ऐसे बढ़ाएं हाईट: बच्चों के लिए ये तरकीब असरदार, लंबाई मन मुताबिक़

आज-कल का खान-पान ऐसा हो गया है कि बच्चों को सही पोषण नहीं मिल पा रहा है। जिस वजह से उनकी ग्रोथ में काफी दिक्कतें आ रही है। ऐसे में हर कोई चाहता है कि उनके बच्चे की हेल्थ और ग्रोथ अच्छी हो।

लखनऊ: आज-कल का खान-पान ऐसा हो गया है कि बच्चों को सही पोषण नहीं मिल पा रहा है। जिस वजह से उनकी ग्रोथ में काफी दिक्कतें आ रही है। ऐसे में हर कोई चाहता है कि उनके बच्चे की हेल्थ और ग्रोथ अच्छी हो। हम आपको इजी तरीका बताते हैं, जिससे आपके बच्चे की हाइट अच्छी होगी। योग की हेल्प से हर तरह की बीमारी को ठीक किया जा सकता है।

लंबाई न बढ़ना एक नोर्मल प्रॉब्लम है

शारीरिक गतिविधियों और खेल कूद से दूर होते बच्चों की समय पर लंबाई न बढ़ना एक नोर्मल प्रॉब्लम है। दिनभर मोबाइल ज्यादा यूज़ करने से बच्चों की खेलने में रुचि भी कम हो गई है। लेकिन जब बच्चा 10 साल का हो जाता है तो उसका शारीरिक विकास ठीक तरह से नहीं हो रहा है। तो योग आपके बच्चे की लंबाई बढ़ने में मदद कर सकता है। आइए आपको कुछ ऐसे योग की मुद्राएं के बारे में बताते हैं जो बच्चे के लिए फायदेमंद होगा।

ये भी पढ़ें:Live: योगी कैबिनेट ने दी 5 लाख करोड़ से ज्यादा के बजट को मंजूरी, जानें क्या है ख़ास

भुजंगासन

अगर बच्चों की लंबाई नहीं बढ़ रही है तो भुजंगासन इसमें मदद कर सकता है। इस योग को करने के लिए किसी समतल स्थान पर मुंह को नीचे की तरफ करके पेट के बल लेट जाएं। शरीर के सभी पार्ट्स को ढीला छोड़ दें। फिर पैर के पंजों को बाहर की ओर खींचें। दोनों पैरों को मिलाकर रखें। दोनों हाथों की हथेलियों को सीने के बराबर पीछे लाते हुए इस तरह से रखें कि कोहनियां जमीन पर टिक जाएं।

उसके बाद कोहनियों को धीरे-धीरे उठाएं। साथ ही सांस भरते हुए गर्दन आगे की ओर तानकर सीने को धीरे-धीरे ऊपर उठाएं। धड़ को ऊपर उठाते हुए कोहनियों को खोलते जाएं। धड़ को नाभि तक ऊपर उठा दें। गर्दन व सीने को अधिक से अधिक उठाने का प्रयास करें। कुछ देर तक इसी स्थिति में रहें। फिर सांस छोड़ते हुए वापस आ जाएं और सभी पार्ट्स को ढीला छोड़ दें।

ये भी पढ़ें:नहीं बन सकता राम मंदिर! अब आई ये नई मुसीबत, कैसे होगा भव्य मंदिर निर्माण

मेरुदंडासन

मेरुदंडासन बच्चों की लंबाई बढ़ाने के लिए बहुत लाभकारी है। इसको करने के लिए दोनो पैरों को मिलाते हुए सीधे तनकर खड़े हो जाएं। सांस भरते हुए दोनों हाथों को सीधे ऊपर ले जाएं। आपके दोनों हाथ कान से सटे हुए होने चाहिए। दोनों हाथों को सीध में रखते हुए कमर से ऊपर का भाग दांई ओर झुकाएं।

थोड़ा रुककर सांस छोड़ते हुए फिर से पहले वाली स्थिति में आ जाएं। एक बार फिर सांस भरकर यहीं क्रम बांई ओर दोहराएं। दोनों हाथों को पहले की तरह ही सीधे रखते हुए पहले सामने और फिर पीछे की ओर झुकें। इस प्रकार चारों ओर झुकते हुए पूरा एक चक्कर लगाएं।

मेरुदंडासन के लाभ

मेरुदंडासन को करने से रीढ़ की हड्डी में लचीलापन आता है जिसकी वजह से लंबाई भी बढ़ती है।