सीएम केजरीवाल ने की अमित शाह से मुलाक़ात: ऐसी रही बैठक, चर्चा में रहा ये मुद्दा

आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली में तीसरी बार मुख्यमंत्री बने अरविंद केजरीवाल बुधवार को गृह मंत्री अमित शाह से मिलने उनके आवास पहुंचे।

Published by Shivani Awasthi Published: February 19, 2020 | 4:52 pm
Modified: February 19, 2020 | 5:18 pm

CM Arvind kejriwal meets amit shah in Delhi

दिल्ली: बहुमत से जीत के बाद आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली में तीसरी बार मुख्यमंत्री बने अरविंद केजरीवाल बुधवार को गृह मंत्री अमित शाह से मिलने उनके आवास पहुंचे। गृह मंत्री संग दिल्ली के सीएम की इस बैठक पर सबकी निगाहें बनी हुई थीं। दोनों दलों के शीर्ष नेताओं और राजनीतिक के इन दोनों दिग्गजों के बीच बातचीत का मुद्दा रहा दिल्ली का विकास। इस मुलाक़ात में दिल्ली के विकास के मुद्दे पर सहयोग को लेकर चर्चा हुई। जानकारी के मुताबिक, दोनों के बीच 15 मिनट तक बातचीत हुई।

चुनाव जीत के बाद पहले बार मिले शाह-केजरीवाल

दरअसल, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल आज चुनाव में जीत के बाद पहली बार गृह मंत्री अमित शाह से मिले। इसके लिए सीएम केजरीवाल गृह मंत्री के कृष्ण मेनन स्थित आवास पहुंचे। जहां दोनों नेताओं के बीच शिष्टाचार मुलाक़ात 15 मिनट तक चली।

ये भी पढ़ें: शाहीन बाग पहुंचे SC के नियुक्त मध्यस्थ! कहा-हम आपकी बात सुनने आए हैं

इस मुद्दे पर हुई चर्चा:

बताया जा रहा है कि सीएम केजरीवाल ने दिल्ली के विकास में सहयोग को लेकर गृह मंत्री से बातचीत की। बता दें कि इससे पहले शपथ ग्रहण समारोह में भी मंच से सीएम केजरीवाल ने प्रधानमंत्री मोदी से दिल्ली के विकास में सहयोग करने के साथ ही आशीर्वाद मांगा था।

ये भी पढ़ें: राम मंदिर पर खुशखबरी: निर्माण के लिए बड़ा दिन आज, होगा ये खास काम

15 मिनट हुई दोनों नेताओं के बीच बातचीत:

गृहमंत्री के साथ हुई बैठक के बाद सीएम केजरीवाल ने एक बयान में कहा कि गृह मंत्री अमित शाह के मुलाकात हुई। यह बहुत अच्छी और फलदायी बैठक थी। दिल्ली से जुड़े कई मुद्दों पर चर्चा की। हम दोनों सहमत थे कि हम दिल्ली के विकास के लिए मिलकर काम करेंगे।

दिल्ली में होगा बड़ा ऐलान: ये CM पूरा करेगा इन 5 खास मुद्दों को

मुलाक़ात के बाद की प्रेस वार्ता:

बैठक के बाद प्रेस कांफ्रेंस करते हुए केजरीवाल ने कहा कि आज हमने दिल्ली सरकार के सभी हेड ऑफ डिपार्टमेंट, सभी सचिवों और सभी मंत्रियों की बैठक बुलाई। इसमें हमारी 10 गारंटियों पर विस्तार से चर्चा हुई। हर गारंटी का जो भी संबंधित विभाग है उनको निर्देश दिए गए हैं कि एक हफ्ते के अंदर हर विभाग अपनी योजना बनाएगा।

उन्होंने बताया कि संबंधित विभाग बताएगा कि उस गारंटी को वो कितने साल या महीनों में पूरा करेंगे, उसके लिए कितने पैसे की जरूरत होगी। प्रत्येक विभाग की मांग को देखते हुए बजट तैयार किया जाएगा, बजट में गारंटियों से संबंधित जितने पैसे की जरूरत होगी, उसे इसमें शामिल किया जाएगा

गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी ने हाल ही में हुए दिल्ली विधानसभा चुनावों में भारी बहुमत से जीत दर्ज कराई थी। इसमें दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों में आप ने 62 पर जीत हासिल की है, जबकि बीजेपी तमाम प्रयासों के बावजूद आठ सीटों पर ही अपना कब्जा जमा सकी।

ये भी पढ़ें: बदलेगा आपके बैंक का नाम: पड़ेगा ऐसा असर, सबकुछ हो जाएगा परिवर्तित

दोस्तोंं देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।