×

छोटे बच्चों के लिए फायदेमंद है जन्म घुट्टी, नहीं होतीं ये बीमारियां, ऐसे बनाएं घर पर

जन्म घुट्टी को बाल घुट्टी भी कहा जाता है। ये एक पारंपरिक भारतीय आयुर्वेदिक काढ़ा है जिसे मां के दूध या पानी में मिला कर छोटे बच्चों को पिलाया जाता है। जन्म घुट्टी में जड़ी-बूटियों का इस्तेमाल किया जाता है जिसमें औषधीय गुण होते है।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 23 Dec 2020 2:16 PM GMT

छोटे बच्चों के लिए फायदेमंद है जन्म घुट्टी, नहीं होतीं ये बीमारियां, ऐसे बनाएं घर पर
X
छोटे बच्चों के लिए घर पर बनाएं जन्मस घुट्टी
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

जन्म घुट्टी को बाल घुट्टी भी कहा जाता है। ये एक पारंपरिक भारतीय आयुर्वेदिक काढ़ा है जिसे मां के दूध या पानी में मिला कर छोटे बच्चों को पिलाया जाता है। जन्म घुट्टी में जड़ी-बूटियों का इस्तेमाल किया जाता है जिसमें औषधीय गुण होते है। इससे छोटे बच्चों में गैस, कब्ज और अपच की परेशानी नहीं होती। इतने छोटे बच्चों को दवा नहीं दी जा सकती इस लिए इन्हें घरेलू नुस्‍खे वाला जन्म घुट्टी दिया जाता है।

आज हम आपको घर पर ही बच्‍चों के लिए जन्‍म घुट्टी बनाने के तरीके के बारे में बताने वाले हैं। जिससे छोटे बच्चों में अगर कब्‍ज, गैस और पेट की अन्‍य समस्‍याओं एवं सर्दी-जुकाम जैसी परेशानी हो तो वो जल्द दूर हो जाएगी। इस असरदार जन्‍म घुट्टी को बनाने के लिए आपको दो से तीन जायफल, आधा भिगोना कच्‍चा दूध, गुनगुना पानी लेना होगा।

ऐसे बनाएं जन्‍म घुट्टी

सबसे पहले गैस पर एक मध्‍यम आकार का भिगोना रखें। अब इसमें इतना दूध डालें कि भिगोना आधा भर जाए। फिर कच्‍चे दूध में जायफल डालें। आपको जायफल के साथ ही दूध को उबालना है।

बनाने का तरीका

अब आगे दूध उबलने के बाद इसे ठंडा होने दें।इसके बाद ठंडा होने पर इस दूध की दही जमा दें। जब दही जम जाए तो उसमें से जायफल निकाल लें। जायफल को घिसें और घिसते समय एक या दो बूंद गुनगुना पानी उसमें डालें। इसके बाद घिसे हुए पदार्थ को बच्‍चे को चटाएं।

ये भी पढ़ें : कोरोना वायरस की नई किस्म से सावधान, है बहुत खतरनाक

​जायफल के लाभ

आपको बता दें, कि शिशु में पाचन तंत्र बहुत कमजोर होता है, इसलिए उन्‍हें आसानी से अपच हो जाती है। ठोस आहार शुरू करने पर बच्‍चे का पाचन तंत्र ठीक तरह से उसे पचा नहीं पाता जिसके चलते उन्हें अक्सर पेट दर्द, गैस और दस्त की समस्या आती है। ऐसे में बच्चों को जायफल दी जा सकती है।

ये भी पढ़ें : वायरस में 17 बार बदलाव: खतरा बढ़ा, बदलते कोरोना पर वैक्सीन कितनी असरदार

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Monika

Monika

Next Story