Top

राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर कसा तंज, बोले- देश को बताए ट्रंप से क्या बात हुई?

गौरतलब है कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में ट्रम्प ने सोमवार को कहा कि मोदी दो हफ्ते पहले उनके साथ थे और उन्होंने कश्मीर मामले पर मध्यस्थता की पेशकश की थी और मुझे इसमें मध्यस्थता करने पर खुशी होगी।

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 23 July 2019 9:54 AM GMT

राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर कसा तंज, बोले- देश को बताए ट्रंप से क्या बात हुई?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कश्मीर मुद्दे के समाधान के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से मध्यस्थता का आग्रह करने से जुड़े अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के दावे को लेकर जमकर निशाना साधा।

यह भी पढ़ें: अरे गजब! 220 बॉयफ्रेंड्स के साथ डेटिंग के बाद भी कोई पसंद न आया, कुत्ते संग शादी

राहुल गांधी ने कहा कि देश को बताया जाना चाहिए कि प्रधानमंत्री और ट्रम्प के बीच क्या बातचीत हुई थी। उन्होंने यह दावा भी किया कि अगर ट्रम्प की बात सही है तो फिर प्रधानमंत्री ने देश के हितों के साथ विश्वासघात किया है।

यह भी पढ़ें: लखनऊ: विधानसभा सत्र के लिए जाते मंत्री व विधायक गण, देखें तस्वीरें

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘राष्ट्रपति ट्रम्प कहते हैं कि प्रधानमंत्री मोदी ने उनसे कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता करने के लिए कहा। अगर यह सच है तो प्रधानमंत्री मोदी ने भारत के हितों और 1972 के शिमला समझौते के साथ विश्वासघात किया है।’’ गांधी ने कहा, ‘‘एक कमजोर विदेश मंत्रालय के इनकार करने से काम नहीं चलेगा। प्रधानमंत्री देश को बताएं कि उनके और अमेरिकी राष्ट्रपति के बीच मुलाकात में क्या बात हुई थी।’’

यह भी पढ़ें: घोरावल नरसंहार, प्रदेश की खराब कानून व्यवस्था का उदहारण: नरेश उत्तम

गौरतलब है कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में ट्रम्प ने सोमवार को कहा कि मोदी दो हफ्ते पहले उनके साथ थे और उन्होंने कश्मीर मामले पर मध्यस्थता की पेशकश की थी और मुझे इसमें मध्यस्थता करने पर खुशी होगी।

यह भी पढ़ें: योगी सरकार ने पेश किया 13,594 करोड़ का अनुपूरक बजट, किए ये बड़े ऐलान

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मंगलवार को ट्रम्प के दावे को सिरे से खारिज करते हुए संसद में कहा कि पाकिस्तान के साथ कोई भी बातचीत सीमा पार से जारी आतंकवाद बंद होने के बाद हो पायेगी और यह लाहौर घोषणापत्र और शिमला समझौते के अंतर्गत ही होगी।

यह भी पढ़ें: 170 लोगों की मौतों से बिहार और असम में मचा कोहराम, हर तरफ बाढ़ का कहर

बता दें, इस मामले को लेकर विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने संसद में कहा कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच वार्ता के बाद ट्रंप ने दावा किया कि भारतीय प्रधानमंत्री ने कश्मीर पर मध्यस्थता करने के लिए कहा था। मगर भारतीय प्रधानमंत्री ने ऐसी अपील एक बार भी नहीं की।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story