Top

राहुल गांधी के सवालों से डरीं वित्त मंत्री, कहा- बेरोजगारी के आंकड़ें बता दूं, लेकिन...

शनिवार 1 फरवरी को केंद्रीय वित्त मंत्री ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल (2.0) का दूसरा बजट पेश किया। निर्मला सीतारमण ने इस बजट को रोजगार बढ़ाने वाला बजट बताया।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 3 Feb 2020 7:01 AM GMT

राहुल गांधी के सवालों से डरीं वित्त मंत्री, कहा- बेरोजगारी के आंकड़ें बता दूं, लेकिन...
X
राहुल गांधी के सवालों से डरीं वित्त मंत्री, कहा- बेरोजगारी के आंकड़ें बता दूं, लेकिन...
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: शनिवार 1 फरवरी को केंद्रीय वित्त मंत्री ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल (2.0) का दूसरा बजट पेश किया। निर्मला सीतारमण ने इस बजट को रोजगार बढ़ाने वाला बजट बताया। हालांकि उन्होंने अपने बजट भाषण के दौरान इस बात का जिक्र नहीं किया कि रोजगार कैसे और कितने दिए जाएंगे। वहीं दूसरी ओर विपक्षी दलों ने इस बजट पर अपना निशाना साधा है।

राहुल गांधी के बयान का निर्मला सीतारमण ने दिया जवाब

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बजट को लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पर तंज भी कसा था। बजट पेश होने के बाद राहुल ने कहा था कि, निर्मला सीतारमण के इतने लंबे बजट भाषण में कुछ नहीं था। उन्होंने कहा कि, आज के समय में बेरोजगारी सबसे बड़ा मुद्दा है, युवाओं के पास कोई रोजगार नहीं है और सरकार के पास युवाओं के लिए कोई योजना नहीं है। अब निर्मला सीतारमण ने राहुल गांधी के इस बयान का जवाब दिया है।

यह भी पढ़ें: मिल गया कोरोना वायरस का इलाज, सिर्फ 48 घंटों में हो जायेंगे ठीक

अभी आंकड़ें बता दूं, लेकिन 15 महीने बाद...

निर्मला सीतारमण से एक इंटरव्यू के दौरान जब पूछा गया कि बजट में रोजगार बढ़ाने का दावा किया गया है, लेकिन कोई स्पष्ट आंकड़ें क्यों नहीं दिए गए हैं? इस सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि, यह सही है कि रोजगार के कोई आंकड़े नहीं दिए गए गए हैं। उन्होंने कहा कि आप जो आंकड़ा मांग रहे हैं उसे आज बताना कठिन है। निर्मला ने आगे कहा कि मान लीजिए अगर आज मैं आपको एक आंकड़ा बता दूं कि एक करोड़। उसके बाद फिर 15 महीने बाद राहुल गांधी पूछेंगे कि आपने एक करोड़ नौकरियों के लिए बोला था, क्या हुआ?

स्थितियों का आकलन करने के बाद ही नंबर बताना चाहूंगी- वित्त मंत्री

निर्मला सीतारमण ने आगे कहा कि, हालांकि मैं आज एक आंकड़ा दे सकती हूं। लेकिन फिर भी मैं 3-4 महीने में स्थितियों का आकलन करने के बाद ही कोई नंबर बताना चाहूंगी। फिर उसके 2-3 महीने बाद आगे और नए नंबर बताने की स्थिति में होऊंगी। उन्होंने कहा कि यह सब एक प्रॉसेस का मामला है।

वहीं राहुल गांधी ने ट्वीट कर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को कहा है कि मेरे सवालों से न डरें। राहुल गांधी ने ट्वीट किया है कि वित्त मंत्री जी, मेरे सवालों से मत डरिए । मैं ये सवाल देश के युवाओं की ओर से पूछ रहा हूं, जिन्हें जवाब देना आपकी ज़िम्मेदारी है। देश के युवाओं को रोज़गार की ज़रूरत है और आपकी सरकार उन्हें रोज़गार देने में बुरी तरह नाकाम साबित हुई है ।



यह भी पढ़ें: हैदराबाद जैसी घटना यूपी में: जिंदा जलाया छात्रा को, न्याय की मांग कर रहे लोग

Shreya

Shreya

Next Story