Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

JDU और RJD के लिए दूसरा चरण अहम, इन दो बड़े नेताओं की तय होगी किस्मत

जदयू ने दूसरे चरण में ही सबसे ज्यादा 43 प्रत्याशी मैदान में उतारे हैं। उधर इस चरण में राजद के 27 विधायकों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है। महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बनाए गए तेजस्वी यादव और उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव की किस्मत का फैसला भी दूसरे चरण में ही होगा।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 30 Oct 2020 3:51 AM GMT

JDU और RJD के लिए दूसरा चरण अहम, इन दो बड़े नेताओं की तय होगी किस्मत
X
महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बनाए गए तेजस्वी यादव और उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव की किस्मत का फैसला भी दूसरे चरण में ही होगा।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव में पहले चरण का मतदान संपन्न हो चुका है और अब बाकी दो चरणों के मतदान 3 और 7 नवंबर को होने हैं। 3 नवंबर को 17 जिलों की 94 सीटों पर एनडीए और महागठबंधन के बीच कांटे के मुकाबले की उम्मीद जताई जा रही है। मतदान का दूसरा चरण राजद और जदयू के लिए काफी अहम माना जा रहा है।

जदयू ने दूसरे चरण में ही सबसे ज्यादा 43 प्रत्याशी मैदान में उतारे हैं। उधर इस चरण में राजद के 27 विधायकों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है। महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बनाए गए तेजस्वी यादव और उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव की किस्मत का फैसला भी दूसरे चरण में ही होगा।

46 सीटों पर भाजपा प्रत्याशी हैं मैदान में

एनडीए के लिए भी दूसरा चरण महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि इसमें नीतीश सरकार के आधा दर्जन मंत्रियों समेत कई प्रमुख उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होना है। दूसरे चरण में एनडीए की ओर से भाजपा ने सबसे अधिक 46 सीटों पर अपने प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतारे हैं।

ये भी पढ़ें...पंजाब में ब्लैकआउट! मालगाड़ियां रद्द, थर्मल प्लांट बंद, राज्य पर मंडराया बड़ा खतरा

इनमें से 27 सीटों पर भाजपा की राजद के साथ सीधी टक्कर हो रही है। भाजपा और राजद दोनों दलों के नेता एक-दूसरे को पटखनी देने में जुटे हुए हैं और इसके लिए हर तरीके की जोड़-तोड़ की जा रही है।

Tejashawi-Tejpratap

दूसरे चरण में भाजपा का कांग्रेस के साथ 12 सीटों पर, माकपा के साथ एक, भाकपा के साथ दो और भाकपा माले के साथ दो सीटों पर मुकाबला होना है।

25 सीटों पर राजद और जदयू की सीधी टक्कर

दूसरी ओर जनता दल यू ने दूसरे चरण की 43 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं और इनमें से 25 सीटों पर जदयू की राजद के साथ सीधी कड़ी टक्कर हो रही है। जदयू 12 सीटों पर कांग्रेस के साथ, दो पर माले के साथ, तीन पर माकपा के साथ और एक सीट पर भाकपा के साथ जंग लड़ रही है।

ये भी पढ़ें...चमकी अरविंद की किस्मतः मोदी से संवाद का नतीजा, बढ़ गई मोमोज की बिक्री

तेजस्वी की किस्मत का होगा फैसला

राजद के लिए दूसरा चरण इसलिए भी महत्वपूर्ण बताया जा रहा है क्योंकि इसी चरण में राजद के मुख्यमंत्री पद के चेहरे तेजस्वी यादव की किस्मत का फैसला होना है। तेजस्वी इस बार भी अपनी पुरानी राघोपुर विधानसभा सीट से चुनाव मैदान में उतरे हैं। राघोपुर में तेजस्वी के नामांकन के दौरान भारी भीड़ उमड़ी थी और इस भीड़ में युवाओं की संख्या काफी ज्यादा थी। राघोपुर में तेजस्वी मजबूत स्थिति में बताए जा रहे हैं।

तेज प्रताप यादव का भी तय होगा भाग्य

दूसरी ओर तेजस्वी के बड़े भाई और राज्य के पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव इस बार हसनपुर सीट से चुनाव मैदान में उतरे हैं। तेजस्वी इस बार अपनी सीट बदलकर हसनपुर से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।

RJD-JDU

ये भी पढ़ें...गरीबों के हमदर्द सभी दल, वोट भी लेंगे लेकिन MP-MLA बनाएंगे करोड़पति

पहले उनके अपने पुराने चुनाव क्षेत्र से लड़ने की संभावना जताई जा रही थी मगर बाद में अपनी पत्नी ऐश्वर्या राय के चुनाव मैदान में उतरने की चर्चाओं के बीच तेज प्रताप ने अपना चुनाव क्षेत्र बदल लिया। तेजस्वी चुनाव क्षेत्र से बाजी मारने के लिए जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं।

दूसरे चरण की 94 सीटों में एनडीए में भाजपा ने 46, जदयू ने 43 और वीआईपी ने 5 सीटों पर प्रत्याशी उतारे हैं जबकि महागठबंधन की ओर से दूसरे चरण में 56 सीटों पर राजद प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतरे हैं जबकि कांग्रेस प्रत्याशी 24 सीटों पर किस्मत आजमा रहे हैं।

दूसरे चरण में मजबूती का जदयू का दावा

जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह का कहना है कि पहले चरण में बिहार के मतदाताओं के रुख से हमारी पार्टी उत्साहित है। उन्होंने कहा कि दूसरा चरण हमारे लिए निश्चित रूप से मजबूती लेकर आएगा। पार्टी इस चरण में अपनी स्थिति और मजबूत करने में कामयाब होगी।

ये भी पढ़ें...मौसम विभाग का अलर्ट: इन राज्यों में होगी बारिश और बर्फबारी, ठंड ने तोड़ा रिकॉर्ड

पार्टी के राष्ट्रीय सचिव रविंद्र सिंह ने कहा कि जदयू को दूसरे चरण से काफी उम्मीदें हैं। पहले चरण में जदयू के 35 प्रत्याशी मैदान में थे। वहीं दूसरे चरण में जदयू ने सबसे अधिक 43 प्रत्याशी मैदान में उतारे हैं। पार्टी के शेष 37 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला तीसरे चरण में होगा।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Newstrack

Newstrack

Next Story