अगर आप भी सोते हैं इतनी देर, तो हो सकती है आपको ये गंभीर बीमारी

सोना हर किसी को पसंद होता है, लेकिन अगर आप ज्यादा सोते है तो ये आपकी सेहत के लिए अच्छा नहीं है। आज-कल की भाग-दौड़ भरी लाइफ में लोगों को नींद बहुत मुश्किल से मिलती है।

लखनऊ: सोना हर किसी को पसंद होता है, लेकिन अगर आप ज्यादा सोते है तो ये आपकी सेहत के लिए अच्छा नहीं है। आज-कल की भाग-दौड़ भरी लाइफ में लोगों को नींद बहुत मुश्किल से मिलती है। लेकिन जो लोग हर रात 9 घंटे या उससे ज्यादा समय सोते हैं उनमें स्ट्रोक होने का खतरा आठ घंटे से कम सोने वालों की तुलना में 23 फीसदी ज्यादा होता है। एक रिसर्च में अभी इसका खुलासा हुआ है। रिसर्च के मुताबिक सुबह देर तक सोना आपके स्वास्थ्य के लिए गलत साबित हो सकता है। जो लोग दोपहर में 90 मिनट से ज्यादा सोते हैं, उनमें स्ट्रोक का खतरा दोपहर में 30 मिनट से कम सोने वालों की तुलना 25 फीसदी ज्यादा होता है।

ये भी देखें:Bajrangi Bhaijaan और Dangal जैसी फिल्मों के Casting Director Mukesh Chhabra पहुंचे Lucknow

मेमोरी और भाषा कौशल में गिरावट

एक मैगजीन में प्रकाशित रिसर्च में ऐसा दावा किया गया है। नए रिसर्च में दावा किया गया है कि ज्यादा देर तक आंख बंद रहने या ज्यादा नींद लेने से मेमोरी पर बुरा असर पड़ता है। रिसर्च के दौरान वैज्ञानिकों ने पाया कि जो व्यक्ति 9 घंटे या उससे ज्यादा नींद लेते हैं उनकी मेमोरी और भाषा कौशल में महत्वपूर्ण गिरावट देखी जा सकती है। रिसर्च के बाद वैज्ञानिकों ने दावा किया कि सात या आठ घंटे की नींद लेना सबसे बेहतर है और इससे इन खतरों को टाला जा सकता है। लेकिन उनका कहना था कि यदि व्यक्ति के मस्तिष्क में किसी प्रकार का व्यावधान या बीमारी हो, तो उसे नींद ज्यादा आती है।

ये भी देखें:इस खास स्टीमर में बैठकर पीएम मोदी करेंगे गंगा की अविरलता का परीक्षण

दिमाग में रक्त प्रवाह प्रभावित

रिसर्चर्स ने प्रतिभागियों के ध्यान, मेमोरी, भाषा के साथ-साथ मस्तिष्क स्वास्थ्य और उसमें होने वाले बदलावों का निरीक्षण किया। वैज्ञानिकों के मुताबिक, ज्यादा सोने से दिमाग में जख्म हो जाता है, जिसे व्हाइट मैटर हाइपर इंटेंसिटी भी कहा जाता है। इन जख्मों की वजह से दिमाग में खून प्रवाह भी प्रभावित होता है। MRI में दिखाई देने वाले ये सफेद धब्बे अवसाद और स्ट्रोक के खतरे को बढ़ाते हैं।