Top

भाजपा नेताओं को दिग्विजय सिंह की धमकी, कराएंगे मानहानि का केस

कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह को पाकिस्तान की जासूस एजेंसी ISI का हैंडलर बताए जाने पर उन्होंने कहा कि वह भाजपा नेता जीवीएल नरसिम्हा राव और अमित मालवीय के खिलाफ मानहानि मुकदमा करेंगे।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 20 Feb 2020 11:19 AM GMT

भाजपा नेताओं को दिग्विजय सिंह की धमकी, कराएंगे मानहानि का केस
X
दिग्विजय सिंह की फ़ाइल फोटो
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

इस्लामाबाद: कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह को पाकिस्तान की जासूस एजेंसी ISI का हैंडलर बताए जाने पर उन्होंने कहा कि वह भाजपा नेता जीवीएल नरसिम्हा राव और अमित मालवीय के खिलाफ मानहानि मुकदमा करेंगे।

दिग्विजय ने कहा है,'मुझे जानकारी मिली है कि भाजपा के प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव और अमित मालवीय ने मुझ पर आइएसआइ का एजेंट होने का आरोप लगाया है। अगर ऐसा है तो पीएम मोदी और अमित शाह अक्षम हैं, मुझे गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया? मैं उन दोनों (राव और मालवीय) को मानहानि का नोटिस भेजूंगा।'

ये भी पढ़ें:जमीनी विवाद को लेकर दो पक्ष आपस में भिड़े एक महिला की मौत, 6 घायल

फिर फूटे दिग्विजय सिंह के विवादित बोल, कहा- कश्मीरियों को सेना और आतंकी दोनों मारते हैं

नरसिम्हा राव ने क्या कहा

इससे पहले, भाजपा नेता नरसिम्हा राव ने कहा कि कांग्रेस के हिंदू आतंकवाद के विचार और लश्कर- आइएसआइ की 26/11 की रणनीति के बीच एक संबंध है। क्या भारत का कोई व्यक्ति आइएसआइ को आतंकवादियों को हिंदू पहचान दिलाने में मदद किया है? क्या दिग्विजय सिंह एक हैंडलर के रूप में काम कर रहे थे? कांग्रेस को इसका जवाब देना चाहिए।

अमित मालवीय ने क्या कहा

अमित मालवीय ने कहा कि 26/11 के आतंकी हमले के तुरंत बाद, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने बॉलीवुड के कुछ लोगों के साथ एक बुक लॉन्च पर आरएसएस को दोषी ठहराया और कहा कि इस किताब में कहीं भी आप 26/11 में पाकिस्तानी आतंकवादियों की संलिप्तता नहीं देख सकते। वास्तव में पाकिस्तान जो चाहता था उन्होंने वही किया।

ये भी पढ़ें:Vodafone-Idea ने सरकार को क्यों दिया 1000 करोड़, जानिए पूरा मामला

क्या है मामला

पूरे विवाद की पूर्व कमिश्नर मुंबई पुलिस और 26/11 आतंकी हमले की जांच करने वाले राकेश मारिया की किताब 'लेट मी से इट नाउ' है। मारिया ने इस किताब में खुलासा किया है कि आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने मुंबई हमले को हिंदू आतंक का रंग देने का साजिश रची थी। लेकिन आतंकी अजमल कसाब जिंदा पकड़ा गया और जिस वजह से ये साजिश नकाम हो गई। मारिया के किताब लॉन्च होने के बाद भाजपा और कांग्रेस नेता हिन्दू आंतकवाद के मुद्दे पर भिड़ गए हैं।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story