Top

मोदी का मिशन बंगाल: अब 'दीदी' को मात देने की तैयारी में भाजपा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 11 जनवरी से दो दिवसीय बंगाल (west Bengal) दौरा है। हालाँकि पीएम के दौरे से पहले ही विवाद खड़ा हो गया। दरअसल, प्रशासन ने पीएम मोदी के आगमन पर भाजपा की रैली को इजाजत नहीं दी। जिसके बाद भाजपा रैली को लेकर कोर्ट पहुंच गयी। वहीं कोर्ट ने भाजपा को रैली करने की इजाजत दे दी है। गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में नागरिकता कानून का जमकर विरोध हो रहा है।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 10 Jan 2020 10:22 AM GMT

मोदी का मिशन बंगाल: अब दीदी को मात देने की तैयारी में भाजपा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बंगाल: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 11 जनवरी से दो दिवसीय बंगाल (west Bengal) दौरा है। हालाँकि पीएम के दौरे से पहले ही विवाद खड़ा हो गया। दरअसल, प्रशासन ने पीएम मोदी के आगमन पर भाजपा की रैली को इजाजत नहीं दी। जिसके बाद भाजपा रैली को लेकर कोर्ट पहुंच गयी। वहीं कोर्ट ने भाजपा को रैली करने की इजाजत दे दी है। गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में नागरिकता कानून का जमकर विरोध हो रहा है।

दो दिवसीय बंगाल दौरे पर पीएम मोदी:

प्रधानमंत्री मोदी 11 जनवरी से कोलकाता पहुंचेंगे। पीएम यहां दो दिन रहेंगे। इस दौरान उनका 12 जनवरी को कोलकाता बंदरगाह ट्रस्ट की 150वीं वर्षगांठ के मौके पर आयोजित समारोह में शामिल होने का भी कार्यक्रम है। वहीं 11 जनवरी को भाजपा पीएम के आगमन पर रैली करेगी, जिसे पीएम संबोधित करेंगे।

ये भी पढ़ें: CAA के खिलाफ हैदराबाद से लेकर कोलकाता तक ममता-ओवैसी का हल्ला-बोल

भाजपा की रैली को मिली कोर्ट से अनुमति:

वहीं इससे पहले प्रशासन ने भाजपा की कोलकाता में रैली को मंजूरी नहीं दी, जिसके बाद भाजपा ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। बाद में कोर्ट ने भाजपा को रैली करने की इजाजत दे दी।

माकपा और कांग्रेस ने किया पीएम के दौरे का विरोध:

बता दें कि पीएम के कार्यक्रम की घोषणा के बाद बंगाल कांग्रेस और माकपा ने इसका विरोध किया है। उन्होंने ऐलान किया कि वाम मोर्चा और कांग्रेस मोदी के दौरे के दौरान पूरे राज्य में बड़े पैमाने पर प्रदर्शन करेंगी।

वहीं कांग्रेस की छात्र इकाई ने घोषणा की है कि पीएम मोदी के दौरे के दौरान उन्हें काले झंडे दिखाए जाएंगे और उनका पुतला फूंका जाएगा। पीएम मोदी का विरोध नागरिक संशोधित नागरिकता कानून और एनआरसी को लेकर होगा।

ये भी पढ़ें: जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की मांग, SC ने केंद्र सरकार को जारी किया नोटिस

पीएम मोदी के कार्यक्रम में ममता के शामिल होने पर TMC की चुप्पी:

इसके अलावा अभी इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि कोलकाता बंदरगाह न्याय की 150वीं जयंती में पीएम के आगमन पर सीएम ममता बनर्जी भी शामिल होंगी या नहीं। सूत्रों के मुताबिक़, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भी कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया है। हालांकि तृणमूल कांग्रेस के शीर्ष नेता इस पर चुप्पी साधे हुए हैं कि मुख्यमंत्री कार्यक्रम में शिरकत करेंगी या नहीं।

ये भी पढ़ें: आर्टिकल 370 पर सरकार को झटका! सुप्रीम कार्ट ने कही ये बड़ी बात

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story