Top

बिहार चुनाव: बदली स्थितियों से भाजपा हुई सतर्क, इस पार्टी से दूरी का लिया फैसला

लोजपा के NDA से बाहर होने के बाद अब भाजपा बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर नई रणनीति तैयार कर रही है। भाजपा के शीर्ष नेताओं की बैठक में लोजपा के फैसले के बाद बदली हुई स्थितियों पर चर्चा की गई।

Shivani

ShivaniBy Shivani

Published on 6 Oct 2020 3:46 AM GMT

बिहार चुनाव: बदली स्थितियों से भाजपा हुई सतर्क, इस पार्टी से दूरी का लिया फैसला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अंशुमान तिवारी

नई दिल्ली। लोजपा के एनडीए से बाहर होने और जदयू के खिलाफ हमलावर रुख अपनाने के कारण भाजपा सतर्क हो गई है। भाजपा जदयू के साथ अपने संबंधों में कोई आंच नहीं आने देना चाहती और इसी कारण पार्टी में एनडीए को कमजोर करने वाले दलों पर निशाना साधने का फैसला किया है।

भाजपा के शीर्ष नेतृत्व की बैठक में उम्मीदवारों के चयन से लेकर चुनाव प्रबंधन तक के मुद्दों पर लंबी चर्चा की गई। सूत्रों के मुताबिक बैठक में फैसला लिया गया कि चुनाव के दौरान भाजपा लोजपा से दूरी बनाए रखने के साथ ही खुलकर एनडीए को जिताने की अपील करेगी। वैसे लोजपा के फैसले के बाद गठबंधन में भितरघात की आशंका भी बढ़ गई है।

भाजपा तैयार कर रही नई रणनीति

लोजपा के एनडीए से बाहर होने के बाद अब भाजपा बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर नई रणनीति तैयार कर रही है। भाजपा के शीर्ष नेताओं की सोमवार को हुई बैठक में लोजपा के फैसले के बाद बदली हुई स्थितियों पर चर्चा की गई। भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने इस बाबत गृह मंत्री अमित शाह, संगठन प्रभारी भूपेंद्र यादव और बिहार चुनाव के प्रभारी देवेंद्र फडणवीस के साथ लंबी चर्चा की।

Bihar-assembly-elections Modi join BJP central-election-committee-meeting

सूत्रों के मुताबिक कई सीटों पर उम्मीदवारों को लेकर नए सिरे से मंथन किया गया। लोजपा ने जदयू उम्मीदवारों वाली सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला किया है मगर भाजपा के हिस्से वाली कई सीटों पर भी उम्मीदवार उतारे जा सकते हैं। लोजपा की ओर से इसे फ्रेंडली फाइट का रूप दिया जा सकता है। इसलिए भाजपा अब फूंक-फूंक पर कदम रख रही है।

जदयू के साथ अच्छे रिश्ते की कवायद

सूत्रों का कहना है कि भाजपा जदयू के साथ संबंधों में कोई खटास न आने देने के लिए सतर्क हो गई है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक लोजपा को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित पार्टी के किसी भी नेता के फोटो के इस्तेमाल की इजाजत नहीं दी जाएगी।

ये भी पढ़ेंः दर्दनाक हादसे से सहमे लोग: कई लोगों की मौत, चारों तरफ मची चीख पुकार

इसके साथ ही भाजपा की ओर से लोजपा पर कई और पाबंदियां की लगाई जाएंगी ताकि वह भाजपा के नाम का इस्तेमाल अपने प्रत्याशियों के फायदे के लिए न कर सके।

JDU-BJP

समन्वित रणनीति बनाने का निर्देश

भाजपा के शीर्ष नेतृत्व से चर्चा के बाद दोनों प्रभारी फिर पटना पहुंच गए हैं। इन प्रभारियों को जदयू के साथ समन्वित रणनीति बनाने का निर्देश दिया गया है। पार्टी का मानना है कि समन्वित रणनीति बनाना जरूरी है ताकि दोनों दलों के बीच नीचे तक विश्वास बना रहे और हर सीट पर दोनों दलों के समर्थक एकजुट होकर प्रचार करें। इसके साथ ही पार्टी एनडीए को कमजोर बनाने वालों के खिलाफ भी हमलावर रुख अपनाएगी।

बिहार में भाजपा कर रही नुकसान का आकलन

भाजपा की ओर से इस बात का भी आकलन किया जा रहा है कि लोजपा के अलग होकर चुनाव लड़ने से एनडीए को कितना नुकसान हो सकता है।

ये भी पढ़ेंः यूपी में फिर कत्लेआम: हुआ ताबड़तोड़ गोलीकांड, BDC सदस्य की मौत से मचा हंगामा

वैसे पार्टी के अधिकांश नेताओं का मानना है कि ऐसी सीटों की संख्या ज्यादा नहीं होगी जहां लोजपा के अलग होकर चुनाव लड़ने से भाजपा को नुकसान होगा, लेकिन भाजपा और जदयू के रिश्ते में खटास जरूर पैदा हो सकती है। दोनों दलों में ऐसे नेताओं की संख्या कम नहीं है जो एक-दूसरे को नापसंद करते हैं और ऐसे में भितरघात की आशंका जरूर बढ़ गई है।

चिराग ने लिखा खुला पत्र

इस बीच लोजपा मुखिया चिराग पासवान ने बिहार के लोगों के नाम खुला पत्र लिखते हुए कहा है कि बिहार के इतिहास में यह बड़ा निर्णायक क्षण है। उन्होंने कहा कि यह 12 करोड बिहारियों के जीवन मरण का प्रश्न है क्योंकि अब हमारे पास खोने के लिए और समय नहीं है। जदयू पर फिर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि किसी भी जदयू प्रत्याशी को दिया गया एक भी वोट कल बिहार के लोगों के बच्चों को पलायन पर मजबूर करेगा।

bihar assembly election 2020 LJP chirag-paswan go solo poster war nitish kumar

ये भी पढ़ेंः ट्रंप की छुट्टी: अस्पताल से व्हाइट हाउस वापसी, अब ऐसी है हालत

जीत हासिल करने का भरोसा

उन्होंने कहा कि लोजपा की राह आसान नहीं है मगर हम लड़ेंगे और जीत भी हासिल करेंगे। उन्होंने पार्टी के सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं से मौजूदा हालात में पार्टी के साथ मजबूती से खड़े रहने की अपील की है। इसके साथ ही यह भी अनुरोध किया है कि वे पार्टी के सिंबल पर लड़ने वाले उम्मीदवारों को जिताने में पूरी ताकत झोंक दें।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani

Shivani

Next Story