केजरीवाल ने इस बात के लिए केंद्र को दिया क्रेडिट, कहा इसी से आया ये आंकड़ा

अरविन्द केजरीवाल ने कहा है कि केंद्र सरकार की ओर से परमिशन मिली है, ढाई महीने पहले हमारी सरकार ने ही इस थैरेपी का इस्तेमाल किया था। लोगों को इसको लेकर काफी परेशानी हो रही थी, इसलिए सरकार ने प्लाज्मा बैंक बनाने का फैसला लिया है।

Published by Rahul Joy Published: June 29, 2020 | 2:57 pm
Modified: June 29, 2020 | 2:58 pm

नई दिल्ली:  पूरे देश में कोरोना वायरस का आतंक फैला हुआ है और यह आतंक रुकने का नाम नहीं ले रहा है। इसी में दिल्ली में सबसे ज्यादा संक्रमित मामले देखने को मिले है और इसी वजह से अरविन्द केजरीवाल ने आज मीडिया वालों से बातचीत की। इस दौरान अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार के समर्थन की तारीफ की। दिल्ली सीएम ने कहा कि जो साढ़े पांच लाख केस का अनुमान आया था, वो केंद्र सरकार के फॉर्मूले से ही आया था।

अरविन्द केजरीवाल ने कहा है कि केंद्र सरकार की ओर से परमिशन मिली है, ढाई महीने पहले हमारी सरकार ने ही इस थैरेपी का इस्तेमाल किया था। लोगों को इसको लेकर काफी परेशानी हो रही थी, इसलिए सरकार ने प्लाज्मा बैंक बनाने का फैसला लिया है।

बड़ी खबर सैयद गिलानी ने हुर्रियत से नाता तोड़ा, बताई जा रही ये खास वजह

इस वजह से फैला कोरोना

उन्होंने ये भी बोला कि दिल्ली में फरवरी से लेकर मार्च के बीच में 35 हजार लोग बाहर के ऐसे देशों से आए, जहां पर कोरोना वायरस था। शुरुआती दिनों में उनकी कोई स्क्रीनिंग नहीं हुई और वो दिल्ली में फैल गए। उसके बाद लॉकडाउन हुआ, तब हर कोई घरों में बंद था। यही कारण रहा कि दिल्ली में मामले तेजी से बढ़ गए। लॉकडाउन खुला तो कोरोना फैल गया, हमने माना है कि टेस्टिंग, बेड दिल्ली में कम पड़ गए थे।

केजरीवाल की माने तो कोरोना वायरस से कोई भी आदमी अकेला नहीं लड़ सकता। हमने केंद्र से टेस्टिंग में मदद मांगी। आज दिल्ली में काफी बेड खाली पड़े हैं, केंद्र की मदद से आज 20 हजार टेस्ट हर रोज किए जा रहे हैं। दिल्ली के LNJP अस्पताल की हालत अब काफी ठीक है, जहां पर पहले हालात खराब थे।

लगातार बढ़ते मामलों पर अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना वायरस का कोई भी हिसाब नहीं लगाया जा रहा है, 23 जून को 4 हजार केस आए, लेकिन उसके बाद फिर कम केस आ रहे हैं। लेकिन आगे कम केस आएंगे या अधिक कोई नहीं कह सकता है, हर कोई तैयारी कर रहा है।

UP में मानसून सक्रिय: इन जिलों में होगी भारी बारिश, बिहार में टूटा 22 साल का रिकाॅर्ड

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।