धारा 370 पर बोल पड़े पीएम, जम्मू-कश्मीर को बताया आंतरिक मामला

अपने भाषण के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा था कि जो सपना सरदार पटेल, बाबा साहेब अंबेडकर, डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी, अटल जी और करोड़ों देशभक्तों ने देखा था, वो अब पूरा हुआ है। अब देश के सभी नागरिकों के हक और दायित्व समान हैं।

धारा 370 पर बोल पड़े पीएम, जम्म-कश्मीर को बताया आंतरिक मामला

धारा 370 पर बोल पड़े पीएम, जम्म-कश्मीर को बताया आंतरिक मामला

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने हाल ही में जम्मू-कश्मीर को लेकर ऐतिहासिक फैसला लिया। राज्य में आर्टिकल 370 को कमजोर कर दिया गया। यह फैसला मोदी सरकार के अब तक के कार्यकाल का सबसे बड़ा फैसला था। वहीं, जम्मू-कश्मीर और आर्टिकल 370 को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बड़ा बयान आया है।

यह भी पढ़ें: कश्मीर: 370 पर लड़ पड़े उमर-महबूबा, दोनों को किया गया अलग

पीएम मोदी का कहना है कि राज्य को लेकर यह फैसला काफी सोच-समझ कर लिया गया है। पीएम ने आगे कहा कि घाटी को लेकर केंद्र सरकार के पास और भी बड़ा प्लान है। इस प्लान की मदद से राज्य का विकास और ज्यादा हो पाएगा।

जम्मू-कश्मीर पूरी तरह से आंतरिक मामला

यही नहीं, पीएम मोदी ने ये भी कहा कि जम्मू-कश्मीर पूरी तरह से भारत का आंतरिक मामला है। बता दें, धारा 370 हटाने के बाद अपने पहले संबोधन में पीएम ने नए जम्मू-कश्मीर और नए लद्दाख के निर्माण का वादा किया था।

यह भी पढ़ें: 9 मिनट तक तड़पते रहे गुलशन कुमार, वो मारता रहा दनादन गोलियां

पीएम मोदी ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए जम्मू-कश्मीर व लद्दाख के लोगों को भरोसा दिलाया था कि धीरे-धीरे हालात सामान्य हो जाएंगे और उनकी परेशानी भी कम होती चली जाएगी। संसद में किसने पक्ष में मतदान किया, किसने नहीं किया, इससे आगे बढक़र अब हमें जम्मू-कश्मीर-लद्दाख के हित में मिलकर काम करना है।

पूरे देश ने एक ऐतिहासिक फैसला लिया

उन्होंने कहा था कि एक राष्ट्र के तौर पर पूरे देश ने एक ऐतिहासिक फैसला लिया है। हमने एक ऐसी बाधा को दूर कर दिया है जिसकी वजह से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोग अनेक अधिकारों से वंचित थे और उनका विकास नहीं हो पा रहा था।

यह भी पढ़ें: Bakrid 2019: अब दोस्तों को भेजिये Eid Mubarak Quotes, इस तरह करिए विश

अपने भाषण के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा था कि जो सपना सरदार पटेल, बाबा साहेब अंबेडकर, डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी, अटल जी और करोड़ों देशभक्तों ने देखा था, वो अब पूरा हुआ है। अब देश के सभी नागरिकों के हक और दायित्व समान हैं।