Top

कांग्रेस में कोई पॉपुलर था तो वो महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया थे: शिवराज सिंह

कांग्रेस छोड़ने के एक दिन बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया आज भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी के शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ये बीजेपी के लिए और निजी रूप से मेरे लिए खुशी का दिन है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 11 March 2020 10:38 AM GMT

कांग्रेस में कोई पॉपुलर था तो वो महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया थे: शिवराज सिंह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

भोपाल: कांग्रेस छोड़ने के एक दिन बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया आज भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी के शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ये बीजेपी के लिए और निजी रूप से मेरे लिए खुशी का दिन है। आज मुझे राजमाता सिंधिया जी याद पड़ रही हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी परिवार के सदस्य बन गए हैं।

शिवराज ने कहा कि यशोधरा जी यहां हमारे साथ है। पूरा परिवार बीजेपी के साथ है। इनकी परंपरा है कि राजनीति को लोगों की सेवा का माध्यम समझा जाए।

ये भी पढ़ें...ज्योतिरादित्य सिंधिया ने छोड़ी कांग्रेस! MP में बड़ी फूट, क्या यहां भी बनेगी BJP सरकार

उन्होंने कहा कि प्रदेश चुनावों में बीजेपी का नारा था हमारा नेता शिवराज, माफ करो महाराज। अगर कांग्रेस में कोई पॉपुलर है तो वो महाराज (ज्योतिरादित्य सिंधिया) हैं। पूरा परिवार बीजेपी के साथ है।

बीजेपी में शामिल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और नड्डा का शुक्रिया की उन्होंने अपने परिवार में स्थान दिया।

सिंधिया बोले, 'मेरे जीवन में दो तारीखें बहुत महत्वपूर्ण रही हैं। 30 सितंबर 2001 को मैंने अपने पिताजी को खोया, वह जिंदगी बदलने वाला दिन है और उसी के साथ दूसरी तारीख 10 मार्च 2020 जो उनकी 75वीं जन्मतिथि थी।

MP की सियासत हिलाने में इनका हाथ, सिंधिया की पीएम मोदी संग कराई थी बैठक

इस दिन मैंने नया निर्णय लिया। मैंने सदैव माना है कि हमारा लक्ष्य जनसेवा होना चाहिए और राजनीति उसकी पूर्ति करने का माध्यम होना चाहिए, इससे ज्यादा कुछ नहीं। मेरे पिताजी और मुझे जो समय मिला उसमें कांग्रेस के जरिए हमने जनसेवा करने की कोशिश की है।'

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story