भतीजे ने सिर्फ इसलिए गोली मारकर कर दी चाचा की हत्या, इलाके में फैली सनसनी

शनिवार की सुबह भी सभी लोग मुश्ताक के घर ही बैठे हुए थे। अचानक शाहिद और जुगनू के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी होने लगी। इसी बीच जुगनू ने असलहा निकाल कर शाहिद की कनपटी पर गोली मार दी।

Published by Ashiki Patel Published: November 21, 2020 | 8:46 pm
varansi police

भतीजे ने सिर्फ इसलिए गोली मारकर कर दी चाचा की हत्या, इलाके में फैली सनसनी

वाराणसी: अभी दो दिन पहले यानी उन्नीस तारीख़ को शहर के पुलिस कप्तान वायरलेस सेट पर अपने मातहतों को एलर्ट रहने की ताकीद करते हुए अपराध पर लगाम लगाने की बात करते हैं। इतना ही नहीं बल्कि एसएसपी महोदय ने तो लापरवाही की स्थिति में दण्डात्मक कार्रवाई के लिए भी तैयार रहने की बात कही। लेकिन इसे वक़्त का तक़ाज़ा कहें या अपराधियों की हौसला बुलंदी जो इतनी सख़्ती के बावजूद अपने खतरनाक मंसूबों में कामयाब हो ही जा रहे हैं। ताज़ा वाकया कैंट थाने के अंतर्गत आने वाले छोटा लालपुर मस्जिद एरिया का है जहां पर एक भतीजे ने अपने ही चाचा की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी।

ये भी पढ़ें: LDA में बड़ी छापामार कार्रवाई: गेट बंद कर हुई जांच, हिरासत में सात कर्मचारी

बेख़ौफ़ बदमाश दे रहे हैं पुलिसिया इक़बाल को खुली चुनौती

वाराणसी शहर में स्थिति लगातार भयावह होती जा रही है। शहर में हत्याओं का अंतहीन सिलसिला बदस्तूर जारी है। हौसला बुलंद बदमाश कुछ इस तरह से दिन-दहाड़े गोली मारकर हत्या कर रहै हैं जैसे पुलिस और प्रशासन का उन्हें कोई भय ही नहीं है। लगातार हो रही हत्या और लूट जैसी वारदात से लोगों में दहशत का माहौल है। और अब तो दिन-दहाड़े ही आपराधिक घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है।

पिछले एक हफ्ते से बदमाशों का क़हर है बदस्तूर जारी

शहर में बीते एक हफ्ते से अपराधी बेलगाम हो गए हैं। घड़ी व्यापारी की लूट व हत्या, महिला की हत्या का प्रयास, सराफा कारोबारी से 50 लाख की रंगदारी मांगने और गर्ल्स हॉस्टल के केयरटेकर की हत्या के बाद शनिवार को छोटा लालपुर में एक मनबढ़ भतीजे ने अपने ही चाचा की गोली मारकर हत्या कर दी। ताबड़तोड़ हो रही इन आपराधिक वारदातों से पुलिस महकमे में भी हड़कंप मचा हुआ है।

कनपटी पर रखा असलहा और मार दी गोली

कैंट थाना क्षेत्र के छोटा लालपुर स्थित मस्जिद के पास 45 वर्षीय शाहिद इकबाल उर्फ मुन्ने खां अपने चचेरे भाई के घर गया हुआ था। इसी दौरान भतीजे जुगनू ने उसकी कनपटी पर गोली मार कर दिनदहाड़े उसकी हत्या कर दी। परिजनों ने पुलिस को बताया कि करीब 25 साल पहले जुगनू के पिता की हत्या हुई थी। हत्या के आरोप में शाहिद जेल गया था और फिर छूट गया था। अब जुगनू और शाहिद के बीच सब कुछ सामान्य चल रहा था। शाहिद के चचेरे भाई मुश्ताक के घर रोजाना सभी बैठ कर बातचीत करते थे।

ये भी पढ़ें: हम ‘मोदी-योगी’ सरकार के कामों से जीतेंगे विधानपरिषद चुनाव: स्वतंत्र देव सिंह

अचानक हुई कहासुनी और चल गई गोली

शनिवार की सुबह भी सभी लोग मुश्ताक के घर ही बैठे हुए थे। अचानक शाहिद और जुगनू के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी होने लगी। इसी बीच जुगनू ने असलहा निकाल कर शाहिद की कनपटी पर गोली मार दी। गोली लगते ही शाहिद जमीन पर गिरा और उसकी मौत हो गई। सरेआम चाचा की हत्या करने वाला भतीजा जुगनू असलहा लहराते हुए वहां से भाग निकला। वारदात की जानकारी पाकर घटनास्थल पर पहुंचे एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि जुगनू के दो करीबियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। उसकी तलाश में पुलिस की तीन टीमें लगाई गई हैं। शाहिद का शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया गया है।

रिपोर्ट: आशुतोष सिंह 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App

और ख़बरें