Top

कमलनाथ को मिला विपक्षी दलों का साथ, इस पार्टी के अध्यक्ष ने साध रखी है चुप्पी

मध्य प्रदेश में कांग्रेस के 22 विधायकों के इस्तीफे के बाद कमलनाथ सरकार मुश्किल में पड़ गयी। सरकार को अब अपना बहुमत साबित करना है।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 16 March 2020 4:06 AM GMT

कमलनाथ को मिला विपक्षी दलों का साथ, इस पार्टी के अध्यक्ष ने साध रखी है चुप्पी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

भोपाल: मध्य प्रदेश में कांग्रेस के 22 विधायकों के इस्तीफे के बाद कमलनाथ सरकार मुश्किल में पड़ गयी। सरकार को अब अपना बहुमत साबित करना है। ऐसे में सोमवार को विधानसभा सत्र की शुरुआत होने के साथ ही फ्लोर टेस्ट भी हो सकता है। एक ओर तो कांग्रेस अपने बचे हुए विधायकों को छिपाने में लगी है ताकि कमलनाथ विधानसभा में विश्वास मत साबित कर सकें तो वहीं विपक्षी दलों का भी उन्हे साथ मिला है।

अखिलेश यादव ने सीएम कमलनाथ के समर्थन में जारी किया व्हिप

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार को समर्थन देने का एलान किया। इसके लिए उन्होने व्हिप जारी कर दिया। बता दें कि एमपी में सपा से राजेह्स शुक्ल विधायक हैं। अखिलेश ने राजेश शुक्ला को कमलनाथ सरकार के पक्ष में मत देने के निर्देश दिए हैं।

ये भी पढ़ें: सिंधिया पर बोले अखिलेश: परिवारवाद का आरोप लगाने वालों ने बुआ-भतीजे को मिलाया

मायावती ने साधी समर्थन पर चुप्पी:

इसके अलावा यूपी की राजनीति में बड़े दलों में से एक बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने अब तक कमलनाथ सरकार को समर्थन जारी रखने के मुद्दे पर देर रात तक कोई निर्णय नहीं लिया। गौरतलब है कि एमपी विधानसभा में बसपा के दो सदस्य संजीव सिंह कुशवाह और रामबाई हैं।

ये भी पढ़ें: कमलनाथ आज नहीं साबित करेंगे बहुमत! फ्लोर टेस्ट पर सस्पेंस बरकरार, ये है वजह

वैसे तो बसपा, कमलनाथ सरकार को समर्थन दे रही हैं, लेकिन फ्लोर टेस्ट के दौरान मायावती का क्या निर्णय होगा, इसको लेकर कोई भी एलान अब तक नहीं किया गया। हालांकि बसपा के दोनों विधायक कमलनाथ के समर्थन में वोट देते है या नहीं इसका निर्णय मायावती करेंगी।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story