Top

कांग्रेस छोड़ BJP में शामिल हो गए ये दिग्गज नेता, जानिए अब कहां हैं और क्या कर रहे

2014 लोकसभा चुनाव से पहले और उसके बाद से कई कांग्रेस नेता भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) में शामिल हुए हैं। मध्य प्रदेश में मचे सियासी घमासान के बीच बुधवार को कांग्रेस छोड़ चुके ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी में शामिल हो गए हैं। पिछले कुछ सालों में देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के कई दिग्गज नेता बीजेपी में शामिल हो गए हैं।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 11 March 2020 10:13 AM GMT

कांग्रेस छोड़ BJP में शामिल हो गए ये दिग्गज नेता, जानिए अब कहां हैं और क्या कर रहे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: 2014 लोकसभा चुनाव से पहले और उसके बाद से कई कांग्रेस नेता भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) में शामिल हुए हैं। मध्य प्रदेश में मचे सियासी घमासान के बीच बुधवार को कांग्रेस छोड़ चुके ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी में शामिल हो गए हैं। पिछले कुछ सालों में देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के कई दिग्गज नेता बीजेपी में शामिल हो गए हैं। आज हम आपको बताते हैं कि बीजेपी में शामिल होने के बाद उनकी राजनीतिक ताकत क्या है, उनका क्या हुआ है और वह इस समय क्या कर रहे हैं।

हेमंत बिस्व शर्मा

हेमंत बिस्व शर्मा पूर्वोत्तर के कद्दावर नेता हैं। वह 2015 में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे। बीजेपी में इनके रुतबे का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि पूर्वोत्तर राज्य में जब भी कोई संकट आता है, तो शर्मा पार्टी की तरफ से ऐक्टिव हो जाते हैं। इसके साथ ही संकटमोचक के रूप में उभरकर सामने आते हैं। असम में शर्मा बीजेपी के भरोसेमंद चेहरों में शामिल हैं। हेमंत बिस्व शर्मा असम सरकार में दूसरे नंबर के मंत्री हैं। उनके पास वित्त, शिक्षा और स्वास्थ्य जैसे अहम विभाग हैं।

रीता बहुगुणा जोशी

कांग्रेस की पूर्व दिग्गज नेता रीता बहुगुणा जोशी 2016 में कांग्रेस का साथ छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गई थीं। उन्होंने 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में लखनऊ कैंट से चुनाव लड़ा था। रीता ने मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव को हराकर यहां से जीत दर्ज की थी। इससे पहले वह इसी सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था और जीत हासिल की थी। रीता बहुगुणा जोशी को योगी आदित्यनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री का पद भी दिया गया था, लेकिन 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने उन्हें इलाहाबाद (अब प्रयागराज) से उम्मीदवार बनाया और उन्होंने जीत हासिल की। यहां से अभी वह सांसद हैं। बता दें कि रीता बहुगुणा जोशी उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री रहे हेमवती नंदन बहुगुणास की बेटी हैं।

यह भी पढ़ें...अभी-अभी ज्योतिरादित्य सिंधिया BJP में शामिल, इन नेताओं ने भी थामा पार्टी का हाथ

जगदंबिका पाल

कांग्रेस के दिग्गज नेता जगदंबिका पाल उत्तर प्रदेश में एक दिन के मुख्यमंत्री रहे हैं। जगदंबिका पाल 2014 में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए थे। वह लगातार दो बार से बीजेपी के टिकट पर डुमरियागंज से सांसद हैं। उत्तर प्रदेश में 1998 में राज्यपाल रोमेश भंडारी ने कल्याण सिंह को मुख्यमंत्री पद से बर्खास्त कर दिया। इसके बाद उन्होंने जगदंबिका पाल को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिला दी। उस समय कल्याण सिंह रातों-रात सत्ता से बेदखल हो गए थे। वर्ष 1998 में तत्कालीन राज्यपाल रोमेश भंडारीने कल्याण सिंह सरकार को बर्खास्त करते हुए लोकतांत्रिक कांग्रेस के जगदंबिका पाल को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलवा दी जिसके बाद बीजेपी इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट चली गई। इस मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कम्पोजिट फ्लोर टेस्ट का आदेश दिया था जिसमें कल्याण सिंह को 225 मत हासिल हुए थे और जगदंबिका पाल को 196 वोट मिले थे।

राधाकृष्ण विखे पाटिल

महाराष्ट्र में दिग्गज नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल पिछले साल कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए। पाटिल ने उस समय कांग्रेस से इस्तीफा दिया था जब वह प्रदेश विधानसभा में विपक्ष के नेता थे। फिलहाल बीजेपी में हाशिए पर चल रहे हैं। उनके महा विकास अघाड़ी में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही हैं।

यह भी पढ़ें...भीड़ ने पुलिस को घसीटकर पीटा, सिर पर किया हमला, बेहोश होने पर छोड़कर भागे

चौधरी बीरेंद्र सिंह

चौधरी बीरेंद्र सिंह हरियाणा में कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे। सिंह ने 2014 में कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए। वह मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में इस्पात मंत्री थे। इस साल जनवरी में बीरेंद्र सिंह ने राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। सिंह ने अपने बेटे बृजेन्द्र सिंह के सांसद बनने के बाद इस्तीफा दिया। पूर्व नौकरशाह एवं बीजेपी नेता बृजेन्द्र सिंह हिसार लोकसभा सीट से सांसद हैं।

नारायण राणे

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे नारायण राणे ने पिछले साल बीजेपी में शामिल हुए थे। कांग्रेस छोड़ने के बाद राणे को बीजेपी के समर्थन से राज्यसभा में चुना गया था। बीजेपी ने अभी राणे को महाराष्ट्र में कोई बड़ी जिम्मेदारी नहीं दी है।

यह भी पढ़ें...भारत में बनने जा रही उड़ने वाली कार, इसकी खासियत जान दंग रह जाएंगे

एसएम कृष्णा

पूर्व विदेश मंत्री रहे एसएम कृष्णा 2017 में कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए थे। कर्नाटक कांग्रेस के कद्दावर नेता एसएम कृष्णा मनमोहन सरकार के दौरान विदेश मंत्री रहे। कर्नाटक विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी छोड़ दी थी,

कर्नाटक के इस कद्दावर नेता के पास अभी कोई अहम जिम्मेदारी नहीं है। वह कांग्रेस के पुराने नेताओं में से एक थे।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story