मर्द हो तो जान लो! शादीशुदा महिलाएं ऐसे लड़कों से ही करती हैं प्यार

हिन्दू धर्म में शादियां बहुत से रीति-रिवाजों के साथ-साथ धूमधाम से की जाती है। शादी को रीति-रिवाजों से करने पीछे का कारण हैं रिश्ते की पवित्रता। जब दो लोग किसी बंधन में बंधते हैं तो गांठ सिर्फ दो लोगों के बीच नहीं बंधती, बल्कि उन दो लोगों से जुड़ें प्रत्येक प्राणी भी उनसे जुड़ जाते है।

Published by Vidushi Mishra Published: July 21, 2019 | 2:21 pm

married women

लखनऊ : हिन्दू धर्म में शादियां बहुत से रीति-रिवाजों के साथ-साथ धूमधाम से की जाती है। शादी को रीति-रिवाजों से करने पीछे का कारण हैं रिश्ते की पवित्रता। जब दो लोग किसी बंधन में बंधते हैं तो गांठ सिर्फ दो लोगों के बीच नहीं बंधती, बल्कि उन दो लोगों से जुड़ें प्रत्येक प्राणी भी उनसे जुड़ जाते है।

यह भी देखें… इन 5 एक्ट्रेस ने की प्रोड्यूसर से शादी, कोई पहली तो कोई बनी दूसरी बीवी

शादी एक पवित्र रिश्ता

शादी का यह बन्धन जीवनभर भरोसे और रिश्तों की मिठास पर टिका होता है। लेकिन बहुत बार या यह भी कह सकते हैं कि आज कल जहां पहले शादी के बाद पुरूषों के बेवफाह होने की खबरें आती थी, लेकिन अब पुरूषों के साथ महिलाएं भी अपने पार्टनर को धोखा दे रही हैं ऐसी खबरें भी आ रही हैं।

Hindu Marriage

यह भी देखें… इंटरनेट पर प्रियंका और पति के लीक हुए ऐसे सीन, मची भसड़

पति के होते दूसरे बन रहें पत्नी का सहारा

शादी के बाद उनका लव-मैटर पति के अलावा किसी और लड़के या मर्द से चलने लगता है। जब भी शादीशुदा महिला की किसी अन्य मर्द के साथ चक्कर चलने की बात सामने आती है तो महिलाओं की इस हरकत की जिम्मेदार वे अकेले नहीं होती, उनके पतियों की भी गलती होती हैं, जिसके चलते पति अपनी पत्नियों को खुश नहीं रख पाते और उन्हें दूसरें का साथ लेना पड़ता है।

महिलाओं को ऐसा करने के पीछे कई सारे कारण हैं जो हम बताने जा रहे हैं…

पहला कारण

1. पहला कारण तो ये है कि शादी के पहले से लड़कियां अपने होने वाले पति के लिए बहुत से सपनें बुनने लगती हैं। लेकिन उनके इन सपनों पर पानी तब पड़ता हैं जब शादी के बाद उनके पति उन्हें वे सभी सुख नहीं पाते, जिसकी उन महिलाओं को चाह होती है। और इसी चाह की तलाश में वे दूसरें लड़कों को अपना साथी बनाती हैं।

दूसरा कारण

2. दूसरी बात रही कि शादी के लिए कुछ लोगों को हरी-भरी, अनुभव वाली लड़कियां पसंद होती हैं, पर उनकी शादी जब ऐसी लड़कियों से नहीं होती तो इसमें बेचारी लड़कियां परेशान रहती हैं। पति के लिए सब कुछ करने के बाद भी खुश नही रह पाती, पति इन्हें खास तवज्जों नहीं देतें तो महिलाओं को ऐसे लड़कों की जरुरत होती हैं जो उनके दुख-दर्द को सुन सकें।

शादियां

यह भी देखें… 21 जुलाई:रविवार को लेंगे छुट्टी का मजा या होगा कुछ और, बताएगा राशिफल व पंचांग

तीसरा कारण

3. तीसरी बात ये है कि कुछ महिलाएं ससुराल में तो बहुत खुश रहती हैं लेकिन असल दिक्कत उनके पति में होती है, जो पत्नियों को शारीरिक सुख नहीं दे पाते हैं। इस समस्या से परेशान महिलाएं दूसरी राह पर चल पड़ती हैं।

शादियां

चौथा कारण

4.चौथी बात ये है कि जिन महिलाओं के पति अपने काम में बिजी रहते हैं और अपनी पत्नियों को टाइम नहीं दे पाते, जिससें उनकी पत्नियां दिनभर फ्री रहती हैं। तो यह पर भी महिलाएं पति की गैर-हाजिरी को और बोरियत को खत्म करने के लिए उन लड़कों का सहारा लेते हैं जो दिनभर फ्री रहते हैं और उनको टाइम दे सकते हैं।

-boyfriend

पाचवां कारण

5.पाचंवी बात ये है कि जैसे-जैसे महिलाओं की उम्र बढ़ती हैं वैसे-वैसे उनकी शारीरिक क्षमता परवान चढ़ने लगती है। जिसके चलते उन्हें जोशीले और शक्तिवर्धक लड़के पसन्द आने लगते हैं। ऐसे लड़के जो कम उम्र के होते हैं और जोश से भरे होते हैं।

love-affair

छठा कारण

6.छठी बात ये है कि महिलाएं कभी-कभी ऐसे कट्टरपंथी लोगों के साथ बंध जाती हैं जिससे वे अपने मन की बात भी खुलकर नही कर सकती। उनके पति ऐसे होते हैं जो उन्हे सिर्फ पैरों की जूती समझते हैं। ऐसे पति जो उनके दर्द को कम करना तो दूर सुनना भी पसन्द नहीं करते। फिर पत्नियां साथ लेती हैं उन लड़कों के जो उनके दर्द को कम कर सकते हैं और समझते हैं।

यह भी देखें…  यूपी: पीसीएस-जे-2018 का परिणाम घोषित, गोंडा की आकांक्षा तिवारी ने किया टॉप

महिलाओं की इन समस्यों को कुंवारें लड़के समझ तो लेते हैं लेकिन साथ इस तरह की कहानियों में तीन लोगों की जिंदगियां दांव पर लग जाती हैं। और अगर महिला के बच्चे हैं तब तो बच्चे की परवरिश पर भी बुरा असर पड़ता हैं।

ऐसे में शादीशुदा दंपत्तियों को ईमानदारी से एक-दूसरें को समझते हुए, ध्यान रखते हुए शादी के पवित्र रिश्ते को निभाना चाहिए। जबकि महिलाओं की इन समस्यों की जिम्मेदार अकेले वह स्वंय नहीं होती, उनके पति भी बराबरी से जिम्मेदार होते हैं।

 

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App