Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

जनता कर्फ्यू के दौरान यहां पेट्रोल बम से हमला, मची भगदड़

जनता कर्फ्यू के बीच राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग इलाके से बड़ी खबर सामने आई है। शाहीन बाग में प्रदर्शन स्थल के पास पेट्रोल बम से हमला होने की खबर है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 22 March 2020 6:21 AM GMT

जनता कर्फ्यू के दौरान यहां पेट्रोल बम से हमला, मची भगदड़
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: जनता कर्फ्यू के बीच राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग इलाके से बड़ी खबर सामने आई है। शाहीन बाग में प्रदर्शन स्थल के पास पेट्रोल बम से हमला होने की खबर है।

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ तीन महीने से भी ज्यादा समय से धरने पर बैठे लोगों का आरोप है कि प्रदर्शन स्थल पर पेट्रोल बम फेंका गया है।

बताया जा रहा है कि शाहीन बाग में सुबह 8 बजे दो बाइक सवार चेहरा ढक कर आए। चाय की दुकान पर दो पेट्रोल बम मारकर फरार हो गए। पुलिस सीसीटीवी की मदद से आरोपियों को तलाश रही है।

घटना के समय शाहीन बाग में कम संख्या में प्रदर्शनकारी बैठे हुए थे। बम की घटना कालिंदी कुंज के रास्ते पर हुई है। हमलावर ओखला के रास्ते आए थे। वहीं, एक बोतल से विस्फोटक सामान भी बरामद किया गया है।

ये भी पढ़ें...जनता कर्फ्यू पर बड़ी खबर, सिर्फ यही लोग निकल सकतें हैं बाहर

जनता कर्फ्यू पर कोई घोषणा नहीं

शाहीन बाग में जनता कर्फ्यू के दौरान धरनास्थल पर माइक से किसी तरह की कोई घोषणा नहीं होगी। प्रदर्शनकारियों ने यह भी फैसला किया है कि प्रदर्शनस्थल पर बच्चे और बुजुर्ग मौजूद नहीं होंगे, और विरोध प्रदर्शन शांतिपूर्ण तरीके से होगा।

जनता कर्फ्यूः दुकान, बाजार, मॉल सब पर ताला, सड़कें सुनसान, घर में जनता

प्रदर्शन में शामिल एक शख्स कोरोना पॉजेटिव

शाहीनबाग में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ जारी प्रदर्शन से जुड़े एक प्रदर्शनकारी में कोरोनावायरस की पुष्टि हुई है। जहांगीरपुरी निवासी इस शख्स की बहन इसी महीने सऊदी अरब से आई है, जो संक्रमित पाई गई है।

प्रदर्शनकारी तक संक्रमण उसकी बहन से ही फैला है। यह प्रदर्शनकारी सीएए के खिलाफ पिछले दिनों शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन में शामिल हुआ था। व्यक्ति के मुताबिक, वह 9 फरवरी के बाद दोबारा कभी शाहीनबाग नहीं गया।

जनता कर्फ्यू के लिए सब तैयार, सरकार ने मांगी धर्म गुरुओं से मदद

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story