गहलोत सरकार गिराने की साजिश का खुलासा, BJP ने कर दी CM की ही शिकायत

राजस्थान की गहलोत सरकार को गिराने की साजिश को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। मामले में स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने शुक्रवार को विधायकों की खरीद फरोख्त से जुड़ा मुकदमा दर्ज किया है।

जयपुर: राजस्थान की गहलोत सरकार को गिराने की साजिश को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। मामले में स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने शुक्रवार को विधायकों की खरीद फरोख्त से जुड़ा मुकदमा दर्ज किया है। इसमें दो लोगों को नामजद किया गया है। बता दें कि राजस्थान की तीन सीटों पर पिछले महीने राज्यसभा चुनाव हुआ था। इसी मामले में खुलासा हुआ है कि गहलोत सरकार को गिराने के लिए 25-25 करोड़ में विधायक खरीदे जाने थे।

राजस्थान में गहलोत सरकार गिराने की साजिश रचने का खुलासा

पिछले महीने राजस्थान राज्यसभा की दो सीटों पर चुनाव में विधायकों की खरीद-फरोख्त के मामले में स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने शुक्रवार को मुकदमा दर्ज किया है। इस मामले में सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी की शिकायत पर शुरूआती जांच में एसओजी ने कुछ मोबाइल नंबर ट्रेस किए हैं। केस की जांच एसओजी के अतिरिक्त महानिदेशक अशोक राठौड़ के निर्देशन में हो रही है। दो लोगों को नामजद किया गया है हालांकि उनके नाम को एसओजी ने फिलहाल उजागर नहीं किया है।

SOG में दर्ज हुई FIR, दो विधायकों को 25 लाख में खरीदने की बात

सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी ने भाजपा के लोगों पर कांग्रेस विधायकों की खरीद के लिए सम्पर्क करने का आरोप लगाते हुए एसओजी और राज्य भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो में परिवाद दर्ज किया था। वहीं अब खरीद-फरोख्त का मामला विशेषाधिकार हनन के प्रस्ताव तक पहुंच चुका है।

ये भी पढ़ेंः कोरोना का तांडव, देश में 8 लाख से ज्यादा हुए संक्रमित, इन राज्यों में लगा लॉकडाउन

BJP MLAs ने CM गहलोत के खिलाफ दी विशेषाधिकार हनन की शिकायत

भाजपा के 10 विधायकों ने उल्टे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ विशेषाधिकार हनन की शिकायत दर्ज करवाई है। इसके तहत बीजेपी के चार विधायकों ने विधानसभा सचिव को शिकायत सौंपी। इसमें रामलाल शर्मा, अशोक लाहोटी, सुभाष पूनिया व निर्मल कुमावत का नाम शामिल हैं। भाजपा ने अपनी शिकायत में सीएम गहलोत के बयान का वह भाग कोट किया जिसमें उन्होंने कहा था, ‘मध्यप्रदेश के बाद भाजपा व केंद्र सरकार राजस्थान में सरकार गिराने का प्रयास कर रही है। कांग्रेस और निर्दलीय विधायकों को 35 करोड़ रुपये तक का लालच दिया जा रहा है।’

कांग्रेस समर्थन में निर्दलीय विधायक ने सतीश पूनिया के खिलाफ की शिकायत

वहीं निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा ने कांग्रेस समर्थन में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव विधानसभा सचिव को सौंपा था। शिकायत में लोढ़ा ने पूनिया के उस बयान को कोट किया, जिसमें उन्होंने कहा था, ‘समर्थन के बदले निर्दलीय व अन्य दलों के 23 विधायकों को गहलोत सरकार ने वोट के बदले खान,रीको में प्लॉट व कैश ट्रांजेक्शन किया था।’

ये भी पढ़ेंः अपराधियों को नहीं डर! सिर्फ इसलिए ग्राम प्रधान ने कर दिया कत्ल, 5 गिरफ्तार

ऐसे में अब विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी इस बात का निर्णय करेंगे कि दोनों मामलों में विशेषाधिकार हनन का मामला बनता है या नहीं।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।