अगस्त में हो सकता है मोदी कैबिनेट का विस्तार, सिंधिया को भी मिल सकती है जगह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल 30 मई को 57 मंत्रियों के साथ दोबारा देश की सत्ता संभाली थी। नियमों के मुताबिक लोकसभा के कुल सदस्यों की संख्या का 15 फीसदी ही मंत्रिमंडल हो सकता है।

अंशुमान तिवारी

नई दिल्ली। पिछले साल 30 मई को दोबारा देश की सत्ता संभालने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी कैबिनेट का पहला विस्तार अगले महीने कर सकते हैं। सावन के समाप्त होने के बाद अगस्त के दूसरे हफ्ते में मोदी कैबिनेट के विस्तार की संभावना है। माना जा रहा है कि मोदी कैबिनेट में तेरह नए मंत्रियों को शामिल किया जा सकता है। कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए और अब राज्यसभा सदस्य बन चुके वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी मोदी कैबिनेट में जगह मिल सकती है।

कैबिनेट में शामिल हो सकते हैं 13 नए मंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल 30 मई को 57 मंत्रियों के साथ दोबारा देश की सत्ता संभाली थी। नियमों के मुताबिक लोकसभा के कुल सदस्यों की संख्या का 15 फीसदी ही मंत्रिमंडल हो सकता है। इस हिसाब से मोदी कैबिनेट में 81 मंत्री नियुक्त किए जा सकते हैं। पहली बार देश की सत्ता संभालने पर मोदी ने अपने कैबिनेट में 70 मंत्रियों को रखा था। ऐसे में सियासी जानकारों का मानना है कि तेरह नए मंत्रियों को अगस्त के दूसरे हफ्ते में पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई जा सकती है।

वंदे भारत एक्सप्रेस के लिए 1500 करोड़ का टेंडर, रेस में ये चीनी कंपनी

मोदी की वरिष्ठ नेताओं से चर्चा

मंत्रिमंडल के विस्तार के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कुछ वरिष्ठ नेताओं से चर्चा भी हुई है। जानकार सूत्रों का कहना है भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के दूसरे बड़े नेता कृष्ण गोपाल और पार्टी संगठन के महासचिव बीएल संतोष की पिछले दिनों पीएम मोदी से मुलाकात हुई थी। इस मुलाकात के दौरान मंत्रिमंडल के विस्तार पर भी चर्चा हुई थी। संघ के नेता कृष्ण गोपाल ही संघ और भाजपा के बीच तालमेल बिठाने का काम देखते हैं।

नड्डा की टीम की सूची तैयार

सूत्रों के मुताबिक भाजपा अध्यक्ष नड्डा ने अपनी टीम के लिए भी एक सूची तैयार कर रखी है। इस सूची को अंतिम रूप देने के बाद ही तय होगा कि भाजपा के कौन नेता संगठन और कौन नेता सरकार का हिस्सा बनेंगे। सूत्रों का कहना है कि इस संबंध में ब्लू प्रिंट तैयार कर लिया गया है। बस अंतिम मुहर लगना बाकी है।

अभी-अभी बॉर्डर पर नजर आये आतंकी: देखते ही सेना ने मारी गोली, मुठभेड़ जारी

कम किया जाएगा प्रमुख मंत्रियों का कार्यभार

जानकार सूत्रों का कहना है की पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव भूपेंद्र यादव, अनिल जैन और अनिल बुलानी को मंत्री पद का तोहफा मिल सकता है। राजस्थान से जुड़े एक मंत्री को हटाए जाने की भी चर्चा है। मौजूदा समय में आठ कैबिनेट मंत्री ऐसे हैं जिनके पास दो से तीन मंत्रालयों का भार है। नए मंत्रियों को शामिल किए जाने के बाद ऐसे मंत्रियों का भार कुछ कम किया जा सकता है। मध्यप्रदेश से हाल में राज्यसभा के सदस्य बने ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी मोदी कैबिनेट में शामिल किए जाने की चर्चा है। सिंधिया के साथ कांग्रेस छोड़ने वाले कई विधायक मध्यप्रदेश में शिवराज कैबिनेट में मंत्री बन चुके हैं। अब सिंधिया को मोदी कैबिनेट में जगह मिल सकती है। चर्चा है कि सिंधिया कोई प्रमुख मंत्रालय चाहते हैं। जानकारों के मुताबिक उनकी नजर रेल मंत्रालय पर है।

विशेषज्ञों को भी मिल सकती है जगह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दोबारा सत्ता संभालते समय एस जयशंकर को अपनी कैबिनेट में जगह देकर सबको चौंकाया था। मौजूदा समय में एस जयशंकर विदेश मंत्रालय की जिम्मेदारी बखूबी निभा रहे हैं। चर्चा है कि एस जयशंकर की तरह ही कुछ विशेषज्ञों को भी कैबिनेट में जगह दी जा सकती है। बिहार विधानसभा के चुनाव नवंबर में होने वाले हैं। इन चुनावों को देखते हुए जेडीयू को भी मंत्रिमंडल में अहम जिम्मेदारी दिए जाने की संभावना जताई जा रही है।

विकास का बड़ा बेटा: अचानक बीती रात यहां आया नजर, फिर…

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App