सुस्त पड़ी कांग्रेस! राहुल तो जाएंगे विदेश, झारखंड में कैसे होगी नैया पार

बता दें कि कांग्रेस स्टार प्रचारकों की दूसरी सूची में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, सचिन पायलट, शत्रुघ्न सिन्हा, कीर्ति आजाद समेत कई और नेताओं के नाम स्टार प्रचारकों की सूची में जोड़ दिया गया है।

Published by Shivakant Shukla Published: November 24, 2019 | 2:46 pm

New Delhi: Congress President Rahul Gandhi leaves after the Congress Working Committee (CWC) meeting, in New Delhi, Saturday, May 25, 2019. Express Photo by Tashi Tobgyal 250519

रांची: झारखंड में चुनाव प्रचार का अंतिम दौर चल रहा है। लेकिन जहां एक तरफ दूसरे राजनीतिक दल पूरे दमखम के साथ प्रचार प्रसार में लगे हैं वहीं कांग्रेस की रणनीति सभी पार्टियों से अलग दिखाई दे रही है। झारखंड में चुनाव प्रचार के लिए तैयार स्टार प्रचारकों की सूची में उम्मीदवारों की मांग पर प्रियंका गांधी का नाम भी जोड़ा गया है लेकिन उनकी ओर से साफ तौर पर झारखंड आने से मना कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें—कांग्रेस का पाक प्रेम! छत्तीसगढ़ के इस कार्यक्रम में दिया पाकिस्तान को न्यौता

इतना ही नहीं, राहुल गांधी ऐसे समय में जब झारखंड़ राज्य के चुनाव चल रहे हैं तब कांग्रेस के बड़े नेता राहुल गांधी के विदेश जानी की तिथि भी तय होने की खबर है जिसके बाद हताश कांग्रेसियों के लिए सोनिया गांधी ने एक बार फिर प्रचार के लिए आने पर हामी भर दी है। इस बीच, सोनिया गांधी के आने की सूचना से कांग्रेसी खुश दिख रहे हैं। वहीं दूसरे चरण के अंत या तीसरे चरण में उनका आगमन होने की संभावना जताई जा रही है।

स्टार प्रचारकों की दूसरी सूची 

बता दें कि कांग्रेस स्टार प्रचारकों की दूसरी सूची में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, सचिन पायलट, शत्रुघ्न सिन्हा, कीर्ति आजाद समेत कई और नेताओं के नाम स्टार प्रचारकों की सूची में जोड़ दिया गया है।

ये भी पढ़ें—देवेन्द्र फडणवीस की पत्नी के आगे फेल ये बड़ी-बड़ी एक्ट्रेसेस, लव केमिस्ट्री दमदार

जानकारी के मुताबिक प्रियंका गांधी वाड्रा ने साफ तौर पर झारखंड आने से मना कर दिया है। संभवत: उनसे इस मुद्दे पर आगे बात भी नहीं होगी। सोनिया, मनमोहन और राहुल के बाद चौथे नंबर पर उनका नाम है। दूसरी ओर, राहुल गांधी इसी दौरान विदेश यात्रा पर जाने वाले हैं। इस कारण उनके आने की संभावना भी कम है। हालांकि इसकी पुख्ता जानकारी अभी नहीं हो सकी है।

वहीं कांग्रेस ने छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, पंजाब और राजस्थान के एक दर्जन से अधिक नेता और मंत्रियों को चुनाव प्रचार में उतार दिया है। कांग्रेस के कई नेताओं ने यह बात कही है कि राहुल और प्रियंका ने हरियाणा में अधिक समय नहीं दिया था जिसका परिणाम सबके सामने है। कहीं झारखंड में भी ऐसा ​ही कुछ देखने को न मिले। हालांकि अब कांग्रेस की रणनीति क्या है ये तो आगे देखने को मिलेगा।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App