आपका लाडला नहीं करना चाहता पढ़ाई तो पैरेंट्स अपनाएं ये टिप्स

ऐसे में पेरेंट्स पर बच्चों की पढ़ाई की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। सभी माता-पिता की चाहत होती है कि उनके बच्चे पढ़-लिखकर भविष्य में नाम कमाएं। लेकिन इस पढ़ाई-लिखाई के साथ ही कुछ नया करने की चाह होना भी जरूरी हैं। ऐसे में पेरेंट्स को बच्चों को पढ़ाते समय कुछ टिप्स आजमाने चाहिए

जयपुर:बच्चों की गर्मियों की छुट्टियां खत्म हो चुकी हैं और स्कूल फिर से शुरू हो चुके हैं। ऐसे में पेरेंट्स पर बच्चों की पढ़ाई की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। सभी माता-पिता की चाहत होती है कि उनके बच्चे पढ़-लिखकर भविष्य में नाम कमाएं। लेकिन इस पढ़ाई-लिखाई के साथ ही कुछ नया करने की चाह होना भी जरूरी हैं। ऐसे में पेरेंट्स को बच्चों को पढ़ाते समय कुछ टिप्स आजमाने चाहिए जिनकी मदद से बच्चों का ज्ञान बढ़े, साथ ही सीखने की चाह भी बढे। जानते हैं इन टिप्स के बारे में।

Happy BirthDay Sourav Ganguly: दादा का वो अंदाज जिसकी दुनिया दीवानी है

*अगर बच्चे जल्दी नहीं समझते है तो कभी भी उनके साथ सख्त न हो, उन्हें प्यार के साथ समझाएं। वहीं कुछ बच्चे ऐसे होते है जो कि हर बात पर सवाल पूछते है, उन्हें उनकी बातों का सही उत्तर देकर शांत करें। अगर आप उन्हें बार-बार मारेंगें या डांटेगें तो वह आपकी बात मानना छोड़ देंगे। उन्हें मार खाने की आदत हो जएगी। अगर आप उसे हर बात पर डांटेगी या मारेंगी तो वह आपसे डर कर रहेगा, खुल कर अपनी बातें शेयर नहीं कर पाएगा।

*पढ़ाई न करने पर कभी भी बच्चे को आज खाना न मिलने, स्टोररुम में बंद करने या स्कूल से नाम कटवाने की धमकी न दें। क्योंकि अगर उन पर इमोशनल हथियार का इस्तेमाल करेंगे तो इसका असर उनके दिल पर पड़ेगा। बल्कि उन्हें प्यार से समझाएं।

मर्द हो तो ये भी जानो! शिलाजीत से भी ज्यादा ताकतवर है इस पौधे की पत्तियां

*मैथ्स साइंस को समझाने के लिए बच्चों को बुक्स के साथ खेल के माध्यम से समझाएं। मैथ्स के फॉर्मूले उन्हें समझाने के लिए अलग-अलग ट्रिक्स का इस्तेमाल करेंगे। इससे न केवल वह जल्दी उन्हें समझेंगे, बल्कि सारी उम्र उन्हें वह याद रहेंगे। मार्केट में आजकल कई 3 डी खिलौने, मॉडल, डायग्राम उपलब्ध है।

*अगर बच्चा छोटा है तो उसे चीजों को समझाने के लिए बुक्स के साथ-साथ फोटोज व वीडियो का इस्तेमाल करें। इससे एक तो उन्हें जल्दी समझ आएगा दूसरा वह पढ़ते हुए बोर नहीं होंगे। फोटो वाली चीजें उनकी दिमाग में ज्यादा अधिक समय के लिए अपनी छाप छोड़ेगीं।

पेट्रोल भरवाते समय न करें लापरवाही, नहीं तो उठान पडे़गा भारी नुकसान

*बच्चों को कभी भी घर पर मत रहने दें। उन्हें हफ्ते या 15 दिन में एक बार ऐसी जगह ले जाएं, जहां पर वह कुछ नया सीख सकें। हो सकें तो उन्हें रोज पार्क में ले जाएं, वहां पर जाकर वह अपनी उम्र के बच्चों से काफी कुछ नया सीखेंगें। उन्हें नई आ रही टेक्नोलॉजी के बारे में जानकारी दें। उन्हें बताएं की इसका इस्तेमाल किस तरह से करना चाहिए।