जम्मू-कश्मीर में स्मृति ईरानी: अनुच्छेद-370 हटने के बाद विकास कार्यों का लेंगी जायजा  

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, अश्विनी चौबे समेत कई अन्य मंत्री भी लोगों से बात करेंगे। रविवार को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी रिसाई के कटरा और पंथल का दौरा करेंगी। जबकि महेंद्रनाथ पांडेय जम्मू के दनसाल, अनुराग ठाकुर जम्मू के नगरोटा, पीयूष गोयल अखनूर, आरके सिंह डोडा के खेलानी जाएंगे।

Published by SK Gautam Published: January 19, 2020 | 10:57 am
Modified: January 19, 2020 | 11:07 am

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर के हालातों का जायजा लेने के लिए आजकल अपने कई मंत्रियों को आज भी मिशन जम्मू कश्मीर पर भेजा है। बता दें कि आज रेयासी में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी होंगी तो वहीं केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल आज कठुआ में लोगों से संवाद करेंगे। इस दौरान जम्मू-कश्मीर के लोगों को केंद्र सरकार की ओर से चलाई जा रही विकास की योजनाओं खासकर ग्रामीण इलाकों में किए कार्यों के बारे में बताया जाएगा।

कटरा और पंथल का भी दौरा करेंगी स्मृति ईरानी

इनके अलावा केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, अश्विनी चौबे समेत कई अन्य मंत्री भी लोगों से बात करेंगे। रविवार को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी रिसाई के कटरा और पंथल का दौरा करेंगी। जबकि महेंद्रनाथ पांडेय जम्मू के दनसाल, अनुराग ठाकुर जम्मू के नगरोटा, पीयूष गोयल अखनूर, आरके सिंह डोडा के खेलानी जाएंगे।

ये भी देखें:  केजरीवाल को क्यों मिले वोट, ‘मोहल्ला क्लिनिक’ के नाम पर?

स्थानीय पार्टियों ने कहा इस दौरे से कोई लाभ नहीं

जम्मू-कश्मीर में केंद्रीय मंत्रियों के दौरे से माना जा रहा है कि केंद्र सरकार कश्मीर के लोगों से संवाद स्थापित करना चाहती है। वहीं स्थानीय दलों का मानना है कि इस दौरे से कुछ हासिल नहीं होने वाला है। हालांकि बीजेपी का मानना है कि पिछले साल अगस्त में अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद केंद्र शासित प्रदेश में विकास कार्यों को शुरू करने के संबंध में जमीनी स्थिति का आकलन करने के लिए यह यात्रा अहम साबित होगी।

ये भी देखें: बाप रे बाप! इतना मोटा है ये खतरनाक आतंकी, पकड़ने गई पुलिस तो हुआ ये हाल…

जारी रहेगा केंद्रीय मंत्रियों का दौरा

केंद्रीय मंत्री 18 से 24 जनवरी तक जम्मू एवं कश्मीर का दौरा कर लोगों को सरकार की नीतियों, विशेषकर अनुच्छेद 370 रद्द किए जाने के बाद पिछले पांच महीनों में अपनाई गईं नीतियों के बारे में बताएंगे ।38 केंद्रीय मंत्री 18 जनवरी से केंद्र शासित प्रदेश के दोनों हिस्सों के विभिन्न जिलों का दौरा करेंगे।इस दौरान जम्मू में 51 और श्रीनगर में आठ आयोजन होंगे।