गर्मी में मटके का पानी बना अमृत है कई रोगों का निवारक

रोज मटके का पानी पीने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी पॉवर) मजबूत होती है। जानिए इसके चमत्कारी फायदे…

नई दिल्ली: गर्मी के दिन में प्यास बुझाने के लिए लोग ठंडा पानी पीते हैं। पानी ठंडा करने के लिए ज्यादातर लोग फ्रिज का इस्तेमाल करते हैं लेकिन कुछ लोग जो अपने शहर से दूर किराए पर कमरा लेकर रहते हैं या जो फ्रिज खरीदना अफोर्ड नहीं कर सकते उनके लिए तो मिट्टी का बना मटका ही देसी फ्रिज का काम करता है।

मटके से सोंधी महक के पानी के कहने ही क्या हैं? इस पानी में जहां काफी स्वाद होता है वहीं स्वास्थ्य के लिहाज से भी यह बेहद अच्छा माना जाता है। आइए जानते हैं मटके के पानी के फायदे:

यह भी देखें: अंग्रेजी कानून को तोड़ने वाला गुजराती नमक आज विश्वभर में कर रहा कमाल

मटके के पानी में अलकलाइन गुण होते हैं जिससे इसका PH बैलेंस रहता है और यह पानी सेहत के लिहाज से भी काफी बेहतर होता है।

मटके का पानी पीने से टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन जिसे कि मेल हार्मोन भी कहा जाता है का स्तर बढ़ता है।

मटके का पानी पीने से पेट में जलन, कब्ज और एसिडिटी की समस्या भी नहीं होती है।

यह भी देखें: सॉफ्ट हिंदुत्व की राजनीति में उतरे वरुण गांधी, जानें चुनाव प्रचार में क्या कहा

रोज मटके का पानी पीने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी पॉवर) मजबूत होती है।

ऐसे करें मटके की देखभाल:

हर सप्ताह में दो बार मटका गर्म पानी से साफ करें। मटके की सफाई के बाद इसमें फ्रेश पानी भरें।

मटके को एक स्टैंड कर रखें ताकि ये बहुत ज्यादा हिले नहीं।

किसी सफेद कॉटन के कपड़े को गीला कर मटके का मुंह बांध कर रखें। ताकि इसमें मिट्टी के कण प्रवेश न कर सकें। हो सके तो इसे ढंकने के लिए मिट्टी के ढक्कन का इस्तेमाल करें।