राहुल गांधी नहीं ये राजकुमार संभालेंगे कांग्रेस की विरासत?

29 अगस्त 2000 को जन्मे रेहान राजीव वाड्रा का नाम परिवर्तन होने से यह भी सवाल उठ रहे हैं कि क्या आने वाले समय में गांधी परिवार की राजनीतिक विरासत के वारिस रेहान बनेंगे?

Published by Shivakant Shukla Published: December 5, 2019 | 3:15 pm

लखनऊ: आजादी के करीब 73 साल बाद देश की सबसे पुरानी पार्टी और नेहरू-गांधी परिवार की पांचवीं पीढ़ी चल रही है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बेटे राहुल गांधी ने तो अभी तक शादी नहीं की लेकिन उनकी बेटी ​प्रियंका गांधी के दो संतान हैं मिराया और रेहान वाड्रा, ऐसे में अब मौजूदा स्थिति को देखते हुए राजनीतिज्ञों का कहना है कि रेहान ही हैं जो कांग्रेस की नैया के नए खेवनहार बन सकते हैं।

कांग्रेस रेहान को आगामी चुनावों में मैदान में उतार सकती है

देखा जाय तो कांग्रेस की जो स्थिति चल रही है उससे इस बात का अंदाजा लगाया जा रहा है कि कांग्रेस रेहान को आगामी चुनावों में मैदान में उतार सकती है। हालांकि अभी तक रेहान या फिर प्रियंका या राबर्ट की तरफ से ऐसे कोई संकेत नहीं मिले हैं, लेकिन बीते दिनों रेहान ने अपने मामा और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के नक्शे कदम पर चलते हुए उनकी लोकसभा सीट अमेठी के गोरेगांव में अपने दो दोस्तों के साथ एक दलित के घर में रात बिताई थी। इसी बात से इसका अंदाजा लगाया जा रहा है।

ये भी पढ़ें— बगावत का दौर शुरू! क्या एमपी भी जाएगा ​कांग्रेस के हाथ से

रेहान वाड्रा का नाम अब ‘रेहान राजीव वाड्रा’ हो गया है

ये बात हम इस दावे के आधार पर कह रहे हैं कि करीब चार साल पहले रॉबर्ट वाड्रा और प्रियंका वाड्रा ने अपने बेटे का दाखिला द दून स्कूल, देहरादून में कराया था। उस समय नाम रेहान वाड्रा लिखवाया गया था। लेकिन हाल के दिनों में नाम परिवर्तन हो गया है। रेहान वाड्रा का नाम अब ‘रेहान राजीव वाड्रा’ हो गया है। रेहान पहले भी लोकसभा चुनाव में कई मौकों पर अपने मामा और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के प्रचार में मां प्रियंका वाड्रा के साथ नजर आ चुके हैं।

यूनाइटेड नेशन कांफ्रेंस में गरजे रेहान

द दून स्कूल में चल रही मॉडल यूनाइटेड नेशन कांफ्रेंस के दूसरे दिन छात्रों ने अलग-अलग कमेटियों में अपनी प्रस्तुति दी। इस दौरान लोकसभा में रेहान राजीव वाड्रा ने भी कई मुद्दों पर जोरदार बहस की थी। जैसी रेहान वाड्रा की सोशल मीडिया पर तैयारी है साफ है कि उन्हें जल्द ही सक्रिय राजनीति में लॉन्च कर दिया जाएगा। सोशल मीडिया के प्लेटफार्मस पर वो खूब एक्टिव दिखते हैं। रेहान वाड्रा के नाम से पेज बना है। जिसपर समय-समय पर पर खूब सियासी बातें मुखरित होती हैं।

ये भी पढ़ें—क्या प्रियंका गांधी की बेटी मिराया राजनीति में करेंगी एंट्री?

ये सब देखकर अनुमान लगाया जा सकता है कि कांग्रेस को गांधी परिवार की अगली पीढ़ी का साथ मिलने वाला है। पार्टी को एक नया राजकुमार मिल सकता है। देहरादून के दून कालेज मे पढ़ाई कर रहे रेहान एक अच्छे शूटर भी है। उनकी निगाहें और निशाना सियासत की तरफ साफ नजर आ रहा है। वैसे भी गांधी परिवार में बेटी के वंश ने ही सियासत की विरासत को आगे बढ़ाया है। 29 अगस्त 2000 को जन्मे रेहान राजीव वाड्रा का नाम परिवर्तन होने से यह भी सवाल उठ रहे हैं कि क्या आने वाले समय में गांधी परिवार की राजनीतिक विरासत के वारिस रेहान बनेंगे?

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App