लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में भी रहता है बेशुमार प्यार, आपने किया है अहसास

आज कल की लाइफस्टाइल में डिस्टेंस रिलेशनशिप बहुत चल रही है। ये सब खासकर इनके लिए ही बना है जो दूर रहते है अपने पार्टनर से। जानते है कैसे इस रिलेशन में आप प्यार की ताजगी को महसूस कर सकते हैं।

जयपुर: आज कल की लाइफस्टाइल में डिस्टेंस रिलेशनशिप बहुत चल रही है। ये सब खासकर इनके लिए ही बना है जो दूर रहते है अपने पार्टनर से। जानते हैं कैसे इस रिलेशन में आप प्यार की ताजगी को महसूस कर सकते हैं।

13OCT की रात मां लक्ष्मी आएंगी आपके द्वार, होगी अमृत वर्षा, इस तरह करें अमृत पान

शायद आपको भी अपने बॉयफ्रेंड से रात में बातें करने की आदत होगी पर लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप(long-Distance Relationship) वाले उसी एक घंटे में एक-दूसरे को पूरा महसूस करते हैं। उनकी बातों में ज़्यादा मोहब्बत, ज़्यादा अपनापन और बहुत ज़्यादा समर्पण होता है। बातें करते हुए सो जाना और फिर सुबह जो जल्दी उठे वो दूसरे के फ़ोन पर एक स्माइली ही ड्रॉप कर दे, कितना सुकून है इस इश्क़ में!क्योंकि लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप वालों के लिए यही सबकुछ हैं।

ये चीज उन्हें जोड़ने को पुल बनाती हैं, इसके बिना उनका हाल क्या होता वो सोच भी नहीं सकते।लगता है जैसे सारी ग़ज़लें, सारी कव्वालियां इनके लिए ही बनी हैं। जो दूर रहकर प्यार निभा सकता है उसका प्यार गहरा होता है और वो प्यार में इतना दीवाना हो जाता है कि अपनी हॉबी में उसे ढूंढना शुरू कर दे। कुछ लोग कविताएं या शायरी लिखने लगते हैं, कुछ डायरी के पन्ने सजाते हैं। कुछ ई-मेल्स करते हैं और कुछ को इंटीरियर डेकोरेशन जैसी आदत भी लग जाती है।

बैग का ये डिजाइन कर रहा है ट्रेंड, BOYS करें इन स्टाइल्स में खुद को अपडेट
ऐसे लोग थोड़े ज़्यादा रोमांटिक होते हैं। क्योंकि जो इतने वक्त बाद मिलेगा वो लड़ेगा कि प्यार करेगा? वो कहते हैं न – तुम्हें देखें कि तुमसे बात करें।  ऐसे लोगों को लगता है कि अगर वो साथ होते तो लड़ाई होती ही नहीं, क्योंकि गले लगाकर सारे शिकवे भुला दिये जाते। जब हर रोज़ मिल पाना संभव नहीं होता तो ऐसे ही याद किया जाता है कि उसे मिले इतने दिन हो गए, उस दिन वो पहली बार दिखी थी, फिर बस इंसान अपने आप कैलेंडर हो जाता है। लड़कियों की वो शिकायत भी दूर हो जाती है कि लड़कों को कुछ याद नहीं रहता।

लंबे फ़ोन कॉल्स ना करे इसके बजाय कम समय के लिए और मीठी बात करे।अपनी बात को स्पष्ट तरीके से रखने की कोशिश जरूर करें। हर रिश्ते की बुनियाद विश्वास पर ही टिकी होती है। अपने पार्टनर पर पूरा भरोसा होना चाहिए। ध्यान रखें कि किसी भी तीसरे की वजह से अपने पार्टनर पर शक न करें।

धर्म नहीं, विज्ञान भी मानता है शरद पूर्णिमा को खास, जानिए इस दिन बने खीर का राज

वैसे जमाना ऑनलाइन का है लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि सारा दिन सिर्फ टेक्स्ट या कॉल पर ही बात करे। कभी-कभी अपने पार्टनर को चिठ्ठी भी लिखनी चाहिए। उसमे अपनी वो बातें बयां करें जिन्हें कह नही पाती।

अपने रिलेशन के बारें में सबसे बात करनी चाहिए। यह आपके पार्टनर को किसी ओर के पास जाने से रोकेगा।
जब भी आपके पास आपके पार्टनर का सुबह से कोई टेक्स्ट या कॉल नहीं आया हो तो घबराने या गुस्सा होने की जरुरत नहीं है। अपने सब्र को कायम रखते हुए आपको उनके टेक्स्ट या कॉल का इंतजार करना चाहिए।