×

कोरोना पर कांग्रेस की हाई लेवल मीटिंग: मनमोहन, सोनिया और राहुल ने कही ऐसी बात

मनमोहन सिंह ने कहा, 'कोरोना वायरस से लड़ने के लिए कांग्रेस पार्टी देश के साथ एकजुट होकर खड़ी है।' इस दौरान सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने भी अपनी-अपनी बातें रखी।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 2 April 2020 7:34 AM GMT

कोरोना पर कांग्रेस की हाई लेवल मीटिंग: मनमोहन, सोनिया और राहुल ने कही ऐसी बात
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए हो रही है। जिसमें कोरोना वायरस संकट के कारण पैदा हुए हालात पर चर्चा की जा रही है। पार्टी के अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, राहुल गांधी, और अन्य वरिष्ठ नेता बैठक में मौजूद हैं।

बैठक में मनमोहन सिंह ने कहा, 'कोरोना वायरस से लड़ने के लिए कांग्रेस पार्टी देश के साथ एकजुट होकर खड़ी है।' इस दौरान सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने भी अपनी-अपनी बातें रखी।

सोनिया ने कहा कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए लगातार टेस्टिंग की जरूरत है। साथ ही उन्होंने कहा कि हमारे डॉक्टर, नर्स और हेल्थ वर्कर को समर्थन की जरूरत है और उन्हें सारी सुविधाएं मिलनी चाहिए।

लॉक डाउन पर जेल: इन राज्यों में घर से निकलने पर मिलेगी कड़ी सजा

लॉकडाउन जरूरी था, लेकिन गलत तरीके से लागू हुआ: सोनिया

इस बैठक में सोनिया गांधी ने कहा, “लॉकडाउन जरूरी था, लेकिन इसे बिना योजना के गलत तरीके से लागू किया गया। इस वजह से लाखों प्रवासी मजदूरों को परेशानी हुई है।” सोनिया गांधी ने कहा कि कोरोना लॉकडाउन से पैदा हुए इस संकट को खत्म करने के लिए सरकार को एक व्यापक रणनीति बनाने की जरूरत है।

सोनिया गांधी ने आगे कहा, "हम आज अभूतपूर्व स्वास्थ्य और मानवीय संकट के बीच हैं। हमारे सामने चुनौती का आकार कठिन है, लेकिन इसे दूर करने का हमारा संकल्प अधिक होना चाहिए।"

ये भी पढ़ें...कोरोना का कहर: फिच का अनुमान, 6 फीसदी से ज्यादा होगा राजकोषीय घाटा

पीएम मोदी से मनरेगा मजदूरों को 21 दिन के भुगतान की मांग

कोरोना वायरस संकट के बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पीएम मोदी को लेटर लिखकर मनरेगा मजदूरों को 21 दिन की मजदूरी अग्रिम देने की मांग की है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, लॉकडाउन की वजह तमाम मजदूरों के सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया है, ऐसी स्थिति में इन लोगों को आर्थिक मदद की सख्त जरूरत है।

प्रियंका गांधी ने इस लेटर को ट्वीट करते हुए कहा, “मनरेगा के तहत मिलने वाला रोजाना का मेहनताना इस समय ग्रामीण मजदूरों की जिंदगी में राहत ला सकता है।



पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी रखीं अपनी बात

वर्किंग कमेटी की बैठक में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी अपनी बातें रखीं। उन्होंने बताया कि पंजाब में इस खतरनाक वायरस से लड़ने के लिए क्या-क्या तैयारियां की जा रही हैं।

कोरोना संकट को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पिछले कुछ दिनों के भीतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तीन बार पत्र लिखकर चुकी हैं जिनमें उन्होंने इस संकट से निपटने के लिए कई सुझाव दिए और ग्रामीण भारत के गरीबों एवं मनरेगा मजदूरों को सहायता राशि देने सहित कई मांगें भी कीं।

पार्टी ने कोरोना संकट की स्थिति पर नजर रखने और लोगों की मदद के लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटियों के साथ समन्वय रखने के मकसद से 'केंद्रीय नियंत्रण कक्ष' भी बनाया है जो कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल की देखरेख में काम कर रहा है।

यही नहीं, सोनिया गांधी, राहुल गांधी और कांग्रेस के कई सांसदों ने कोरोना संकट से निपटने के लिए अपनी सांसद निधि से राशि जारी करने का फैसला लिया है।

कोरोना वायरस पर बहुत बड़ी खबर, चीन के सबसे बड़े वैज्ञानिक ने किया ये दावा

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story