केजरीवाल ने ऐसा कौन सा निर्णय ले लिया, बीजेपी और कांग्रेस ने एक साथ बोला हमला

कोरोना वायरस संकट के बीच अरविंद केजरीवाल ने राजधानी के बॉर्डर एक हफ्ते के लिए सील कर दिये हैं। बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने ही केजरीवाल सरकार के इस फैसले का विरोध किया है। इसे गलत करार दिया है।

Published by Aditya Mishra Published: June 2, 2020 | 10:57 am
Modified: June 2, 2020 | 10:58 am

नई दिल्ली: लॉकडाउन खुलने के साथ ही दिल्ली की केजरीवाल सरकार चौतरफा हमलों से घिर गई है। सीएम केजरीवाल का राजधानी के बॉर्डर सील करने का ऐलान एक सियासी तूफान लेकर आया है।

कोरोना वायरस संकट के बीच अरविंद केजरीवाल ने राजधानी के बॉर्डर एक हफ्ते के लिए सील कर दिये हैं। बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने ही केजरीवाल सरकार के इस फैसले का विरोध किया है। इसे गलत करार दिया है।

बीजेपी की तरफ से सांसद गौतम गंभीर ने मोर्चा संभाला और ट्विटर के जरिए सीएम अरविंद केजरीवाल पर बड़ा हमला बोला।
गंभीर ने ट्विटर पर लिखा, ‘अपनी नाकामी छिपाने के लिए, आप निर्दोष लोगों को दंड देना चाहते हो क्योंकि वह बॉर्डर के दूसरी तरफ रहते हैं? वह भी आपकी और मेरी तरह भारतीय हैं! याद है, आपने अप्रैल में कहा था कि आप 30 हजार मरीजों के लिए बिल्कुल तैयार हो? मिस्टर तुगलक अब ऐसे सवाल क्यों उठा रहे हो?’

केजरीवाल सरकार का बड़ा एलान, ई-रिक्शा मालिकों को मिलेगा इतना पैसा

कांग्रेस ने जोरशोर से उठाया ये मुद्दा

उधर कांग्रेस ने भी इस मामले को जोरशोर से उठाया है। दिल्ली कांग्रेस ने अपने ट्विटर पर लिखा, ‘जब दिल्ली में सब कुछ खोल दिया गया है, फिर दिल्ली के बॉर्डर सील करने की क्या जरूरत थी, जबकि लोगों को बॉर्डर के इधर-उधर काम धंधे पर जाने के लिए रोक लगाने से बॉर्डर पर सिर्फ अराजकता ही पैदा होगी’।

कांग्रेस ने कहा कि अब जब स्थिति दिल्ली सरकार के हाथ से निकल चुकी है तो केजरीवाल लोगों से सुझाव मांग रहे है, ताकि केजरीवाल अपनी सरकार की प्रशासनिक विफलताओं का ठीकरा लोगों के सिर पर फोड़ सकें।

केजरीवाल सरकार का बड़ा एलान, ई-रिक्शा मालिकों को मिलेगा इतना पैसा

इसके अलावा कांग्रेस की ओर से लिखा गया कि केजरीवाल पूरी तरह भ्रमित हैं, उन्हें यह मालूम नहीं कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को कैसे रोकना है। जब शराब की दुकानें खोली गईं तो केजरीवाल ने किसी से सुझाव नहीं लिए और जब शराब की प्रति बोतल पर कोरोना टैक्स लगाया था, उस समय भी केजरीवाल ने लोगों से सुझाव नहीं मांगे थे।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल बोले- यूपी के चार राज्य बनाएंगे