Brain Cancer: ये चीजें खाते हैं तो हो जाएं सावधान, हो सकता है ब्रेन कैंसर

इंटरनेशनल जनरल ऑफ कैंसर में प्रकाशित इस रिपोर्ट के मुताबिक यह परजीवी दिमाग में एक अल्सर के रूप में हो सकते हैं। इसके साथ यह परजीवी इन्फ्लेक्शन के लिए भी जिम्मेदार हो सकते हैं।

brain cancer

Brain Cancer: ये चीजें खाते हैं तो हो जाएं सावधान, हो सकता है ब्रेन कैंसर photos (social media)

नई दिल्ली : हमारे जीवन में दूषित पानी और अधपके मांस को खाने से कई बड़ी बीमारी दस्तक दे सकती है। सोमवार को एक शोधकर्ता की रिपोर्ट के मुताबिक यह पता चला कि दूषित पानी और अधपके मांस में एक प्रकार का परजीवी होता है जो लोगों में ब्रेन कैंसर का खतरा पैदा कर सकता है। शोधकर्ताओं को एक ऐसे साक्ष्य मिले हैं जिसमें टोक्सोप्लाज्मा गोंडी या टी गोंडी परजीवी से संक्रमित लोगों में एक प्रकार का ट्यूमर विकसित होने का खतरा ज्यादा होता है। रिपोर्ट के मुताबिक 20 से 50 फीसदी आबादी इस परजीवी से संक्रमित हो चुकी हैं।

यह परजीवी दिमाग में अल्सर की तरह हो सकते हैं

इंटरनेशनल जनरल ऑफ कैंसर में प्रकाशित इस रिपोर्ट के मुताबिक यह परजीवी दिमाग में एक अल्सर के रूप में हो सकते हैं। इसके साथ यह परजीवी इन्फ्लेक्शन के लिए भी जिम्मेदार हो सकते हैं। अमेरिकन कैंसर रिसर्च इंस्टीटूट ने ब्लड सैम्पल में टी गोंडी परजीवी के एंटीबॉडीज और ट्यूमर के जोखिम के बीच इस संबंध की जांच की। आपको बता दें कि इस प्रक्रिया के लिए इन्हें दो समूह में बांटा।

इन लोगों को इस शोध में किया शामिल

अमेरिका ने इस स्टडी के लिए न्यूट्रिशन कोहॉर्ट में पंजीकृत हुए 111 लोगों और नॉविजन कैंसर रजिस्ट्री’ में पंजीकृत 646 लोगों को शामिल किया गया था। शोधकर्ताओं ने बताया कि ग्लायोमा का खतरा उन लोगों में ज्यादा देखा गया जिनमें टी गोंडी एंटीबॉडीज का स्तर ज्यादा था। शोधकर्ताओं ने कहा कि इस स्टडी के निष्कर्ष टी गोंडी इन्फ्लेक्शन और ग्लायोमा के जोखिम के बीच संभावित प्रमाण है। जिसकी पुष्टि किसी स्वतंत्र शोध जनि चाहिए।

ये भी पढ़ें: हेल्दी फूड्स की ये डाइटः बीमारियों से रहेंगे कोसों दूर, डाॅक्टर की कभी नहीं पड़ेगी जरुरत

brain strok

इन लोगों में हो सकता है ब्रेन कैंसर का खतरा

शोधकर्ता ने कहा कि यह स्टडी यह दर्शाती है जिन लोगों में टी गोंडी परजीवी के संक्रमण का खतरा ज्यादा रहता है। उन लोगों में ही ग्लायोमा के विकसित होने की संभावना ज्यादा रहती है। इस स्टडी को और बड़े पैमाने पर कराने की जरुरत है।

ये भी पढ़ें: Makar Sankranti और पतंग: यहां जानें क्या हैं धार्मिक मान्यता, इनका रखें ख्याल

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App