Top

यूपी कैबिनेट विस्तारः 26 जनवरी के बाद कई मंत्रियों की छुट्टी, अरविन्द शर्मा को ये पद

राजनीतिक गलियारों में इस बात की चर्चा जोरों पर है कि 28 जनवरी को विधानपरिषद चुनाव होने के बाद संगठन में कार्य करने वालों को सत्ता में एडजस्ट किए जाने की पूरी तैयारी है।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 18 Jan 2021 4:59 AM GMT

यूपी कैबिनेट विस्तारः 26 जनवरी के बाद कई मंत्रियों की छुट्टी, अरविन्द शर्मा को ये पद
X
यूपी कैबिनेट विस्तारः 26 जनवरी के बाद कई मंत्रियों की छुट्टी, अरविन्द शर्मा को ये पद (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: विधानसभा चुनाव के पहले प्रदेश की योगी सरकार में दूसरा मंत्रिमंडल विस्तार किया जाएगा। 12 सीटों के लिए हो रहे विधानपरिषद चुनाव के बाद उच्च सदन में जाने वाले सदस्यों को भी मंत्रिमंडल में शामिल किया जाएगा। जिसमें सबसे आगे हाल ही में भाजपा में शामिल होकर विधानपरिषद सदस्य बनने जा रहे पूर्व आईएएस अरविन्द कुमार शर्मा का हैं।

ये भी पढ़ें:‘तांडव’ वेब सीरीज पर हंगामे को लेकर साक्षी महराज बोले- ‘राम जी के फ़ॉलोअर्स बढ़ रहे’

राजनीतिक गलियारों में इस बात की चर्चा जोरों पर है

राजनीतिक गलियारों में इस बात की चर्चा जोरों पर है कि 28 जनवरी को विधानपरिषद चुनाव होने के बाद संगठन में कार्य करने वालों को सत्ता में एडजस्ट किए जाने की पूरी तैयारी है। साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव और इस साल पंचायत चुनाव को देखते हुए ही मंत्रालयों में फेरबदल को लेकर सरकार और संगठन में बदलाव की तैयारी चल रही है।

दरअसल पिछले साल योगी कैबिनेट के दो मंत्रियों चेतन चौहान और कमल रानी वरुण का कोरोना की वजह से निधन हो गया था। जिसके बाद से यह दोनों मंत्रिपद खाली चल रहे हैं। साथ ही कुछ मंत्रियों को उनके कमजोर कार्यशैली को देखते हुए उन्हे हटाकर संगठन की जिम्मदारी दी जा सकती है। चर्चा यह भी है कि नए मंत्रिमंडल में छह से सात नए चेहरों को मौका मिल सकता है। गुजरात कैडर के आईएएस रहे अरविंद शर्मा को एमएलसी चुनाव के बाद यूपी सरकार में अहम जिम्मेदारी देना तय माना जा रहा हैं। मंत्रिमंडल में अरविन्द शर्मा के अलावा लक्ष्मण आचार्य, सलिल विश्नोई को मौका दिया जा सकता है। इन तीनों नेताओं ने प्रधानमंत्री मोदी से नजदीक होने के कारण देखा जा रहा है।

सीएम योगी पीएम मोदी से दिल्ली में मिल चुके हैं

पिछले सप्ताह की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रधानमंत्री मोदी से दिल्ली में मिल चुके हैं। संभावना व्यक्त की जारही कि इसके पीछे यूपी की राजनीति और आगामी चुनाव की रूपरेखा तय करना रहा होगा। केन्द्र में प्रधानमंत्री मोदी भी अपने मंत्रिमंडल मे आरके सिंह हरदीप पुरी और एसके जयषंकर को भी षामिल कर चुके हैं।

वहीं दूसरी तरफ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का 22 से 24 जनवरी तक लखनऊ में रहने का कार्यक्रम है। नड्डा मंत्रिमंडल विस्तार और पंचायत चुनाव को लेकर मंथन करने के लिए ही वह लखनऊ आ रहे हैं।

ये भी पढ़ें:पूर्व भारतीय क्रिकेटर की तबीयत खराब, अस्पताल में भर्ती, पत्नी ने बताया हाल

यूपी में संख्या के आधार पर 60 मंत्रियों की संख्या हो सकती है

यूपी में संख्या के आधार पर 60 मंत्रियों की संख्या हो सकती है। इस समय मंत्रिमंडल में 54 सदस्य हैं जिनमें 23 कैबिनेट 9 स्वतंत्र प्रभार तथा 22 राज्य मंत्री हैं। इससे पहले 22 अगस्त 2019 को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के पहला मंत्रिमंडल विस्तार किया था। उस दौरान उनके मंत्रिमंडल में 56 सदस्य थें। इस कार्यक्रम में शपथ लेने वाले कुल 23 लोगों में 18 नए चेहरे शामिल किए गए थें।

रिपोर्ट- श्रीधर अग्निहोत्री

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story