रामलीला मैदान में सोनिया गांधी बोलीं- देश में अंधेर नगरी, चौपट राजा जैसा माहौल

मोदी सरकार के खिलाफ आर्थिक मंदी, किसान विरोधी नीतियों, महिलाओं के खिलाफ हिंसा, बेरोजगारी और संविधान पर हमले को लेकर कांग्रेस ने शनिवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में बड़ी रैली की।

Published by Aditya Mishra Published: December 14, 2019 | 9:28 am
Modified: December 14, 2019 | 2:30 pm

नई दिल्ली: मोदी सरकार के खिलाफ आर्थिक मंदी, किसान विरोधी नीतियों, महिलाओं के खिलाफ हिंसा, बेरोजगारी और संविधान पर हमले को लेकर कांग्रेस ने शनिवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में बड़ी रैली की।

इस रैली में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री और पार्टी के दिग्गज नेता शामिल रहे।

ये भी पढ़ें…कांग्रेस नेता का बड़ा आरोप, किसानों को हमेशा धोखा देती है ये पार्टी

UPdates…

मोदी-शाह एक एजेंडा- लोगों को लड़वाओ और असली मुद्दों को छुपाओ

मोदी-शाह का सिर्फ एक ही लक्ष्य है। उनका एक ही संकीर्ण एजेंडा है, लोगों को लड़वाओ और असली मुद्दों को छुपाओ। नाइंसाफी सहना सबसे बड़ा अपराध है।

मोदी सरकार को अपनी आवाज बुलंद करके बताइए कि हम लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए कोई भी कुर्बानी देने के लिए तैयार हैं। संविधान की रक्षा के लिए संघर्ष को तैयार हैं। कांग्रेस ने जनता के हित में हमेशा लड़ाई लड़ी आज भी कांग्रेस पार्टी पीछे हटने वाली नहीं। हम अपना कर्तव्य निभाते रहेंगे।

सोनिया बोलीं- नागरिकता कानून भारत की आत्मा को तार-तार कर देगा

महिलाओं के ऊपर जो जुर्म आज हो रहा है। उसको देखकर हमारा सिर झुक जाता है। आज तो अंधेर नगरी चौपट राजा जैसा माहौल है, पूरा देश पूछ रहा है कि सबका साथ सबका विश्वास कहां है। रोजगार कहां चले गए।

अर्थव्यवस्था क्यों तबाह हो गई। आप ही बताइए कि इस बात की जांच होनी चाहिए कि जिस काला धन लाने के लिए नोटबंदी की थी वो कालाधन बाहर क्यों नहीं आया। वो कालाधन किसके पास है। जीएसटी के बाद भी मोदी सरकार का खजाना खाली क्यों हो गया।

हमारी नवरत्न कंपनियां क्यों बेची जा रही हैं और किसे बेची जा रही हैं। जनता का पैसा बैंकों तक में सुरक्षित नहीं। मोदी-शाह कहते हैं यही है अच्छे दिन। आज का माहौल ऐसा हो गया कि जब मन करे कोई धारा लगा दो, हटा दो, प्रदेश का नक्शा बदल दो, बिना बहस कोई विधेयक बदल दो, जहां चाहो राष्ट्रपति शासन लगा दो। ये हर रोज संविधान की धज्जियां उड़ाते हैं। मोदी-शाह को इस बात की कोई परवाह नहीं है कि ये जो नागरिकता कानून लाए हैं वो भारत की आत्मा को तार-तार कर देगा।

ये भी पढ़ें…कांग्रेस का नागरिकता संशोधन बिल को लेकर प्रदर्शन कर जलाई कॉपी, देखें तस्वीरें

सोनिया गांधी ने पूछा क्या आप बदलाव के लिए तैयार हैं

आज जब मैं किसान भाइयों की दशा देखती हूं तो बहुत तकलीफ होती है। उन्हें अपने खेतों के लिए सही समय पर बीज नहीं मिलता आसानी से खाद नहीं मिलता. पानी-बिजली नहीं मिलती। फसल के उचित दाम नहीं मिलते।

हमारे कामगार भाई-बहन दिनरात मजदूरी में लगे रहते हैं। सर्दी-गर्मी की परवाह किए बिना काम करते रहते हैं। फिर भी उन्हें दो जून की रोटी नहीं मिलती। छोटे कारोबारी मोदी सरकार की गलत नीतियों के कारण तबाह हो गए हैं. वो बैंक कर्ज नहीं दे पा रहे, पूरे परिवार के साथ आत्महत्या करने की खबरें आ रही हैं।

सोनिया गांधी बोलीं- देश की हालत बहुत गंभीर हो गई है

सोनिया गांधी ने कहा कि आप हम सब इसलिए यहां आए हैं क्योंकि काफी समय से देश की हालत बहुत गंभीर हो गई है। हमारी जिम्मेदारी बनती है कि अपने घरों से बाहर निकलें और इसके खिलाफ आंदोलन करें। आज वही वक्त आ गया है। देश को बचाना है तो हमें कठोर संघर्ष करना होगा। आज हमारे युवा। इस तरह की बेरोजगारी का सामना कर रहे हैं जैसा दशकों में नहीं हुआ। लगी लगाई नौकरियां जा रही हैं। उनके सामने अंधेरा ही अंधेरा है।

राहुल गांधी बोले- मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं

इतने छोटे मैदान में इतने सारे बब्बर शेर और शेरनियां कैसे खड़े कर दिए। यह हमारा कांग्रेस का कार्यकर्ता किसी से नहीं डरता।एक इंच पीछे नहीं हटता। देश के लिए अपनी जान देने से नहीं डरता। उन लोगों ने मुझे कहा कि माफी मांगिए। मांफी मांगू, मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं है। मेरा नाम राहुल गांधी है। मैं मर जाउंगा पर माफी नहीं मांगूगा।

माफी नरेन्द्र मोदी को मांगनी है। मोदी को देश से माफी मांगनी है। अमित शाह को देश से माफी मांगनी है। क्यों मांगनी है यह बताने आया हूं। इस देश की आत्मा, इस देश की शक्ति इसकी अर्थव्यवस्था थी। पूरी दुनिया देखती थी कि इंडिया में क्या हो रहा है।

सत्ता के लिए सबकुछ बर्बाद कर देंगे मोदी: राहुल

राहुल गांधी ने कहा कि सत्ता में बने रहने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी सबकुछ बर्बाद कर देंगे। उन्होंने देश की अर्थव्यवस्था को चौपट कर दिया है और दिनभर सिर्फ टीवी पर दिखते रहते हैं। राहुल ने कहा कि मोदी ने पूर्वोत्तर को जला दिया है। समाज को बांट दिया है। सत्ता के लिए कुछ भी करेंगे मोदी।

 मोदी ने अडाणी को 50 ठेके दिए: राहुल

राहुल गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी पर जोरदार हमला बोला है और कहा है कि उन्होंने अपने एक-दो कारोबारी मित्रों की मदद करने के लिए देश का पैसा बैंकों से निकालकर उन्हें दे दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि पीएम ने अडाणी को 50 ठेके दिए।

भूपेश बघेल बोले- कांग्रेस ही एक विकल्प

भूपेश बघेल ने अपने भाषण की शुरुआत करते हुए कहा कि आज ऐसा लगता है कि बंदर के हाथ में उस्तरा आ चुका है। ये केवल काटना और बांटना जानते हैं। नोटबंदी की वजह से लोग लाइन में खड़े मर गए।

ये जीएसटी लाए व्यापारी आत्महत्या करने लग गए। ये 370 लाए पूरे कश्मीर में ताला लग गया। आज कैब लाए नॉर्थ ईस्ट जलने लगा। अब ये पूरे देश में एनआरसी लाना चाहते हैं ये पूरे देश में आग लगाना चाहते हैं। इस रैली से पूरे देश को संदेश देना है कि कांग्रेस ही एक विकल्प है। और हमारे नेता राहुल गांधी हैं।

सचिन पायलट बोले- सरकार सिर्फ कुछ लोगों का स्वार्थ पूरा कर रही

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि आज संदेश रामलीला मैदान से निकलकर पूरे देश में जाना चाहिए। सरकार जो संविधान के खिलाफ काम कर रही है उसके खिलाफ आप सबको एक साथ मिलकर एकजुटता से आगे बढ़ना पड़ेगा।
आज ठीक समय था। चुनाव के बाद जनता को उम्मीद थी कि महंगाई कम होगी, रोजगार बढ़ेगा। लेकिन सरकार ने उम्मीदों पर चोट की। सरकार सिर्फ कुछ लोगों का स्वार्थ पूरा कर रही है।

बदला नहीं बदलाव जरूरी है: सिंधिया

रैली में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि हम पूरे देश को संदेश देना चाहते हैं कि बदला नहीं बदलाव जरूरी है। युवा बेरोजगार है, किसान कर्जदार है, गरीब लाचार है। घरेलू उत्पादन का दर गिर रहा है। बैंक घोटालों पर गरीबों का पैसा चंदे के आधार पर वसूला जा रहा है। अगर यह फिल्म का दृश्य है तो उस फिल्म का शीर्षक भी है।

उस फिल्म का शीर्षक है सबकुछ ठीक है। किसान को दाम नहीं मिल रहा, नवजवान को रोजगार नहीं मिल रहा। अच्छे दिन आज कच्चे साबित हो चुके हैं। तुम्हारे फाइल में गांव का मौसम गुलाबी है। मगर ये आंकड़े झूठे हैं। ये दावा किताबी है। देश के अन्नदाता पेड़ों से लटक कर सो रहा है। अच्छे दिन के सपने देख बस बेबस होकर राह देख रहा है। अब बदलाव की जरूरत है ।

UP में बेटियां सुरक्षित नहीं: प्रियंका गांधी

प्रियंका गांधी ने अपने भाषण की शुरुआत करते हुए कहा कि मेरे नेता राहुल गांधी हैं। उन्होंने कहा कि ये देश अनोखे स्वतंत्रता संग्राम से उभरा। ये देश प्रेम का देश है, अहिंसा का देश है। एक दूसरे का हाथ थामने का है ये देश।  प्रियंका गांधी ने कहा कि एक तरफ आपसे काम छीना जा रहा है और दूसरे तरफ आपसे नौकरी छीनी जा रही है और हर जगह लिखा हुआ मिलता है ‘मोदी है तो मुमकिन है।

प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी के 6 सालों के राज के बाद जीडीपी पाताल पर है। छोटा व्यापारी नाखुश है। उन्होंने बीजेपी के नारे मोदी हैं तो मुमकिन है पर तंज कसते हुए कहा कि बीजेपी है तो 4 करोड़ नौकरियां नष्ट हैं।

भाजपा है तो 100 रुपये प्याज़ मुमकिन है। भाजपा है तो 4 करोड़ नौकरी नष्ट होना मुमकिन है। भाजपा है तो 15000 किसानों की आत्महत्या मुमकिन है। भाजपा है जो कानून देश के खिलाफ है मुमकिन है। भाजपा है तो हमारे पीएसयू का बिकना मुमकिन है।

बड़े-बड़े उद्योगपतियों के कर्ज माफ हो रहे हैं: प्रियंका

प्रियंका ने कहा कि बड़े-बड़े उद्योगपतियों के कर्ज माफ हो रहे हैं। इस देश में हो रहे अत्याचार को हमें रोकना है। प्रियंका ने अपने भाषण में उन्नाव की घटना का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि जब मैंने एक छोटी सी बच्ची से पूछा कि बड़ी होकर तुम क्या बनोगी तो पहले तो उसने कुछ नहीं किया, लेकिन बाद में उसने कहा कि जो वकील से बड़ा होता है। यानी वह जज बनना चाहती है। उन्होंने कहा कि यूपी में बेटियां सुरक्षित नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि उसके पिता को देख कर मुझे आपने पिता की याद आई है| इस देश मे जो हो रहा है उसे रोकने का हमारा कर्तव्य है जो आज अन्याय के खिलाफ नहीं लड़ेंगे, वो इतिहास में कायर कहलाएंगे।

मोदी सरकार ने भारत की अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर दिया है: चिदंबरम

इससे पहले लोगों को संबोधित करते हुए पी चिदंबरम ने कहा कि 6 महीने में मोदी सरकार ने भारत की अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर दिया है। फिर भी मंत्री पूरी तरह से क्लूलेस हैं। कल वित्त मंत्री ने कहा कि सब कुछ ठीक है, हम दुनिया में शीर्ष पर हैं। केवल एक चीज जो उन्होंने नहीं कही, वह है ‘अच्छे दिन आने वाले हैं।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि दिल्ली के ऐतिहासिक रामलीला मैदान में कांग्रेस पार्टी की ओर से आयोजित भाजपा सरकार की तानाशाही, I.C.U में पहुंचा दी गई अर्थव्यवस्था और लोकतंत्र की हत्या के विरोध में जनसभा को संबोधित करूंगा।

ये भी पढ़ें…गृहमंत्री की लोकसभा में ललकार! कश्मीर के हालात सामान्य, लेकिन कांग्रेस के नहीं