Top

अखिलेश प्रदेश के किसी गांव में मुंह दिखाने लायक नहीं: योगी

2013 में महाकुंभ में अव्यवस्था थी, भगदड़ में लोग मरे थे। इस बार दोगुने से ज्यादा श्रद्धालु कुंभ में आए। सपा-बसपा को जिताने का मतलब अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारने जैसा है। उत्तर प्रदेश की जनता जागरुक है, ऐसा कभी नहीं करेगी।

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 12 March 2019 3:46 PM GMT

अखिलेश प्रदेश के किसी गांव में मुंह दिखाने लायक नहीं: योगी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बयान में कहा है कि गरीब को मकान, शौचालय, बिजली कनेक्शन, रसोई गैस कनेक्शन, पांच लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा कवर, किसान को 6 हजार रुपए सालाना किसान सम्मान निधि जैसे अभिनंदनीय कार्य केवल प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में ही संभव है।

उन्होंने कहा कि स्किल डेवलेपमेंट के माध्यम से नौजवानों को रोजगार, भारत को दुनिया की आर्थिक शक्ति के रूप में स्थापित करने का काम, आतंरिक और वाह्य सुरक्षा, जीरो टॉलरेंस की नीति पर विगत पांच वर्षों में बहुत सारे कार्य हुए हैं। योगी ने कहा कि मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा प्रचंड बहुमत से 2019 के चुनाव को जीतेगी।

ये भी पढ़ें- बीजेपी पर आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप, कांग्रेस ने की शिकायत

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के बयान पर कटाक्ष करते हुए योगी ने कहा कि अखिलेश अपने मकान से बाहर निकले तो गांव की जानकारी मिलेगी। मैं सच्चाई बताऊं तो अखिलेश मुंह दिखने के लिए लायक नहीं रहेंगे।

हमने 23 महीने में दिए 23 लाख पीएम आवास

योगी जी ने कहा कि सच्चाई यह है कि अखिलेश की सरकार के समय उत्तर प्रदेश में पीएम आवास योजना (शहरी) में केवल 20 हजार आवास योजना सेंशन हुए थे, दो साल का समय इनके पास था। जबकि हमारी सरकार के समय अभी 23 महीने में 11 लाख से अधिक आवास गरीबों को मिल चुका है। उन्होंने कहा कि इसी तरह पीएम आवास योजना (ग्रामीण) में अखिलेश की सरकार ने दो साल में 63 हजार से ज्यादा आवास नहीं दे पाई थी। जबकि हमारी सरकार ने 23 महीने में 12 लाख आवास गरीबों को वितरित हो चुका है, जिसमें 10 लाख आवास बन चुके हैं।

‘’सपा ने 40 लाख तो हमारी सरकार ने बनवाए 1.71 करोड़ शौचालय’’

योगी ने कहा कि अखिलेश ने दो साल में केवल 40 लाख शौचालय बनाए। हमारी सरकार ने दो साल में 1.71 करोड़ शौचालय बनाए हैं। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार में किसी भी गरीब परिवार को बिजली कनेक्शन नहीं मिला थे, जबकि हमारी सरकार ने 1 करोड़ से अधिक गरीबों को बिजली कनेक्शन उपलब्ध करवाया है।

ये भी पढ़ें- अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम: अग्निशमन उपकरण खराब, मैच पर रोक

योगी ने कहा कि पहले गेंहू का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1460 रुपये था, जिसे पिछले साल प्रधानमंत्री मोदी जी ने बढ़ाकर 1840 रुपये कर दिया है। उन्होंने कहा कि सपा की सरकार में किसानों से न तो धान खरीदा जा रहा था और न तो गेहूं खरीद जाता था। आलू, दलहन, तिलहन की कोई खरीद नहीं हो रही थी। योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के अंदर खरीद पालिसी को लेकर कोई व्यवस्था नहीं थी। धान और गेहूं की उपज को अखिलेश सरकार सीधे नहीं खरीदती थी, एमएसपी तब तक बेईमानी है, जब तक आप किसान के उपज को नहीं खरीदते हैं। उन्होंने ने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों से सीधे खरीद करना शुरू किया। 2017 में सीधे किसानों से 37 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीदा गया। 2018 में 53 लाख मिट्रिक टन की खरीद हुई।

अखिलेश सरकार का बकाया गन्ना भुगतान हमने किया है

योगी ने कहा कि 2011 से लेकर 2017 तक किसानों को गन्ना मूल्या का भुगतान नहीं हो सका था। जबकि हमारी सरकार ने साल 2011-12 से लेकर 2017-18 तक पूरा भुगतान किया है। गन्ना किसानों को 56 हजार करोड़ रुपए गन्ना मूल्य का भुगतान हमारी सरकार ने किया। अखिलेश यादव अपने पांच साल के कार्यकाल के दौरान इतना गन्ना मूल्य का भुगतान नहीं किए होंगे, जितना हमारी सरकार ने डेढ़ साल के दौरान किया है।

इस साल 48 लाख मिट्रीक टन धान की खरीदी की गई है

योगी ने कहा कि इसी तरह धान की खरीद प्रक्रिया से किसानों के जीवन में खुशहाली आई है। 2017-18 में 42 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद सीधे किसानों से सरकार ने की। किसानों को 48 घंटे में पैसे का भुगतान उनके बैंक खातों में किया गया है। इस वर्ष (2018-19) सरकार ने 48 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी की गई है।

20 लाख हेक्टेयर जमीन को सिंचन की अतिरिक्त क्षमता उपलब्ध करवाएंगे

योगी ने कहा कि सपा-बसपा की सरकारें अपने 10 साल के कार्यकाल में जो काम नहीं कर पाई, हमारी सरकार ने केवल डेढ़ वर्ष के दौरान कर दिखाया। हमारी सरकार ने प्रदेश में 2 लाख हेक्टेअर अतिरिक्त सिंचन की क्षमता अर्जित की है और दिसंबर 2019 में हम प्रदेश में 20 लाख हेक्टेयर अतिरिक्त जमीन को सिंचन क्षमता उपलब्ध करवाने जा रहे हैं। जिसमें बाणसागर की परियोजना पहले पूरी हो चुकी है, सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना, मध्य गंगा राष्ट्रीय परियोजना, अर्जुन सहायक परियोजनाओं शामिल हैं। इन परियोजनाओं के पूरा हो जाने पर प्रदेश के 20 लाख हेक्टेयर से अधिक कृषि योग्य भूमि को सिंचाई की अतिरिक्त सुविधा प्राप्त होने लगेगी। प्रदेश में 4 करोड़ किसानों को स्वाइल हेल्थ कार्ड बांटे जा चुके हैं।

ये भी पढ़ें- सपा ने जारी किए दो और प्रत्याशी के नाम, RLD के प्रदेश अध्यक्ष ने BJP पर बोला हमला

कुंभ का सफल आयोजन अपने आप में बड़ी बात है

योगी ने कहा कि हमारी सरकार का कार्यकाल दो वर्ष होने जा रहा है, एक भी दंगा नहीं हुआ। ये जो गुंडे, अपराधी इनकी संरक्षण में बड़े-बड़े अपराध करते थे, आज उनके बारे में हर व्यक्ति जानता है कि वे कहां चले गए। कुंभ का आयोजन सफलता पूर्वक संपन होना अपने आप में बड़ी बात हैं। 2013 में महाकुंभ में अव्यवस्था थी, भगदड़ में लोग मरे थे। इस बार दोगुने से ज्यादा श्रद्धालु कुंभ में आए। सपा-बसपा को जिताने का मतलब अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारने जैसा है। उत्तर प्रदेश की जनता जागरुक है, ऐसा कभी नहीं करेगी।

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story