×

चीन विवाद: मनमोहन-राहुल को BJP का जवाब, कांग्रेस पर लगाया ये गंभीर आरोप

बीजेपी नेता और पार्टी के आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने राहुल गांधी को जवाब दिया। उन्होंने कहा कि मनमोहन सिंह की सलाह लें, जिनका अध्यादेश राहुल गांधी ने सार्वजनिक रूप से फाड़ दिया था, जबकि वो उस वक्त देश के प्रधानमंत्री थे।

Dharmendra kumar
Published on: 22 Jun 2020 8:00 AM GMT
चीन विवाद: मनमोहन-राहुल को BJP का जवाब, कांग्रेस पर लगाया ये गंभीर आरोप
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: भारत चीन सैनिक और सीमा विवाद पर पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने गलवान घाटी में शहीद हुए 20 भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि दी। इसी के साथ कहा कि जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिए। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने बयान के बाद राहुल गांधी ने भी हमला बोला। अब कांग्रेस नेताओं के बयान पर बीजेपी ने पलच वार किया है।

बीजेपी नेता और पार्टी के आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने राहुल गांधी को जवाब दिया। उन्होंने कहा कि मनमोहन सिंह की सलाह लें, जिनका अध्यादेश राहुल गांधी ने सार्वजनिक रूप से फाड़ दिया था, जबकि वो उस वक्त देश के प्रधानमंत्री थे।

'कांग्रेस सरकार में चीन ने भारत की जमीन पर किया कब्जा'

अमित मालवीय ने ट्वीट कर कहा कि डॉ. मनमोहन सिंह और राहुल गांधी जानते हैं कि कांग्रेस के शासनकाल में ही चीन ने भारत का अधिकतर हिस्सा अपने कब्जे में ले लिया था।

यह भी पढ़ें...लद्दाख में तनाव के बीच भारत और चीन में बातचीत, दोनों देशों ने तैनात किए सैनिक

''PM मोदी को सोच समझकर बयान देना चाहिए''

गौरतलब है कि मनमोहन सिंह ने अपने बयान में मोदी सरकार पर हमला बोला है। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि ये वक्त देश को एकजुट होने का है, ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने बयान सोच समझकर रखने चाहिए, ताकि उनका इस्तेमाल चीन ना कर सके।

यह भी पढ़ें...चीन की चुप्पी का अर्थ क्या है ?

पूर्व पीएम ने कहा कि आज सरकार के निर्णय और कदम तय करेंगे कि भारत का भविष्य कैसा होगा और आने वाली पीढ़ियां हमारा आंकलन कैसे करेंगी। मोदी सरकार को लेकर कहा कि उनके कन्धों पर बड़ा दायित्व है। प्रधानमंत्री को अपने शब्दों और एलानों के जरिये देश की सुरक्षा और समारिक व भूभागीय हितों पर पड़ने वाले प्रभाव के प्रति सदैव बेहद सावधान होना चाहिए।

यह भी पढ़ें...चीन की चालाकी: भारत का ऐसे उठा रहा फायदा, बनाया ये प्लान

उन्होंने कहा कि चीन ने अप्रैल से अब तक गलवान घाटी और पैंगॉन्ग त्सो लेक में कई बार जबरन घुसपैठ की। लेकिन हम उनकी धमकियों के सामने झुकेंगे नहीं और न ही अपनी भूभागीय अखंडता से कोई समझौता करेंगे। चीन की साजिश नाकाम करने के लिए जरुरी है कि पूरा राष्ट्र एकजुट हो।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story