बरमुडा ट्राएंगल का रहस्य: दफन होते थे शव के साथ ये सब, खड़े हो जाएंगे आपके रोंगटे

इस पिरामिड में राजाओं के मृत शरीर को दफनाया जाता था । यह शव खराब ना हो सुरक्षित रहे इसके लिए इन शवों पर एक किस्म के पदार्थ लगा कर दफनाया जाता था। इन शवों को ममी कहा जाता हैं। इन शवों के साथ कपडे , गहनें, खाने के सामान , संगीत यंत्र, और कभी-कभी तो ऐसा हो जाता था की शवों के साथ दास दासियों को भी दफना दिया जाता था।

Published by Jyotsana Sharma Published: November 29, 2020 | 3:02 pm
AJAB GAJAB

बरमुडा ट्राएंगल का रहस्य: दफन होते थे शव के साथ ये सब, खड़े हो जाएंगे आपके रोंगटे(photo social media)

लखनऊ: विज्ञान कितना भी तरक्की क्यों ना कर ले पर दुनिया में कुछ रहस्य ऐसे हैं जिसके पीछे की वजह को विज्ञान भी नहीं पता लगा पाया है । दुनियां में कुछ ऐसी अज़ीबों- गरीब घटनाएं होती हैं जिसे देख कर हम हैरत में पड़ जाते हैं। जिसको देख कर यकीन करना मुश्किल हो जाता हैं। इस दुनियां में कुछ ऐसे अनसुलझे रहस्य और अनकही कहानियां हैं। जो आपको सोचने पर मजबूर कर देंगी । जिसपर आपको विश्वास नहीं होगा। चलिए आपको बताते हैं दुनियां से जुड़ी ऐसी घटनाओं और रहस्योँ को जिसको जानकर आप यही कहेगे ये कैसे हो सकता हैं।

इस जगह से वापिस कोई लौट कर नहीं आया

बरमुडा ट्राएंगल को मौत का त्रिकोण या डेविल्‍स ट्राएंगल को कहते हैं। बरमुडा ट्राएंगल यह हैरतंगेज जगहों में से एक है। यह भाग अटलांटिक महासागर में अमेरिका के दक्षिण-पूर्वी तट पर स्थित है। बरमूडा के इस खतरनाक ट्राएंगल की सीमा में घुसते ही हवाई जहाज और समुद्री जहाज अचानक अपना रास्ता भटक जाते हैं। इस जगह पर गए अब तक हजारों कि संख्या में विमान, पानी वाला जहाज, यहां तक इंसान भी वापिस लौट कर नही आया। इस रहस्यमय तरीके से ये सब गायब हो गए। कहा जाता हैं कि यहां यह पानी वाला भाग रहस्यमय हैं। खतरों से भरा भारी हुई ये जगह हैं। अब तक गायब हुए व्यकि, जहाज और विमान का पता नहीं लगाया जा सका हैं।

AJAB BAJAB 3

ये भी देखें: दुनिया के 4 बड़े रहस्य: अभी तक नहीं सुलझा पाया कोई, जानिए इनके बारे में

शव के साथ इन चीजों को किया जाता था दफ़न

मिश्र के पिरामिड को सम्राट के लिए बनाया गया स्मारक हैं। इस पिरामिड में राजाओं के मृत शरीर को दफनाया जाता था । यह शव खराब ना हो सुरक्षित रहे इसके लिए इन शवों पर एक किस्म के पदार्थ लगा कर दफनाया जाता था। इन शवों को ममी कहा जाता हैं। इन शवों के साथ कपडे , गहनें, खाने के सामान , संगीत यंत्र, और कभी-कभी तो ऐसा हो जाता था की शवों के साथ दास दासियों को भी दफना दिया जाता था।

चुम्बक की तरह खींच ली जाती है गाड़ियां

हिमालय के पहाड़ी के पास लद्दाख घाटियों में एक ऐसी जगह हैं जहां हिमालय को जादू के नाम से बुलाया जाता है। ऐसा इसलिए कहा जाता कि अगर अपने वहां पर गाड़ी खड़ी कर दि हैं तो गाड़ी अपने आप ही पीछे कि तरफ खिंचती चली जाती हैं। चुंबकीय पहाड़ी भी कही जाती है।

ये भी देखें: गांव में शानदार 5 स्टार होटल! लेकिन किसी को रहना पसंद नहीं, आखिर क्या है वजह..

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App