CWC मीटिंग: कांग्रेस अध्यक्ष के लिए दलित नाम पर लग सकती है मोहर

पार्टी के नये अध्यक्ष को लेकर मुकुल वासनिक, मल्लिकार्जुन खड़गे, अशोक गहलोत और सुशील कुमार शिंदे सहित कई वरिष्ठ नेताओं के नामों की चर्चा है। सीडब्ल्यूसी की बैठक से एक दिन पहले राहुल गांधी ने पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों की बैठक में कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर अगले कुछ दिनों के भीतर निर्णय हो जाएगा।

CWC मीटिंग में हुई कांग्रेस अध्यक्ष पर चर्चा, इनके नाम पर लग सकती है मोहर

CWC मीटिंग में हुई कांग्रेस अध्यक्ष पर चर्चा, इनके नाम पर लग सकती है मोहर

नई दिल्ली: कांग्रेस की शीर्ष नीति निर्धारण इकाई कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक का पहला राउंड पूरा हो चुका है। ऐसे में अब 5 अलग-अलग ग्रुप्स की मीटिंग चल रही हैं। वहीं, कांग्रेस के प्रमुख प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला का बयान आया है। सुरजेवाला ने बताया कि राहुल गांधी से सीडब्ल्यूसी ने पार्टी अध्यक्ष बने रहने को कहा था। मगर उन्होंने इनकार कर दिया है।

यह भी पढ़ें: जानिए, मोदी की कामयाबी के पीछे प्राणों की आहुति किस-किस ने दी

सुरजेवाला ने आगे बताया कि दूसरी मीटिंग के बाद अध्यक्ष के नाम का ऐलान हो जाएगा। दरअसल, पार्टी में सबका यही मानना है कि राहुल गांधी विपक्ष के सबसे मजबूत नेता हैं।

यह भी पढ़ें: खट्टर के बयान पर भड़कीं स्वाति मालीवाल, बोला- इन पर तो FIR होनी चाहिए

मालूम हो, बैठक में पार्टी संसदीय दल की नेता सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके राहुल गांधी, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी, वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, एके एंटनी, गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे, कई प्रदेश अध्यक्ष और कई अन्य नेता शामिल हुए।

ये हैं अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार

सीडब्ल्यूसी की बैठक से एक दिन पहले राहुल गांधी ने पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों की बैठक में कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर अगले कुछ दिनों के भीतर निर्णय हो जाएगा। बता दें, पार्टी के नये अध्यक्ष को लेकर मुकुल वासनिक, मल्लिकार्जुन खड़गे, अशोक गहलोत और सुशील कुमार शिंदे सहित कई वरिष्ठ नेताओं के नामों की चर्चा है।

यह भी पढ़ें: राजकीय इंटर कॉलेज, निशातगंज में पुरातन छात्र सम्मेलन में पहुंचे डॉ दिनेश शर्मा

राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद से बनी असमंजस की स्थिति और नेतृत्व के संकट को खत्म करने की कोशिश करते हुए कांग्रेस ने सीडब्ल्यूसी की बैठक बुलायी है। पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पहले पार्टी अध्यक्ष की जिम्मेदारी किसी युवा नेता को सौंपने की बात की और फिर महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के नाम की पैरवी की।

हो रही प्रियंका के नाम की पैरवी

वैसे कैप्टन अमरिंदर सिंह अकेले नहीं हैं, जो महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के नाम की पैरवी कर रहे हैं। प्रियंका के नाम की पैरवी पार्टी के कई दूसरे नेता भी कर चुके हैं। हालांकि, इससे पहले खबरें यही आ रही थी कि इस बार गांधी परिवार का कोई भी सदस्य अध्यक्ष पद नहीं संभालेगा। मगर अब देखने वाली बात होगी कि आखिर इसकी कमान किसको सौंपी जाती है।