Top

कांग्रेस ने '24 साल' की छात्र नेता को दिया यूपी विधानसभा उपचुनाव के लिए टिकट

शुक्रवार देर शाम कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश विधानसभा उपचुनावों के लिए पांच और सीटों पर उम्मीदवारों का एलान कर दिया। इनमें से कानपुर जिले की गोविंदनगर सीट से कांग्रेस ने एनएसयूआई नेता करिश्मा ठाकुर को मैदान में उतारा है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 13 Sep 2019 6:59 PM GMT

कांग्रेस ने 24 साल की छात्र नेता को दिया यूपी विधानसभा उपचुनाव के लिए टिकट
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ डेस्क : शुक्रवार देर शाम कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश विधानसभा उपचुनावों के लिए पांच और सीटों पर उम्मीदवारों का एलान कर दिया।

इनमें से कानपुर जिले की गोविंदनगर सीट से कांग्रेस ने एनएसयूआई नेता करिश्मा ठाकुर को मैदान में उतारा है।

दिलचस्प बात ये है कि करिश्मा ठाकुर के टिकट का जब एलान हुआ तब उनकी उम्र 25 साल से दो दिन कम यानी 24 साल थी।

पढ़ें...

दिल्ली: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सुनवाई के लिए कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को कोर्ट लाया गया

महागठबंधन पर खींचतान: तेजस्वी के नाम पर कांग्रेस बिदकी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने मोटर वाहन संशोधन कानून पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखा पत्र

रविवार 15 सितंबर को वो 25 साल की जाएंगी जो चुनाव लड़ने की न्यूनतम उम्र होती है।

2017 में इस सीट से बीजेपी के सत्यदेव पचौरी ने जीत दर्ज की थी. वो अब कानपुर से लोकसभा चुनाव जीत कर सांसद बन चुके हैं।



कौन हैं करिश्मा ठाकुर?

करिश्मा ठाकुर वर्तमान में कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई की राष्ट्रीय महासचिव हैं और दिल्ली विश्वविद्यालय से एलएलबी की पढ़ाई कर रही हैं।

करिश्मा ने 2013 में दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव में सचिव के पद पर जीत दर्ज की थी।

उनके पिता यूपी की राजनीति में सक्रिय हैं। वे लोकसभा और विधानसभा का चुनाव लड़ चुके हैं, हालांकि कामयाबी नहीं मिली।

संयोग से करिश्मा ठाकुर के पति विपिन सिंह भी एनएसयूआई नेता हैं और वर्तमान में एनएसयूआई मुम्बई के अध्यक्ष हैं। दोनों की शादी इसी साल फरवरी में हुई है।

पढ़ें...

सिंध प्रांत से राजनीतिक कार्यकर्ताओं का अपहरण कर रही है पाक सेना- वर्ल्ड सिंधी कांग्रेस

प्रियंका गांधी का मिला साथ:

फरवरी में जब लोकसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी लखनऊ में पार्टी कार्यकर्ताओं से मिल रही थीं उसी क्रम में करिश्मा ने प्रियंका गांधी से मुलाकात की थी और लगे हाथ अपनी शादी का कार्ड (निमंत्रण पत्र) भी प्रियंका को थमा दिया था।

जाहिर है प्रियंका गांधी उनकी शादी में तो नहीं पहुंची लेकिन उपचुनाव की टिकट के लिए जब करिश्मा ठाकुर ने आवेदन किया तो इस बार प्रियंका का आशीर्वाद मिल गया।

पढ़ें...

यूपी की बीजेपी सरकार का महिला सुरक्षा से कोई वास्ता नहीं: प्रियंका गांधी

100 दिन पूरे होने का जश्न मना रही BJP, प्रियंका गांधी ने कहा- इकोनॉमी में भरोसा बनाए सरकार

बेहद कठिन चुनौती:

हालांकि जनता का आशीर्वाद मिलना अभी बाकी है और उत्तर प्रदेश की मौजूदा राजनीतिक परिस्थिति में कांग्रेस उम्मीदवारों के लिए विधानसभा उपचुनाव में जीत दर्ज कर पाना एक बेहद कठिन चुनौती है। देखना यही है कि क्या कोई करिश्मा होता है?

पढ़ें...

27 AUG: सीएम योगी और प्रियंका गांधी रायबरेली में, सियासत गर्म

बेरोजगारी और महिलाओं के खिलाफ अत्याचार के मुद्दे पर चुनाव लड़ूंगी:

टिकट का एलान होने के बाद करिश्मा ने कहा, "युवाओं और महिलाओं को कांग्रेस ने हमेशा आगे बढ़ाने का काम किया है"। गोविंदनगर का विकास नहीं हुआ।

मैं युवाओं की बेरोजगारी और महिलाओं के खिलाफ अत्याचार के मुद्दे पर चुनाव लड़ूंगी।''

गोविंदनगर सीट के अलावा कांग्रेस ने शुक्रवार को इगलास, टूंडला, गोविंदनगर और घोसी सीटों पर उम्मीदवारों का एलान किए। उपचुनाव की तारीखों का एलान अभी नहीं हुआ है।

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story