Top

अभी-अभी BJP को झटका: MP में फ्लोर टेस्ट से पहले इस विधायक ने दिया इस्तीफा

मध्य प्रदेश में कमलनाथ के फ्लोर टेस्ट से पहले भारतीय जनता पार्टी को बड़ा झटका मिला है। कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे की होड़ के बीच अब भाजपा के एक विधायक ने पार्टी छोड़ दी। जानकारी के मुताबिक, बीजेपी के विधायक शरद कौल ने इस्तीफा दे दिया है। अब तक विधानसभा में कुल 23 विधायकों के इस्तीफे मंजूर हो गए हैं।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 20 March 2020 6:43 AM GMT

अभी-अभी BJP को झटका: MP में फ्लोर टेस्ट से पहले इस विधायक ने दिया इस्तीफा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

भोपाल: मध्य प्रदेश में कमलनाथ के फ्लोर टेस्ट से पहले भारतीय जनता पार्टी को बड़ा झटका मिला है। कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे की होड़ के बीच अब भाजपा के एक विधायक ने पार्टी छोड़ दी। जानकारी के मुताबिक, बीजेपी के विधायक शरद कौल ने इस्तीफा दे दिया है। अब तक विधानसभा में कुल 23 विधायकों के इस्तीफे मंजूर हो गए हैं। मौजूदा परिस्थितियों के हिसाब से विधानसभा में बहुमत के लिए 104 का आंकड़ा चाहिए और बीजेपी के पास अभी 106 है।

कमलनाथ सरकार का फ्लोर टेस्ट आज:

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद शुक्रवार शाम विधानसभा में कमलनाथ सरकार फ्लोर टेस्ट का सामना करेगी। वैसे तो सत्तारूढ़ कांग्रेस बहुमत साबित करने का दावा कर रही हैं, लेकिन मुख्य विपक्षी बीजेपी लगातार कमलनाथ सरकार के अल्पमत होने की बात कह फ्लोर टेस्ट की मांग कर रही है। बता दें कि फ्लोर टेस्ट से पहले कांग्रेस ने अपने बागी विधायकों के इस्तीफे भी स्वीकार कर लिए हैं। ऐसे में ये जान लेना जरुरी है कि विधानसभा का समीकरण क्या कहता है और क्या कमलनाथ सरकार अपने बचे विधायकों के जरिये बहुमत साबित कर पाएगी?

ये भी पढ़ें: कमलनाथ आज देंगे इस्तीफा, फ्लोर टेस्ट से पहले ही गिर जाएगी सरकार!

कांग्रेस के पास कितने विधायक:

मध्य प्रदेश कांग्रेस के पास सिर्फ 92 विधायक हैं। सरकार को समर्थन देने वाली अन्य पार्टियों की बात करें तो सपा, बसपा और निर्दलीय समेत कुल 7 विधायकों का समर्थन कमलनाथ सरकार मिला हुआ है। इस तरह कांग्रेस के पास कुल 99 विधायक हैं। हालाँकि विधानसभा के समीकरण के मुताबिक कांग्रेस को 104 विधायकों की जरूरत है, यानि उनके पास 5 विधायकों की कमी है।

ये भी पढ़ें: निर्भया के दोषियों की फांसी से खुश हुआ देश: इन दिग्गजों ने दी ऐसी प्रतिक्रिया

भाजपा के पास कितने विधायक:

वहीं भाजपा के पास कुल 107 विधायक हैं, हालाँकि पार्टी सिर्फ 106 विधायकों का दावा कर रही है। वहीं यानी की भाजपा के पास कमलनाथ सरकार से ज्यादा और बहुमत के आंकड़ों से ज्यादा मत हैं।

विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए मतों का आंकड़ा:

राज्य विधानसभा में कुल 230 सीटें हैं। 2 विधायकों के निधन के बाद अभी इनमें से 2 सीटें खाली हैं। ऐसे में आज कुल 228 विधायक ही प्रदेश की सरकार के बारे में फैसला कर सकते हैं। वहीं कांग्रेस के 22 बागी विधायकों के इस्तीफे विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने स्वीकार कर लिए है। इस आधार पर अब कुल संख्या 206 रह गयी है। जिसमें 104 विधायकों के मतों से बहुमत साबित हो सकता है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story