×

देवेंद्र फडणवीस ने दिया इस्तीफा, इस फैसले ने बदल दी महाराष्ट्र की सियासी तस्वीर

सुप्रीम कोर्ट के फैसले बाद महाराष्ट्र की सियासी तस्वीर पूरी तरह से बदल गई है। प्रदेश की सियासत में नया मोड़ आ गया है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 26 Nov 2019 10:11 AM GMT

देवेंद्र फडणवीस ने दिया इस्तीफा, इस फैसले ने बदल दी महाराष्ट्र की सियासी तस्वीर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मुंबई: सुप्रीम कोर्ट के फैसले बाद महाराष्ट्र की सियासी तस्वीर पूरी तरह से बदल गई है। प्रदेश की सियासत में नया मोड़ आ गया है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने फ्लोर टेस्ट से पहले अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। बता दें कि इससे पहले एनसीपी नेता और शरद पवार के भतीजे अजित पवार ने डिप्टी सीएम पद से अपना इस्तीफा दे दिया।

देवेंद्र फडणवीस ने प्रेस कांफ्रेंस में मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे का ऐलान किया। देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि हमारे पास बहुमत नहीं है और मैं राज्यपाल को इस्तीफा देने जा रहा हूं।

यह भी पढ़ें…संविधान दिवस विशेष: क्या आज भी उतना ही प्रासंगिक है संविधान?

उन्होंने कहा कि अजित पवार ने कहा कि सरकार बनाने के लिए हम आपका साथ देंगे, ताकि स्थाई सरकार बन सके। लेकिन जब बहुमत साबित करने की बात आई तो अजित पवार ने मुझसे मिलकर कहा मैं गठबंधन जारी नहीं रख सकता और अलग होने की बात कही। उन्होंने कहा कि अब हमारे पास बहुमत नहीं है।

देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने शिवसेना-बीजेपी को बहुमत दिया था, लेकिन शिवसेना ने नतीजों के बाद अपना रुख बदल लिया।

उन्होंने कहा कि हमने कभी भी ढाई-ढाई साल के फॉर्मूले का वादा नहीं किया था, अमित शाह ने साफ किया था कि मुख्यमंत्री बीजेपी का ही होगा। सीटें देख कर शिवसेना ने अपना रुख बदल लिया था, हमसे बात करने की बजाय उन्होंने कांग्रेस-एनसीपी से बात की।

यह भी पढ़ें…महाराष्ट्र की सियासत में नया मोड़, अजित पवार ने डिप्टी CM पद से दिया इस्तीफा

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार शाम पांच बजे तक विधानसभा में बहुमत साबित(फ्लोर टेस्ट) करने का आदेश दिया था। कोर्ट ने कहा था कि महाराष्ट्र विधानसभा में फ्लोर टेस्ट कराया जाएगा, जिसका लाइव प्रसारण होगा। इससे पहले प्रोटेम स्पीकर ही सभी विधायकों को शपथ दिलाएंगे। हालांकि देश की सर्वोच्च अदालत के फैसले के बाद प्रदेश की सियासत में नया मोड़ आ गया है।

कोर्ट फैसले के बाद दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह के साथ महाराष्ट्र मामले में बैठक की। इस बैठक में पीएम मोदी, अमित शाह के अलावा बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें…बड़ी खुशखबरी: सरकार ने निकाली बंपर नियुक्‍तियां, जल्दी करें यहां आवेदन

मंगलवार शाम एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना की एक बार फिर बैठक होनी। इसमें तीनों की ओर से अपना नेता चुना जाएगा। बता दें कि इससे पहले तीनों पार्टियां मुख्यमंत्री पद के लिए उद्धव ठाकरे के नाम पर मुहर लगा चुकी हैं, ऐसे में उनका नेता चुना जाना तय है।

यह भी पढ़ें…कौन होता है प्रोटेम स्पीकर, क्या है इनका काम? आइए जानते हैं…

इससे पहले कहा जा रहा था कि बीजेपी फ्लोर टेस्ट का ही इंतजार करेगी। इससे मतलब साफ था कि किसी भी सूरत में पहले हथियार नहीं डालेगी, लेकिन सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद महाराष्ट्र की राजनीति में नया मोड़ आ गया। देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद से और अजित पवार ने उप मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story