिला रोल

रांची रेलवे स्टेशन में एक दिन के लिए बतौर स्टेशन मास्टर का ज़िम्मा संभालने वाली चांद कुमारी बेहद खुश हैं। कहती हैं कि, महिलाओं को आज के दिन विशेष सम्मान मिला है।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 8 March 2021 9:07 AM GMT

आज महिलाओं के जिम्मे रांची रेलवे स्टेशन, लोको पायलट से लेकर गार्ड का मिला रोल
X
महिला दिवस स्पेशल: महिलाओं के जिम्मे रांची रेलवे स्टेशन, लोको पायलट से लेकर गार्ड का मिला रोल (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रांची: अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर रांची रेलमंडल ने विशेष पहल की है। रांची रेलवे स्टेशन का पूरा ज़िम्मा महिलाओं को दिया गया है। स्टेशन मास्टर से लेकर टिकट काउंटर तक में महिलाओं की मौजूदगी देखी जा रही है। खासकर रांची से लोहरदगा जाने वाली ट्रेन का पूरा ज़िम्मा महिलाओं को दिया गया है। लोको पायलट से लेकर गार्ड तक में महिलाओं को ज़िम्मेदारी दी गई है। रेलमंडल के इस पहल से महिला कर्मचारियों में खुशी का माहौल है। आम मुसाफिर भी रेलवे की इस कोशिश की तारीफ कर रहे हैँ।

ये भी पढ़ें:महिला दिवस पर दीपिका सिंह को सलाम, बेटियों के लिए कर रहीं ये नेक काम

चांद कुमारी का निकला चांद

रांची रेलवे स्टेशन में एक दिन के लिए बतौर स्टेशन मास्टर का ज़िम्मा संभालने वाली चांद कुमारी बेहद खुश हैं। कहती हैं कि, महिलाओं को आज के दिन विशेष सम्मान मिला है। वैसे तो महिला कर्मचारियों को हर दिन प्रोत्साहन मिलता है लेकिन वुमेंस डे पर उनके लिए खास है। चांद कुमारी की मानें तो महिलाएं किसी भी ज़िम्मेदारी को उठाने से पीछे नहीं हटती हैं बशर्ते उनपर भरोसा कर उन्हे काम करने का मौका दिया जाए।

देखें वीडियो...

लोको पायलट की ज़ुबानी

रांची से लोहरदगा जाने वाली ट्रेन में बतौर लोको पायलट का ज़िम्मा दीपाली आप्टे को दिया गया है। रांची स्टेशन पर मीडिया कर्मियों से बात करते हुए उन्होने कहा कि, रांची रेलमंडल ने महिला सश्क्तिकरण का उदाहरण पेश किया है। महिलाएं सभी काम करने में सक्षम हैं। लिहाज़ा, उनपर विश्वास कर उन्हे प्रोत्साहित करने की आवश्यक्ता है। एक अन्य महिला कर्मचारी रिशु प्रिया ने कहा कि, आज का दिन उनके लिए किसी त्योहार से कम नहीं है।

ये भी पढ़ें:महिला दिवस पर रायबरेली में भयानक कांड, पति की हैवानियत से कांपे लोग

रांची रेलमंडल की पहल

रांची रेलमंडल के सीपीआरओ नीरज कुमार ने कहा कि, डीआरएम नीरज अंबष्ठ के आदेश से महिलाओं को आज के दिन ज़िम्मा दिया गया है। न सिर्फ रांची रेलवे स्टेशन बल्कि महत्वपूर्ण पाइंट में भी महिलाओं को ज़िम्मेदारी सौंपी गई है। रांची लोहरदगा ट्रेन को पूरी तरह से महिलाओं को सौंप दिया गया है।

रिपोर्ट- शाहनवाज़

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story