Top

शर्मनाक: यहां मामूली बात पर दबंगों ने कर दी सीआरपीएफ जवान की पिटाई

एक तरफ जहां पूरा देश पुलवामा हमले के बाद  सीआरपीएफ जवानों की सहादत को लेकर गमजदा है। वहीं दूसरी ओर यूपी के मऊ में  दबंगों द्वारा सेना के जवान की पिटाई का मामला सामने आया है। आरोप है कि जिस वक्त जवान की पिटाई हो रही थी वहां पर पुलिस भी मौजूद थी लेकिन उसने बीच बचाव करने की कोशिश नहीं की। इस घटना के सामने आने के बाद से इलाके में हड़कंप मचा हुआ है। 

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 28 Feb 2019 11:43 AM GMT

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मऊ: एक तरफ जहां पूरा देश पुलवामा हमले के बाद सीआरपीएफ जवानों की सहादत को लेकर गमजदा है। वहीं दूसरी ओर यूपी के मऊ में दबंगों द्वारा सेना के जवान की पिटाई का मामला सामने आया है। आरोप है कि जिस वक्त जवान की पिटाई हो रही थी वहां पर पुलिस भी मौजूद थी लेकिन उसने बीच बचाव करने की कोशिश नहीं की। इस घटना के सामने आने के बाद से इलाके में हड़कंप मचा हुआ है।

ये भी पढ़ें...12 देशों के प्रतिनिधियों को विदेश सचिव ने दी वायुसेना की कार्रवाई की जानकारी

ये है पूरा मामला

गाजीपुर जनपद के भड़ेसर थाना के उपाध्यायपुर निवासी सुनील कुमार उपाध्याय मणीपुर (इम्फाल) में सीआरपीएफ में कांस्टेबल के पद पर तैनात है। वह छुट्टी पर अपने घर आये हुए है और अपनी पत्नी के इलाज कराने के लिए नगर के शारदा नारायण में आये थे। इलाज कराने के बाद नगर क्षेत्र के फातिमा मोड़ के पास पहुंचे ही थे कि उसी दौरान उसकी चार पहिया गाड़ी की एक बाइक से टक्कर हो गई। जिसके बाद सात की संख्या में दबंगों ने सीआरपीएफ के जवान व उसकी पत्नी को पुलिस के सामने ही मारने पीटने लगे।

ये भी पढ़ें...जम्मू-कश्मीर: शोपियां में सेना की मुठभेड़ में जैश के दो आतंकी ढेर

भीड़ देखकर दबंग मौके से फरार हो गये। वहीं पुलिस पर पिटाई कराने का आरोप लगा है। वहीं इस मौके पर जवान को पिटता देख वहां पर मौजूद लोगों ने जवान के साथ सड़क को जाम कर दिया और जमकर पुलिस मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे। जाम लगने से दोनों तरफ आवागमन बाधित हो गया। वहीं सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने जवान को समझाने का प्रयास करने लगी। काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने जवान को समझाया और मामला शांत कराया।

वहीँ जवान सुनील उपाध्याय ने बताया कि हम अपनी पत्नी का इलाज कराने शारदा नारायण अस्पताल आये थे। इलाज कराने के बाद वापस अपने घर जा रहे थे। जैसे ही हम फातिमा मोड़ के पास पहुंचे ही थे कि एक बाइक से टक्कर हो गई और बाइक सवार ने कई लोगो के साथ मिलकर हमे व हमारी पत्नी को मारने पीटने लगे, जब हमको मारा जा रहा था तब उस समय सिविल पुलिस मेरा कॉलर पकड़ी थी। लेकिन पुलिस तमाशबीन बनी रही।

ये भी पढ़ें...पाकिस्तानी सेना विश्व से मांग रही मदद, आतंकी मसूद ने माना हुई थी एयर स्ट्राइक

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story