यूपी की इन दो आपराधिक घटनाओं की जांच रिपोर्ट विधान परिषद को भेजेगी सपा

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने औरैया में किशोरी से बलात्कार और एक व्यक्ति की हत्या की घटनाओं की पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल द्वारा जांच बाद पेश रिपोर्ट को विधान परिषद की सामाजिक एवं सदभाव समिति को संदर्भित करने की संस्तुति की हैै।

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने औरैया में किशोरी से बलात्कार और एक व्यक्ति की हत्या की घटनाओं की पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल द्वारा जांच बाद पेश रिपोर्ट को विधान परिषद की सामाजिक एवं सदभाव समिति को संदर्भित करने की संस्तुति की हैै।

पार्टी ने पीड़ित परिजनों को न्याय दिलाने के लिए दोनों घटनाओं में प्रशासनिक स्तर पर निष्पक्ष कार्यवाही कराने की मांग की है। सपा अध्यक्ष के निर्देश पर पार्टी के प्रतिनिधिमण्डल द्वारा औरैया में एक किशोरी से बलात्कार तथा राम प्रमोद पाल की हत्या की घटनाओं की जांच की रिपोर्ट सोमवार को पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव के सामने पेश की गयी।

ये भी पढ़ें…बीजेपी ने मायावती को दिया बड़ा झटका, कई बसपा नेताओं ने थामा कमल

सपा प्रतिनिधिमंडल में पूर्व मंत्री रामपाल, विधायक सदर कन्नौज अनिल दोहरे तथा सदस्य विधान परिषद दिलीप सिंह (कल्लू यादव) शामिल थे।

सपा प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि औरैया के चिरूहली गांव की एक 16 वर्षीय नाबालिग किशोरी के साथ बीती तीन सितम्बर को बलात्कार की घटना हुई जिसकी रिपोर्ट एक महीने बाद बीती पांच अक्टूबर को लिखी गई।

जांच कमेटी को बताया गया कि पीड़िता गर्भवती हो गई है। अभियुक्त और पुलिस, पीड़िता और उसके माता पिता पर समझौते का दबाव बना रहे हैं। परिवार को आशंका है कि पीड़िता की हत्या भी हो सकती है। जांच कमेटी के सदस्यों ने बताया कि पीड़िता का परिवार बहुत गरीब है, वे टूटे -फूटे मकान में रह रहे है। कोई अनहोनी घटना भी घट सकती है।

दूसरी जांच रिपोर्ट के बारे में प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि जालौन के मृतक राम प्रमोद पाल का अभियुक्तों से प्राइवेट बसों में सवारी बैठाने को लेकर कमीशन का विवाद घटना का मुख्य कारण था। नामजद हत्यारों का औरैया में संगठित गिरोह है जिनको भाजपा के वरिष्ठ नेताओं का संरक्षण प्राप्त है।

पुलिस वैन नजदीक होने के बावजूद राम प्रमोद पाल को गोली मार दी गई। सिर्फ दो अभियुक्त पकड़े गए, मुख्य अभियुक्त अभी भी फरार हैं। प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि पीड़ित परिवार को धमकी दी जा रही है और पुलिस असहयोग कर रही है।

ये भी पढ़ें…सपा के बाद सुभाषपा को झटका: दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अवधेश सिंह भाजपा में शामिल