JDU में जंग! नीतीश पर प्रशांत का पलटवार, बताया झूठा, कहा- आप जैसा नहीं मेरा रंग

नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार पर उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने पलटवार किया है। प्रशांत कुमार ने ट्वीट कर कहा कि पार्टी में मुझे लेने को लेकर नीतीश कुमार ऐसा झूठ कैसे बोल सकते हैं।

नई दिल्ली: नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार पर उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने पलटवार किया है। प्रशांत कुमार ने ट्वीट कर कहा कि पार्टी में मुझे लेने को लेकर नीतीश कुमार ऐसा झूठ कैसे बोल सकते हैं। आपने एक नाकाम कोशिश की है और मेरा रंग आपके जैसा नहीं है।

प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर आप सच बोल रहे हैं तो कौन भरोसा करेगा कि आपके पास इतनी हिम्मत होगी कि आप अमित शाह की बात नहीं मानेंगे।

दरअसल नीतीश कुमार ने प्रशांत किशोर को लेकर एक बयान दिया था। मंगलवार को उन्होंने कहा कि बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह के कहने पर ही प्रशांत किशोर को जेडीयू में शामिल किया गया था। इसके बाद नीतीश कुमार ने बिना नाम लिए प्रशांत किशोर पर निशाना साधा था।

यह भी पढ़ें…देशद्रोह का आरोपी शरजील इमाम गिरफ्तार, दिया था देश को तोड़ने वाला बयान

उन्होंने कहा कि अगर कोई मुझे पत्र लिखता है तो मैं जवाब देता हूं, लेकिन कोई ट्वीट करता है तो उन्हें ट्वीट करने दें। हमें इससे क्या लेना। पार्टी में कोई भी तब तक रह सकता है जब तक वह चाहे। वह चाहे तो जा भी सकता है।

नीतीश कुमार ने यह बात जेडीयू की विधानसभा चुनाव की तैयारी को लेकर बुलाई बैठक में कही। बैठक के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पत्रकारों से प्रशांत किशोर और पवन वर्मा के संबंध में पूछे गए सवाल पर कहा कि जिसे जहां जाना है जाए। हमारे यहां ट्वीट के कोई मतलब नहीं है। जिसे ट्वीट करना है करे। हमारी पार्टी में बड़े और बुद्धिजीवी लोगों की जगह नहीं है। सब सामान्य और जमीनी लोग हैं।

यह भी पढ़ें…NCC की रैली में बोले पीएम मोदी- पाकिस्तान को हराने में 10 दिन भी नहीं लगेंगे

जेडीयू अध्यक्ष ने कहा कि किसी को हम थोड़े पार्टी में लाए हैं। अमित शाह ने मुझे कहा प्रशांत किशोर को जेडीयू में शामिल करने के लिए तब मैंने उन्हें शामिल कराया। मुझे पता चला है कि पीके (प्रशांत किशोर) आम आदमी पार्टी के लिए रणनीति बना रहे हैं। ऐसे में अब उन्हीं से पूछना चाहिए कि वे जेडीयू में रहना चाहते हैं या नहीं।

यह भी पढ़ें…निर्भया के दोषी मुकेश का जेल प्रशासन पर आरोप- मेरे साथ हुई ये अश्लील हरकत

नीतीश कुमार ने कहा कि राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) में नए मापदंडों की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि नए कॉलम से भ्रम का माहौल है। उन्होंने कहा कि एनपीआर के नए मापदंड को लेकर वह केंद्र सरकार से बात करेंगे।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App