बहुत जरूरी ये विटामिन! अगर खाने में नहीं लेते तो हो सकती है ये गंभीर बीमारी

शरीर को हेल्दी रखने के लिए कई तरह के पोषक तत्वों की जरुरत होती है। अगर शरीर में जरुरी पोषक तत्व न हो तो शरीर में कमजोरी और सुस्ती आ सकती है। जरुरी विटामिन और प्रोटीन के अभाव में शरीर को कई तरह की बीमारियां भी हो सकती हैं।

Published by Shreya Published: November 28, 2019 | 12:10 pm

शरीर को हेल्दी रखने के लिए कई तरह के पोषक तत्वों की जरुरत होती है। अगर शरीर में जरुरी पोषक तत्व न हो तो शरीर में कमजोरी और सुस्ती आ सकती है। जरुरी विटामिन और प्रोटीन के अभाव में शरीर को कई तरह की बीमारियां भी हो सकती हैं। साथ ही इससे आपके शरीर के आतंरिक और बाहरी अंग भी प्रभावित हो सकते हैं। आज हम आपको बताने वाले हैं कि, कैसे शरीर में विटामिन ए की कमी से आखों को नुकसान पहुंच सकता है।

‘विटामिन ए’ की कमी से हो सकता है अंधापन

कुछ शोधों में ये पाया गया है कि, विटामिन ए की कमी से अंधापन हो सकता है। शोध के मुताबिक, आंखों को आपके रेटिना के ठीक से काम करने के लिए कुछ पिगमेंट्स का उत्पादन करने की आवश्यकता होती है और विटामिन ए की कमी होने से इन पिगमेंट्स के उत्पादन में रुकावट पड़ती है। जिससे रतौंधी जैसी समस्या हो सकती है।

ये भी पढ़ें: गोडसे को देशभक्त बताने पर प्रज्ञा को मिली ये बड़ी सजा, पार्टी से निकाल सकती है BJP

रोडोप्सिन ( rhodopsin ) के निर्माण के लिए, शरीर में विटामिन ए की जरूरत होती है। रोडोप्सिन आंखों के लिए ऐसा जरुरी प्रोटीन होता है, जिससे रेटिना के रिसेप्टर में रोशनी को समाहित करने की शक्ति आती है। रोडोप्सिन बेहद हल्का और संवेदनशील होता है। विटामिन ए की कमी होने से आंखों को चिकनाई देने के लिए आवश्यक नमी का उत्पादन सीमित हो जाता है। तो ऐसे लोग जिनके शरीर में पर्याप्त मात्रा में विटामिन ए शामिल नहीं होता है, उन्हें अंधापन हो सकता है।

ये भी पढ़ें: डीएचएफएल मामले को लेकर ये क्या कह दिया सीटू ने?

शरीर में विटामिन ए की कमी बढती उम्र के साथ मैकुलर डीजनरेशन की समस्या को जन्म देता है, जो अंधेपन का प्रमुख कारण है। शोधों में पाया गया है कि, दुनियाभर में, बच्चों में अंधेपन का प्रमुख कारण विटामिन ए की कमी है। विटामिन ए की कमी से प्रेग्नेंट महिलाओं में रतौंधी की समस्या हो जाती है, जिससे मातृ मृत्यु दर में बढ़ोतरी हो सकती है। शोध के मुताबिक, विटामिन ए की कमी से हर साल लगभग 25 से 50 हजार बच्चे अंधे हो जाते हैं। इनमें से आधे से अधिक बच्चे अंधे होने के एक साल के भीतर मर जाते हैं।

‘विटामिन ए’ से भरपूर खाद्य पदार्थ का करें सेवन

शोधकर्ता ये सुझाव देते हैं कि, खाने में ऐसे खाद्य पदार्थ का सेवन करना चाहिए जो विटामिन ए से भरपूर होते हैं। साथ ही ये आपकी आंखों को बीमारियों और रेटिना को सेलुलर क्षति से बचाने में मदद करते हैं।

ये भी पढ़ें: बीजेपी ने करी घोषणा: देखें 59 जिला-महानगर अध्यक्षों की लिस्ट, इनको मिला मौका

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App