Top

भाजपा की बल्ले-बल्ले: तीनों राज्यों में मचाया धमाल, फिर चला मोदी जादू

बिहार में विधानसभा चुनाव के साथ अन्य 11 राज्यों की 58 विधानसभा चुनाव के परिणाम भी अधिकतर भाजपा के पक्ष में जाते दिख रहे हैं। भाजपा को सबसे भारी सफलता मध्यप्रदेश में मिलती दिख रही है।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 10 Nov 2020 2:09 PM GMT

भाजपा की बल्ले-बल्ले: तीनों राज्यों में मचाया धमाल, फिर चला मोदी जादू
X
भाजपा की बल्ले-बल्ले: तीनों राज्यों में मचाया धमाल, फिर चला मोदी जादू
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: बिहार में विधानसभा चुनाव के साथ अन्य 11 राज्यों की 58 विधानसभा चुनाव के परिणाम भी अधिकतर भाजपा के पक्ष में जाते दिख रहे हैं। भाजपा को सबसे भारी सफलता मध्यप्रदेश में मिलती दिख रही है। इसी तरह गुजरात और उत्तर प्रदेश भी उसके लिए फायदेमंद रहे हैं। मध्यप्रदेश में भाजपा ने 28 में से 20 सीट तथा गुजरात में आठ में से सात सीट पर बढत बनाई हुई है। जबकि यूपी में वह सात में से छह सीटे जीत चुकी है।

इन राज्यों की सीटें भी भाजपा के पक्ष में

इसके अलावा मणिपुर की चार सीटों और हरियाणा की एक सीट, छत्तीसगढ़ की एक, झारखंड की दो सीटों, कर्नाटक की दो विधानसभा सीटों के लिए मतगणना चल रही है। इसके अलावा नगालैंड की दो सीटों, तेलंगाना की एक सीट और ओडिशा की दो सीटों के लिए भी वोटों की गिनती हो रही है। मणिपुर को छोड़कर सभी सीटों पर तीन नवम्बर को मतदान हुआ था।

गुजरात की आठ, मणिपुर की चार और हरियाणा-छत्तीसगढ़ की एक एक सीट, झारखंड, ओडिशा, नगालैंड और कर्नाटक की दो दो सीटों के लिए भी मतगणना हो रही है। तेलंगाना की एक सीट पर भी मतगणना हो रही है। मार्च 2020 में कांग्रेस के 22 विधायकों के त्यागपत्र देने के बाद कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई थी।

मध्य प्रदेश में उपचुनाव से पहले

उपचुनाव के पहले तक मध्य प्रदेश की मौजूदा 230 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के 107, कांग्रेस के 87, बसपा के दो, सपा का एक और चार निर्दलीय विधायक हैं। विधानसभा की मौजूदा प्रभावी संख्या 229 के आधार पर बहुमत का आंकड़ा 115 रहता है। ऐसे में भाजपा के लिए 28 में से कम से कम 8 सीटें जीतना जरूरी है। जबकि कांग्रेस के लिए सभी 28 सीटें जीतने की चुनौती थी जो पूरी होती दिख रही है।

ये भी पढ़ें…इस कंपनी की कोरोना वैक्सीन 90 फीसदी सफल, जानिए कब तक आएगी

यूपी में नौगांव सादात, टुंडला, बांगरमऊ, बुलंदशहर, देवरिया, घाटमपुर और मल्हनी सीटों पर उपचुनाव हुआ। जहां मल्हनी को छोडकर भाजपा ने सभी छह सीटों पर कब्जा कर लिया। यह सभी सीटे 2017 में भाजपा के पास ही थी।

गुजरात विधानसभा में भाजपा के पास अभी 103, कांग्रेस के पास 65 और अन्य के पास चार सीटें हैं। जबकि राज्य की आठ विधानसभा सीटों पर चुनाव हो रहा है । कर्नाटक में भाजपा के पास 116 सीटें हैं, जबकि कांग्रेस के पास 67 और जदएस के पास 33 सीटें हैं।

श्रीधर अग्निहोत्री

ये भी पढ़ें…ओली सरकार ने बदला नेपाल का नाम, देश में मचा बड़ा बवाल, अब होगा ये नाम

दोस्तो देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Monika

Monika

Next Story