Top

राहुल की कोरोना पर ये मांग: जनता कर्फ्यू में ताली-थाली की नहीं, बताई इसकी जरूरत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना से लड़ने के लिए 22 मार्च यानी कि आज जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था। जहां पूरा देश जनता कर्फ्यू का पालन कर रहा है और कोरोना से बचने के प्रयास में लगा है, वहीं इसी बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कोरोना वायरस की वजह से कमजोर हुई भारतीय अर्थव्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 22 March 2020 7:02 AM GMT

राहुल की कोरोना पर ये मांग: जनता कर्फ्यू में ताली-थाली की नहीं, बताई इसकी जरूरत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना से लड़ने के लिए 22 मार्च यानी कि आज जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था। जहां पूरा देश जनता कर्फ्यू का पालन कर रहा है और कोरोना से बचने के प्रयास में लगा है, वहीं इसी बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कोरोना वायरस की वजह से कमजोर हुई भारतीय अर्थव्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

राहुल गांधी ने की आर्थिक पैकेज की मांग

मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने सरकार से एक बड़े आर्थिक पैकेज की मांग की है। राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा, 'छोटे, मध्यम कारोबारी और दिहाड़ी मजदूर इससे सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। ताली बजाने से उन्हें मदद नहीं मिलेगी। आज नकद मदद, टैक्स ब्रेक और कर्ज अदायगी पर रोक जैसे एक बड़े आर्थिक पैकेज की जरुरत है। तुरंत कदम उठाएं।'



पीएम मोदी के ताली-थाली बयान पर किया तंज

गौरतलब प्रधानमंत्री मोदी ने जब जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था, इस दौरान उन्होंने कहा था कि कर्फ्यू के दिन शाम 5:00 बजे अपने अपने घरों में तालियां-थालियां बजाकर कोरोना से निपटने में मदद कर रहे लोगों का सम्मान करें। राहुल गांधी ने पीएम मोदी के इसी बयान पर तंज कसा है।

ये भी पढ़ें:‘जनता कर्फ्यू’ का ऐसा असर: जानें, क्या होगा खुला और क्या रहेगा बंद…



केंद्र ने दिए आर्थिक पैकेज के संकेत

बता दें कि केंद्र सरकार पहले ही आर्थिक पैकेज देने के संकेत दे चुकी है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस बाबत बैठक भी की थी। तब उन्होंने कहा था कि कोरोना प्रभावित क्षेत्रों के लिए आर्थिक पैकेज की घोषणा जितनी जल्दी संभव हो सके की जाएगी। हालांकि इसकी घोषणा के बारे में कोई समय सीमा उन्होंने नहीं बताई थी।

ये भी पढ़ें: जनता कर्फ्यू के दौरान यहां पेट्रोल बम से हमला, मची भगदड़

राहुल गांधी के सवालों से डरीं वित्त मंत्री, कहा- बेरोजगारी के आंकड़ें बता दूं, लेकिन...

वहीं पीएम मोदी ने देश के नाम संबोधन में उन्होंने कोरोना को लेकर एक टास्क फोर्स के गठन के बारे में बताया था । बता दें कि कोरोना के चलते यात्राओं पर रोक लग गई है। कारोबारी गतिविधियां ठप हो गई हैं, इसकी वजह से ट्रैवल टूरिज्म इंडस्ट्री बुरी तरह प्रभावित हुआ तो वहीं कई उत्पादक वस्तुओं की कीमतों में भी गिरावट आई।

दिल्ली की केजरीवाल सरकार और योगी सरकार की पहल

आर्थिक मदद के लिए ही दिल्ली की केजरीवाल सरकार और योगी सरकार ने दिहाड़ी मजदूरों की आर्थिक मदद की बात कहीं थी।

जहां सीएम योगी ने मजदूरों को प्रतिमाह 1 हजार रुपये देने का एलान किया, वहीं दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी गरीब परिवारों को मुफ्त अनाज देने की योजना बनाइ।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story