Top

दिग्विजय ने ज्योतिरादित्य को दी मोदी-शाह की शरण में जाने पर शुभकामनाएं

मध्‍यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेसी दिग्गज दिग्विजय सिंह ने कहा है कि कांग्रेस से किनारा करने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया को पार्टी में कभी साइडलाइन नहीं किया गया, तमाम बड़े फैसलों में उनकी रजामंदी ली जाती थी।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 11 March 2020 6:52 AM GMT

दिग्विजय ने ज्योतिरादित्य को दी मोदी-शाह की शरण में जाने पर शुभकामनाएं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: मध्‍यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेसी दिग्गज दिग्विजय सिंह ने कहा है कि कांग्रेस से किनारा करने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया को पार्टी में कभी साइडलाइन नहीं किया गया, तमाम बड़े फैसलों में उनकी रजामंदी ली जाती थी। इसके साथ ही दिग्विजय सिंह ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को मोदी-शाह की शरण में जाने पर शुभकामनाएं भी दी है।

ये भी पढ़ें:कोरोना के मरीज होंगे मालामाल, कराएं टेस्ट और पायें लाखों रुपये

दिग्वि‍जय सिंह ने बुधवार को ट्विटर पर लिखा कि पिछले 16 महीने में ग्वालियर और चंबल डिवीजन में बिना ज्योतिरादित्य सिंधिया की सहमति के कुछ नहीं किया गया। मध्यप्रदेश, खासकर ग्वालियर चंबल डिवीजन के किसी भी कांग्रेस के नेता से इसके बारे में पूछा जा सकता है। उन्‍हें साइडलाइन किए जाने का सवाल ही नहीं उठता है। दिग्विजय ने कहा कि कांग्रेस को छोड़ने का उनका फैसला दुखद है, लेकिन, वह कांग्रेस छोड़कर मोदी-शाह की शरण में गए हैं, उनको शुभकामनाएं।

दिग्विजय सिंह का यह ट्वीट ज्योतिरादित्य सिंधिया के पार्टी से इस्‍तीफा देने के बाद आया है। कांग्रेस को जबरदस्त झटका देते हुए पार्टी के प्रमुख युवा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पार्टी से त्यागपत्र दे दिया है। सिंधिया के साथ ही उनके समर्थक पार्टी के 22 विधायकों के इस्तीफे से राज्य की कमलनाथ सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। कांग्रेस छोड़ने वाले 49 वर्षीय सिंधिया केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो सकते हैं। ऐसी अटकले हैं कि सिंधिया को राज्यसभा का टिकट दिया जा सकता है और उन्हें केंद्रीय मंत्री बनाया जा सकता है।

ये भी पढ़ें:बॉलीवुड एक्ट्रेस की ये बहनें: बला की है खूबसूरत, जानें करती हैं क्या काम

मंगलवार सुबह जब पूरा देश होली का जश्न मना रहा था, तभी सिंधिया ने भाजपा के वरिष्ठ नेता और गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। इसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनके आवास पर मुलाकात की। बैठक में क्या बातचीत हुई, इस बारे में आधिकारिक रूप से कुछ भी नहीं कहा गया है। कांग्रेस ने कहा कि उनका त्‍याग पत्र सोनिया गांधी के आवास पर मंगलवार को दोपहर 12 बजकर 20 मिनट पर मिला। इस दिन उनके पिता और कांग्रेस नेता माधव राव सिंधिया का 75वां जन्मदिन था। सिंधिया की बुआ तथा मध्य प्रदेश से भाजपा विधायक यशोधरा राजे ने कांग्रेस छोड़ने के उनके कदम का स्वागत किया है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story