Top

टीएमसी ने लोकसभा अध्यक्ष से की इस दिग्गज नेता को अयोग्य ठहराने की अपील

टीएमसी के नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने पत्र में लिखा है, ‘‘ उक्त प्रतिवादी (मंडल) से तृणमूल को कोई इस्तीफा नहीं प्राप्त हुआ, उसके बाद भी रैली में शामिल होने का उनका आचरण तृणमूल कांग्रेस के हितों के प्रतिकूल है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 7 Jan 2021 5:54 AM GMT

टीएमसी ने लोकसभा अध्यक्ष से की इस दिग्गज नेता को अयोग्य ठहराने की अपील
X
सांसद सुनील कुमार मंडल ने टीएमसी पर हमला बोला है। उन्होंने तृणमूल के इस कदम को बदले की कार्रवाई बताया है।वहीं मंगलवार को लक्ष्मी रतन शुक्ला ने अपने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कोलकाता: तृणमूल कांग्रेस(टीएमसी) ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर उसके सांसद सुनील कुमार मंडल को अयोग्य ठहराने की अपील की है। सुनील कुमार मंडल दिसंबर में भाजपा में शामिल हो गये थे। जिसको देखते हुए टीएमसी को इस तरह का कदम उठाना पड़ा है।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को भेजे पत्र में टीएमसी के नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने कहा है कि मंडल के खिलाफ दल-बदल कानून के तहत कदम उठाया जाना चाहिए।

क्योंकि उन्होंने ‘अपनी मर्जी से' पार्टी की सदस्यता छोड़ दी और 19 दिसंबर को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की उपस्थिति में भाजपा में शामिल हो गये।

Om Birla लोकसभा स्पीकर ओम बिडला की फोटो(सोशल मीडिया)

अमित शाह अब चेन्नई में भरेंगे हुंकार, इसलिए दौरे पर जा सकते हैं गृहमंत्री

सांसद मंडल ने दी ये सफाई

वहीं बर्धमान पूर्व के सांसद मंडल ने टीएमसी पर हमला बोला है। उन्होंने तृणमूल के इस कदम को बदले की कार्रवाई बताया है।

टीएमसी के नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने पत्र में लिखा है, ‘‘ उक्त प्रतिवादी (मंडल) से तृणमूल को कोई इस्तीफा नहीं प्राप्त हुआ, उसके बाद भी रैली में शामिल होने का उनका आचरण तृणमूल कांग्रेस के हितों के प्रतिकूल है।

यह स्पष्ट है कि उन्होंने पार्टी की सदस्यता छोड़ दी है।'' उन्होंने लिखा, ‘‘मैं आपसे संविधान की दसवीं अनुसूची के तहत मंडल को अयोग्य ठहराने के लिए जरूरी कदम उठाने का अनुरोध करता हूं।''

कमल-रजनी की जोड़ीः एक नया चमत्कार, तमिल राजनीति ले रही करवट

लक्ष्मी रतन शुक्ला ने क्यों दिया इस्तीफा

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस को लगातार झटके लगते जा रहे हैं। इस बीच एक बार फिर से टीएमसी को तगड़ा झटका लगा है। दरअसल, मंगलवार को लक्ष्मी रतन शुक्ला ने अपने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। रतन शुक्ला ममता बनर्जी सरकार में मंत्री और पूर्व क्रिकेटर रह चुके हैं।

बता दें कि लक्ष्मी रतन शुक्ला बंगाल सरकार में खेल मंत्री थे, लेकिन उन्होंने आज यानी मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। हालांकि अभी वो टीएमसी से विधायक हैं।

सूत्रों का कहना है कि लक्ष्मी रतन शुक्ला अब राजनीति को ही छोड़ना चाहते हैं। उन्होंने ना केवल मंत्री पद बल्कि हावड़ा के टीएमसी जिला अध्यक्ष पद से भी इस्तीफा दे दिया है।

Lakshmi लक्ष्मी रत्न शुक्ल फोटो: (सोशल मीडिया)

बीजेपी में हड़कंप: गिरफ्तार किए गए कई नेता, उठे पुलिस की कार्रवाई पर सवाल

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story