Top

गजब शौक नेताजी के: महिला के कपड़े पहनना था पसंद! श्रीदेवी के साथ किया काम

एक ऐसा राजनेता जिसकी शख्सियत राजनीति में बेहद दमदार थी लेकिन उनके बारे में एक अफवाह ह कि वह रात में महिलाओं के कपडे़ पहना करते थे।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 18 Jan 2020 11:12 AM GMT

गजब शौक नेताजी के: महिला के कपड़े पहनना था पसंद! श्रीदेवी के साथ किया काम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: एक ऐसा राजनेता जिसकी शख्सियत इतनी दमदार थी कि जब इंदिरा गांधी की हत्या के बाद पूरे देश में कांग्रेस की लहर थी, तो वो अकेला ऐसा था, जिसने अपने राज्य में कांग्रेस के खिलाफ जीत हासिल की थी। लेकिन उनके बारे में एक अफवाह थी कि वह रात में महिलाओं के कपडे़ पहना करते थे। हालाँकि इसका कोई सबूत या पुष्टि नहीं है। जिस नेता के बारे में हम बात कर रहे हैं, वो है एनटी रामा राव।

कौन है एनटी रामा राव

दक्षिण भारत के सबसे ताकतवर नेताओं में से एक, तेलगू देशम पार्टी के संस्थापक और आंध्र प्रदेश के तीन बार मुख्यमंत्री रहे एनटी रामा राव भारतीय राजनीति का एक बड़ा नाम है। इतना ही नहीं, रामाराव तेलुगु सिनेमा के बड़े अभिनेता, निर्देशक और निर्माता भी थे। बता दें कि रामा राव चंद्रबाबू नायडू के ससुर भी थे। आज एनटी रामा राव की पुण्यतिथि है।

एनटी रामा राव 28 मई 1923 को आंध्र प्रदेश के एक छोटे से गांव के किसान परिवार में पैदा हुए थे। बाद में उन्हें उनके मामा ने गोद ले लिया। आजादी के दौरान उन्हें मद्रास सर्विस कमीशन में सब रजिस्ट्रार की नौकरी मिल गयी, लेकिन एक्टिंग के शौक ने उन्हें नौकरी छोड़ने पर मजबूर कर दिया।-

ये भी पढ़ें: जवानी’ में ऐसी थी सोनिया: तस्वीरें देख यकीन नहीं कर पाएंगे आप

परिवार की आर्थिक हालत ठीक न होने के चलते उन्होंने विजयवाड़ा के स्थानीय होटलों में दूध बेचने का काम किया। 1942 में उन्होंने अपने मामा की बेटी के साथ विवाह किया। बाद में सन 1993 में 70 साल की उम्र में रामा राव ने तेलुगु लेखक ‘लक्ष्मी पार्वती’ से फिर शादी की लेकिन उनके परिवार ने लक्ष्मी को कभी स्वीकार नहीं किया। उनके कुल 12 बच्चे थे, जिसमें आठ बेटे और चार बेटियां थीं।

तेलुगु फिल्मों के लोकप्रिय हीरो थे एनटी रामा राव:

रामाराव का स्कूल के दिनों से ही एक्टिंग के प्रति झुकाव था। स्कूल में उन्होंने जो पहला प्ले किया, उसमें वो महिला बने थे। 1949 में माना देशम नाम की उनकी जो पहली फिल्म आई, उसमें वो पुलिस अफसर बने। उन्होंने ज्यादातर धर्म आधारित फिल्मों में ही काम किया। इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि उन्होंने 17 फिल्मों में कृष्ण का किरदार निभाया था। इतना ही नहीं उन्होंने श्रीदेवी के साथ भी काम किया था।

ये भी पढ़ें: चमत्कारी मंदिर में महिलाएं ऐसे होती हैं प्रेग्नेंट: सपने में ये चीजें आतीं हैं तो होता है लड़का

कैसा रहा राजनीतिक जीवन:

तेलुगु फिल्मों के लोकप्रिय हीरो रामा राव आंध्र प्रदेश की राजनीति में जब उतरे तो धुरंधर राजनेता बन गये। उन्होंने तेलुगुदेशम के नाम से अपनी ऩई राजनीतिक पार्टी बनाई। फिर 1984 में भारी बहुमत से जीतकर आंध्र प्रदेश में अपनी सरकार बनाई। ये उनकी प्रसिद्धि ही थीं कि उनके राज्य में कुछ लोग उन्हें देवता मानते थे। 1983 से 1994 के बीच वह तीन बार प्रदेश के मुख्यमंत्री बने।

उनकी लोकप्रियता का आंकलन इस बात से लगा सकते हैं कि इंदिरा गांधी की हत्या के बाद जब पूरे देश में कांग्रेस की लहर थी तब बस आंध्र-प्रदेश में कांग्रेस नहीं जीत पाई। इतना ही नहीं तेलुगु देशम लोक सभा में मुख्य विपक्षी दल भी बन गया। सन 1994 में एनटी रामा राव दोबारा सत्ता में लौटे।

ये भी पढ़ें: 39 साल से तारीख पर तारीख: बेहमई नरसंहार कांड का फैसला फिर टला, फूलन देवी ने…

रामाराव पीएम बनने के लिए करते थे ये:

उनके बारे में एक अफवाह है। दरअसल, जेडीयू के वरिष्ठ नेता का दावा था कि रामा राव प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहे थे।इसके लिए वह ज्योतिषी के कहने पर एक अजीबोगरीब काम करते थे। दरअसल, अफवाह थी कि रामाराव ज्योतिषी के कहने पर रात में नारी वस्त्र धारण करने लगे थे।

दामाद ने ही किया था पार्टी से बाहर:

हालांकि इस बार रामा राव केवल 9 महीने के लिए ही मुख्यमंत्री पद रह पाए क्योंकि उनके दामाद चंद्रबाबू नायडू ने उन्हें पार्टी के अध्यक्ष पद से और सीएम की कुर्सी से हटा दिया। ॉ

ये भी पढ़ें: ‘मिशन कश्मीर’: मोदी सरकार ने बनाया ऐसा प्लान, 36 मंत्री मिलकर करेंगे पूरा

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story