मोतीलाल वोरा का बड़ा बयान, कांग्रेस को इसी सप्ताह मिल सकता है नया अध्यक्ष

राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद मोतीलाल वोरा ही पार्टी के संभावित अंतरिम अध्यक्ष होंगे। वोरा का कहना है कि पार्टी के सामने लाख चुनौतियां आ जाएं लेकिन पार्टी उन सबका डटकर सामना करेगी।

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव नतीजों के बाद से कांग्रेस की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। पार्टी में लगातार इस्तीफे देने का सिलसिला जारी है। ऐसे में कांग्रेस के लिए सबसे जरुरी है राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर नई नियुक्ति करना। फ़िलहाल तब तक के लिए कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव (प्रशासन) मोतीलाल वोरा का नाम राहुल गांधी के त्यागपत्र के बाद पार्टी के संभावित अंतरिम अध्यक्ष के रूप में लिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस में लगातार इस्तीफे का दौर जारी, सिंधिया के बाद इन्होंने छोड़ा पद

कौन हैं मोतीलाल वोरा?

  • 90 साल के मोतीलाल वोरा मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। वह 1985 में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रहे।
  • वोरा 1985 में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। 1993 से 1996 तक उन्होंने यह जिम्मेदारी संभाली।
  • मोतीलाल वोरा वर्तमान समय में राज्यसभा के सदस्य हैं। वह 12वीं लोकसभा के सदस्य भी रह चुके हैं।
  • वोरा ने पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव के पद पर रहते हुए यूपी के प्रभारी की जिम्मेदारी संभाली है।

यह भी पढ़ें: आगरा: नाले में गिरी लखनऊ से दिल्ली आ रही बस, 29 की मौत, 20 घायल

कांग्रेस चुनौतियों का डटकर करेगी सामना

कयास लगाए जा रहे हैं कि राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद मोतीलाल वोरा ही पार्टी के संभावित अंतरिम अध्यक्ष होंगे। वोरा का कहना है कि पार्टी के सामने लाख चुनौतियां आ जाएं लेकिन पार्टी उन सबका डटकर सामना करेगी। वहीं, वोरा ने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर नई नियुक्ति के संदर्भ में कहा कि कांग्रेस वर्किंग कमिटी कि बैठक में अध्यक्ष पद के लिए चुनाव किया जाएगा। बैठक इसी हफ्ते हो सकती है।

यह भी पढ़ें: RAW के पूर्व अधिकारी ने हामिद अंसारी पर लगाए गंभीर आरोप

पार्टी को मजबूत करने के लिए वोरा ने कहा कि पार्टी का बूथ, ब्लॉक, जिला और प्रदेश स्तर पर बने कमिटियों के ढांचे को पार्टी फिर से सक्रिय करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि इसमें कोई शक नहीं कि पार्टी के सामने चुनौतियां बड़ी हैं लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि पार्टी उनसे हार गई है।